सबसे बड़े जनसम्पर्क अभियान में उतरी तृणमूल कांग्रेस

राज्य में दीदीर सुरक्षा कवच अभियान शुरू
10 करोड़ लोगाें तक पहुंचने का लक्ष्य
आज मुर्शिदाबाद, नदिया, दक्षिण 24 परगना, हुगली, पश्चिम मिदनापुर, पूर्व बर्दवान में कार्यक्रम
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : पंचायत चुनावों से पहले तृणमूल कांग्रेस ने बुधवार को अपना जनसंपर्क अभियान शुरू किया। तृणमूल कांग्रेस ने पहले ही दावा किया है कि दीदीर सुरक्षा कवच अभियान की तरह इतने बड़े तौर किसी अन्य पार्टी इस तरह से जनकल्याण में नहीं उतरी है। उल्लेखनीय है कि इसी साल पंचायत चुनाव हैं तथा अगले साल लोकसभा चुनाव है। ऐसे में तृणमूल कांग्रेस का जनसम्पर्क अभियान बेहद ही अहम माना जा रहा है। बुधवार 11 जनवरी से राज्य में दीदीर सुरक्षा कवज अभियान शुरू हो गया है। इस अभियान का लक्ष्य यह सुनिश्चित करना है कि राज्य सरकार की जनहितैषी योजनाओं का लाभ सभी लोगों को मिले। आज मुर्शिदाबाद, नदिया, दक्षिण 24 परगना, हुगली, पश्चिम मिदनापुर, पूर्व बर्दवान में कार्यक्रम होंगे।
इस अभियान का पहला चरण – ‘अंचल एक दिन/नगर एक दिन’ बुधवार को शुरू हुआ। राज्य स्तरीय पार्टी का नेतृत्व राज्यभर की सभी ग्राम पंचायतों और शहरी स्थानीय निकायों में एक-एक दिन बिताएगा। तृणमूल के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि इस कार्यक्रम की शुरुआत हाे गयी है। अब तक 44 ग्राम पंचायतों को इस कार्यक्रम के दायरे में लाया जा चुका है। शाम तक यह आंकड़े और बढ़ गये। ‘दीदीर सुरक्षा कवच’ पहल के तहत सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के लगभग 3.5 लाख स्वयंसेवी 11 जनवरी से 60 दिनों के दौरान राज्य के लगभग 10 करोड़ लोगों से संपर्क करेंगे। इस दौरान तृणमूल के नेता सांस्कृतिक महत्व के स्थानों का दौरा करेंगे, स्थानीय प्रभावशाली लोगों के साथ सामुदायिक स्तर पर दोपहर का भोजन करेंगे तथा स्थानीय लोगों, पंचायत और नगरपालिका प्रतिनिधियों के साथ बातचीत करेंगे। वे क्षेत्र में रैलियां भी करेंगे। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में अप्रैल-मई में पंचायत चुनाव होने वाले हैं।

Visited 82 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

आईएसपीएल को लेकर उत्साहित हैं बॉलीवुड सितारे, सैफ-अभिषेक ने …

मुंबई : इंडियन स्ट्रीट प्रीमियर लीग (आईएसपीएल) जल्द ही लोगों का मनोरंजन करने के लिए शुरू होने जा रहा है। दर्शकों को इस टेनिस बॉल आगे पढ़ें »

लोकसभा चुनाव से पहले लागू होगा CAA ?

नई दिल्ली: देश में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) जल्द लागू हो सकता है। सूत्रों के अनुसार, लोकसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता जारी होने आगे पढ़ें »

ऊपर