भारत में आएगी बड़ी मुसीबत!

नई दिल्ली :  दुनिया के मशहूर भविष्यवक्ताओं में शामिल बुल्गारिया के भविष्यवक्ता बाबा वेंगा शामिल हैं। इनमें सबसे पहले बाबा वेंगा का नाम आता है। बाबा वेंगा ने साल 2022  के लिए डराने वाली भविष्यवाणियां की थीं। भविष्यवाणियों के लिए मशहूर बाबा वेंगा की कई भविष्यवाणियां  सच साबित हो चुकी हैं। बाबा वेंगा को बाल्कन क्षेत्र का नास्त्रेदमस कहा जाता है। बाबा वेंगा की साल 2022 के लिए की गई दो भविष्यवाणियां सच साबित हो चुकी हैं। बाबा वेंगा ने सोवियत संघ के विघटन, अमेरिका में आतंकी संगठन अलकायदा के 9/11 हमले समेत कई भविष्यवाणियां की थीं जो सच साबित हुई हैं। बुल्गारिया की दृष्टिहीन बाबा वेंगा दुनिया की उन भविष्यवक्ताओं में से एक हैं जिन पर पूरी दुनिया यकीन करती है। अब बाबा वेंगा की भारत को लेकर की गई भविष्यवाणी लोगों को डरा रही है।
भारत को लेकर डराने वाली भविष्यवाणी

बाबा वेंगा ने भविष्यवाणी की थी कि साल 2022 में दुनिया में तापमान गिरेगा। इसकी वजह से टिड्डियों के प्रकोप में वृद्धि होगी। भोजन की तलाश में टिड्डियां भारत पर हमला करेंगी। इस हमले में फसलों को भारी नुकसान पहुंचेगा। भारत में अकाल की स्थिति उत्पन्न हो जाएगी और देश में भूखमरी पैदा होने की संभावना है। अब देखना है कि बाबा वेंगा की भविष्यवाणी सच साबित होती है या नहीं। हालांकि इससे पहले बाबा वेंगा की कई भविष्यवाणियां सच हुई हैं जिसकी वजह से लोगों के मन में डर समा गया है।
साल 2022 के लिए की थीं ये भविष्यवाणियां

भविष्यवक्ता बाबा वेंगा ने अपनी भविष्यवाणी में कहा था कि साइबेरिया में एक घातक वायरस निकलेगा। उनका कहना था कि अभी तक वायरस जमा हुआ है। भविष्यवाणी के मुताबिक, जलवायु परिवर्तन की वजह से बर्फ पिघलेंगे और यह वायरस फैल जाएगा। उन्होंने बताया था कि इस वायरस के फैलने के बाद दुनिया में हालात बेकाबू हो जाएंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कुर्मियों के आंदोलन वापसी की घोषणा के बावजूद नहीं हटे प्रदर्शनकारी, परिवहन चरमराया

हाइवे जाम करने के साथ ही रेल रोको जारी जिला जाने वाले यात्रियों की परेशानियां बढ़ी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को नवान्न में अधिकारियों के साथ वर्चुअल आगे पढ़ें »

दुर्गापूजा को यूनेस्को से मान्यता दिलाने में केंद्र सरकार की भूमिका : मीनाक्षी लेखी

राज्य छीन रहा है श्रेय सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गापूजा को यूनेस्को से अमूर्त सांस्कृतिक विरासत का दर्जा मिलने के बाद पूरे राज्य में उत्साह का माहौल आगे पढ़ें »

ऊपर