दुर्लभ मामला : 21 दिन की बच्ची के पेट से निकले 8 अविकसित भ्रूण

रामगढ़ : झारखंड के रामगढ़ से हैरान कर देने वाला मामला आया है। यहां 21 दिन की बच्ची के पेट से आठ अविकसित भ्रूण निकाले गए हैं। डॉक्टरों ने बताया भ्रूण निकालने के बाद बच्ची पूरी तरह से स्वस्थ है। मामला रांची के रानी चिल्ड्रेन हॉस्पिटल का है। दरअसल, एक महिला ने 10 अक्टूबर को निजी हॉस्पिटल में बच्ची को जन्म दिया था। बच्ची का सिटी स्कैन करने के बाद डॉक्टरों को पता लगा कि उसके पेट में ट्यूमर है। डॉक्टरों ने उसे बेहतर इलाज के लिए रांची भेज दिया। वहां रानी चिल्ड्रेन हॉस्पिटल में डॉक्टरों की टीम ने बताया कि यह मामला फीटस इन फीटू का है।
ऐसा मामला दुनिया भर में बहुत कम देखने को मिलता है। डॉक्टरों ने 21 दिन की बच्ची के पेट का ऑपरेशन किया, तो डॉक्टरों की टीम हैरान रह गई। बच्ची के पेट में आठ अविकसित भ्रूण मिले। डॉक्टरों का कहना है कि यह रेयर कंडीशन में होता है। ऐसा 10 लाख बच्चों में से किसी एक को होता है। भारत में अब तक ऐसे महज 10 मामले सामने आए हैं।
फिटस इन फीटू कैसे होता है, इसका कारण पता नहीं
फिटस इन फीटू की स्थिति में बच्चे के पेट में ही बच्चा बनने लगता है। डॉक्टरों ने बताया कि जब गर्भ में 1 से ज्यादा बच्चे पल रहे होते हैं, तो भ्रूण के विकास के दौरान सेल्स बच्चे के अंदर चले जाते हैं। वह भ्रूण बच्चे के अंदर बनने लगता है। डॉक्टरों के अनुसार, सेल्फ कैसे अंदर जाता है, इसका कोई पुख्ता कारण नहीं है। मामले में सदर अस्पताल रामगढ़ के चिकित्सा पदाधिकारी मृत्युंजय कुमार सिंह ने बताया, “ऐसा मामला दुनिया भर में कम ही देखने को मिलता हैं। यह पहला मामला है, जब 21 दिन के नवजात के पेट में 8 भ्रूण अविकसित एक साथ मिले हैं। बच्ची को अपने निगरानी में रखकर 21 दिन बाद ऑपरेशन किया गया था। फिलहाल, बच्ची पूरी तरह से स्वस्थ है।”

शेयर करें

मुख्य समाचार

वर्ल्ड कप फुटबॉल को लेकर कर रहे थे सट्टेबाजी, 8 गिरफ्तार

सन्मार्ग संवाददाता विधाननगर : नागेरबाजार थाना की पुलिस ने वर्ल्ड कप फुटबॉल को लेकर सट्टेबाजी करने के आरोप में 8 लोगों को गिरफ्तार किया है। सभी आगे पढ़ें »

हांसखाली में 3 शक्तिशाली टिफिन बम बरामद

नदिया : हांसखाली थाना अंतर्गत कैखाली इलाके में बुधवार की सुबह एक परित्यक्त जगह पर इलाके के लोगों ने 3 टिफिन देखकर बम होने की आगे पढ़ें »

ऊपर