अगर आप भी मानसिक तनाव से हैं परेशान तो, ये खबर आपके लिए….

शेयर करे
कोलकाता : देखा जाए तो ज़्यादातर लोग जिन्हें डिप्रेशन आ घेरता है, वे किसी न किसी पर्सनल प्राब्लम के कारण ही इस रोग के घेरे में आते हैं। डिप्रेशन का रोगी कभी-कभी तो इस कदऱ परेशान हो उठता है कि उसे छोटी से छोटी चीज़ को लेकर गुस्सा आता है। कोफ्त और दूसरों से ईर्ष्या, यहां तक कि उसका खाने-पीने से भी मन उचाट हो उठता है। खाने की तरफ देखने का भी उसका मन नहीं करता। घर में रहने पर उसे अपना कमरा बंद करके सिर्फ सोना ही अच्छा लगता है।ऊपर जिन बातों का जिक्र यहां मैंने किया, वह भी खाने-पीने से कोसों दूर हैं। आइए जानें ऐसे ही कुछ सरल उपाय जिन्हें अपनाने से आपको तनाव के खोल से बाहर निकलने का मौक़ा मिलेगा:-खाने-पीने से संबंधितज़रूरी नहीं कि मानसिक तनाव होने पर खाना छोड़ने से आपके तनाव में कुछ कमी होगी बल्कि इस तरह से तो आप अपने साथ अन्याय कर रहे हैं।
 
क्या खाएं:
● हमेशा खाने को हल्का गर्म कर के खाएं।
● खाने में अनाज की मात्रा ज़्यादा लें और खाने के बाद मिठाई (थोड़ी सी) खाएं।
● डिप्रेशन के रोगी के लिए सभी तेल गुणकारी होते हैं खासकर जैतून का तेल।
● अगर खाना किसी वक्त न खाने का मन कर रहा हो तो मौसमी फल जैसे संतरा, अंगूर या सेब आपके हित में होंगे।
●दूध या दूध से बनी वस्तुएं जैसे क्रीम, दही, चीज़ आदि का सेवन आपके लिए सर्वोत्तम है।
●अच्छे से पकी हुई सब्जियां जैसे शकरकंद, गाजर, फ्तागोभी भी इस अवस्था में फायदेमंद होते हैं।
क्या न खाएं
●इस रोग में कच्ची सब्जिय़ों का सेवन न करें।
●कटे हुए फल जो गली, नुक्कड़ों में मिलते हैं, उसका सेवन कदापि न करें।
●मांसाहारी चीज़ों का सेवन कदापि न करें।
●कुछ समय से फ्रिज में पड़ी हुई सब्जिय़ों को न खाएं।
●डिप्रेशन में आकर कॉफी, चाय, अल्कोहल का सेवन ज़्यादा न करें।
भक्ति करना भी जरूरी है….
बता दें क‌ि व्यायाम या मेडिटेशनडिप्रेशन से एकदम से बाहर निकलना मुश्किल होता है। ऐसे में किसी भक्ति में अपने को लीन करने से, ईश्वर का ध्यान करने से, योगा करने से, नियमित व्यायाम करने से इस अवस्था से धीरे-धीरे बाहर आया जा सकता है। अपने ध्यान को किसी और तरफ करें ऑफिस में कोई परेशानी होने पर या घर में किसी दुखद घटना होने से हमें कभी-कभी डिप्रेशन का शिकार होना पड़ सकता है। किसी भी स्थिति से अपने को उबार पाना वैसे तो मुश्किल काम है पर अगर वक्त के साथ आप अपने को बाहर निकालने में प्रयास करें, तभी उबर पाएंगेकिसी अप्रिय घटना के होने से दु:ख तो आता है लेकिन उस दुख को झेल कर पार पाने वाला ही वाकई में काबिले तारीफ होता है। अपने दुख को भूल कर दूसरों का दुख बांटने वाले व्यक्ति को जीवन में सफलता की प्राप्ति होती है। गीतों को सुनिए, उन्हें गुनगुनाइए, किताबों को अपना दोस्त बनाइए और फिर दुनिया आपको अलग नजर आएगी। सकारात्मक सोच से जीवन को जीना सीखिएज्यादातर डिप्रेशन रोगी निराशावादी यानी नकारात्मक सोच वाले होते हैं। जीवन में सकारात्मक सोच रखने वाले ही सफल हो पाते हैं। अपने काम से कुछ ऐसा करिए कि आपको लोग अलग ही समझें। अपने को दूसरों से हीन नहीं बल्कि श्रेष्ठ समझिए लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप घमंड का शिकार हो जाएं।
Visited 111 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

नई दिल्ली: हर साल 21 जून को इंटरनेशनल योग दिवस मनाते हैं। हमारे ऋषियों-मुनियों द्वारा योग को विकसित किया गया
कोलकाता : मेट्रो रेलवे द्वारा चलाये जा रहे स्पेशल नाइट मेट्रो के समय को 20 मिनट कम कर दिया गया
कोलकाता: पश्चिम बंगाल के न्यू जलपाईगुड़ी के पास 17 जून को हुए ट्रेन हादसे ने देशवासियों को झकझोर कर रख
कोलकाता : अगले दो से तीन घंटों में कोलकाता में हल्की बारिश होने वाली है। शहर के अधिक हिस्सों में
पटना: नीट पेपर लीक मामला पूरे देशभर में छाया हुआ है। बिहार के डिप्टी सीएम विजय सिन्हा ने बड़ा दावा
कोलकाता : मानसून दस्तक देने वाला है। इससे पहले इसे लेकर तैयारियों को पूरा करने का निर्देश शहरी विकास तथा
कोलकाता: मौसम विभाग के पूर्वानुमान पर लोगों का भरोसा खत्म हो गया है। पिछले कुछ दिनों से बारिश का पूर्वानुमान
पटना: नीतीश सरकार को पटना हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है। बिहार में आरक्षण का दायरा बढ़ाए जाने के नीतीश
नोएडा: देश के उत्तरी हिस्सों में भीषण गर्मी पड़ रही है। नोएडा में अलग-अलग जगहों पर बीते मंगलवार को 14
कोलकाता: बंगाल में लोकसभा चुनाव के नतीजे वाले दिन डेबरा में पुलिस कस्टडी में BJP कार्यकर्ता की मौत हुई थी।
कोलकाता: दक्षिण बंगाल के अधिकांश हिस्सों में आज सुबह से ही आसमान में बादल मंडरा रहा है। धूप नहीं होने
नई दिल्ली: NEET परीक्षा को लेकर दायर कई याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान काउंसलिंग रोकने और तत्काल
ऊपर