इन तीन लोगों को अपने घर डिनर पर बुलाना चाहते थे झुनझुनवाला, नहीं पूरा हो पाया सपना

मुंबईः देश के दिग्गज कारोबारी राकेश झुनझुनवाला अब नहीं रहे। 14 अगस्त की सुबह छह बजकर 45 मिनट पर मुंबई के ब्रिज कैंडी अस्पताल ने भारत के वॉरेन बफेट समझे जाने वाले राकेश झुनझुनवाला का निधन हो गया। बता दें कि लंबी बीमारी के बाद कुछ दिन पहले इसी अस्पताल से राकेश झुनझुनवाला को छुट्टी मिली थी। राकेश झुनझुवाला का जन्म पांच अगस्त 1960 को हुआ था वे पेशे से एक चार्टर्ड अकाउंटेंट थे। वे रेयर इंटरप्राइजेज नाम की कंपनी चलाते थे जो उनकी और उनकी पत्नी रेखा झुनझुनवाला के पोर्टफोलियाे प्रबंधन का काम देखती है।

वाजपेयी समेत इन दिग्गजों को डिनर पर बुलाना चाहते थे
इसी हफ्ते राकेश झुनझुनवाला के निवेश वाली आकासा एयर ने अपनी हवाई सेवाएं शुरू की हैं। बीते सात अगस्त को ही आकासा एयर के उद्घाटन के मौके पर राकेश झुनझुनवाला व्हील चेयर पर पहुंचे थे। राकेश झुनझुवाला ने एक बार मीडिया से बातचीत में बताया था कि वे ब्रिटेन के पूर्व प्रधानामंत्री विंस्टन चर्चिल, भारत के पूर्व प्रधानामंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और अमेरिका के बहुत बड़े निवेशक जॉर्ज सोरोस को अपने नए घर पर डिनर पर बुलाना चाहते हैं। उन्होंने कहा था कि ये उनका सपना है लेकिन वे जानते हैं कि ये अब कभी पूरा नहीं हो सकता।
‘अलादीन का चिराग’ जैसी थी झुनझुनवाला की इमेज
राकेश झुनझुनवाला को शेयर बाजार में अलादीन का चिराग सरीखा निवेशक माना जाता था। वे शेयर बाजार के कारोबारी होने के साथ-साथ एक चार्टर्ड अकाउंटेंट भी थे। फोर्ब्स पत्रिका के अनुसार संपत्ति के मामले में वे भारत के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में 48वें नंबर पर थे। वे हंगामा मीडिया और अपटेक कंप्यूटर जैसी कंपनियों के चेयरमैन थे। इसके अलावे वे वाइसरॉय होटल्स, कॉनकॉर्ड बायोटेक, प्रोवोग इंडिया और जियोजी फाइनेंशियल सर्विसेज जैसी कंपनियां के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में भी शामिल थे।

कॉलेज के दिनों से ही शेयर बाजार में थी दिलचस्पी
झुनझुनवाला अपने कॉलेज के दिनों से शेयर बाजार में अपना दखल देने लगे थे। उन्होंने इंस्टीच्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंड ऑफ इंडिया दाखिला लिया पर वहां से डिग्री हासिल करने के बाद उन्होंने शेयर बाजार को ही अपने करियर के रूप में चुना।
सिर्फ पांच हजार रुपये की पूंजी से झुनझुनवाला ने शुरू किया था शेयर बाजार का सफर
राकेश झुनझुवाला ने साल 1985 में महज 5000 रुपये की पूंजी के साथ शेयर बाजार में अपने सफर की शुरूआत की। सितंबर 2018 में उनकी पूंजी बढ़कर 11,000 करोड़ रुपये हो गई। शेयर बाजार में झुनझुनवाला को हमेशा एक रिस्क लेने वाला ट्रेडर माना गया। बताया जाता है कि उन्होंने अपने भाई के ग्राहकों से यह कहकर पैसे लिए थे कि वे उन्हें फिक्स्ड डिपॉजिट से अधिक का रिटर्न देंगे और उन्होंने ऐसा करके दिखाया था।  राकेश झुनझुनवाला के परिवार में उनकी पत्नी रेखा झुनझुनवाला, बेटी निरथा और दो बेटे आर्यमन और आर्यवीर हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

यंग बॉयज क्लब में इस बार बनेगा ‘मयूरपंखी नौका’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बड़ाबाजार यंग बॉयज क्लब दुर्गापूजा कमेटी में इस वर्ष ‘मयूरपंखी नौका’ थीम पर पूजा मंडप का निर्माण किया जा रहा है। बड़ाबाजार आगे पढ़ें »

एसएससी ने इंटरव्यू के लिए करीब 1600 नौकरी प्रार्थियों को बुलाया

2016 का इम्तिहान पास करने वाले अभ्यर्थियों की अक्टूबर में होगी पर्सनलिटी टेस्ट सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गापूजा के दौरान नौकरी को लेकर अच्छी खबर आयी है। आगे पढ़ें »

ऊपर