श्रद्धा की हत्या के बाद उसी फ्लैट में दूसरी लड़की लाया था आफताब

नई दिल्लीः दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को महरौली के जंगलों से श्रद्धा वॉकर की बॉडी के 10 टुकड़े बरामद किए हैं। पुलिस के मुताबिक 26 साल की श्रद्धा की हत्या उसके लिव-इन पार्टनर आफताब अमीन पूनावाला ने की थी। उसी की निशानदेही पर शव के टुकड़े मिले हैं। पुलिस आफताब को सुबह करीब 10 बजे महरौली के जंगल लेकर पहुंची है। आफताब ने यहीं बॉडी पार्ट्स फेंके थे। अभी सिर और कुछ दूसरे बॉडी पार्ट की तलाश की जा रही है।

पुलिस ने बताया कि श्रद्धा और आफताब 8 मई को दिल्ली आए थे। 10 दिन बाद यानी 18 मई को आफताब ने श्रद्धा का मर्डर कर दिया। आफताब ने जंगल के करीब फ्लैट लिया था ताकि लाश को ठिकाने लगा सके।

श्रद्धा मर्डर केस के बड़े अपडेट्स…

आफताब ने श्रद्धा का फोन भी फेंक दिया था। पुलिस ने कहा कि लास्ट लोकेशन के जरिए इसे हासिल किया जा सकता है। उस हथियार की तलाश है, जिससे आफताब ने श्रद्धा के टुकड़े किए। पुलिस ने आफताब और श्रद्धा के कॉमन दोस्तों को पूछताछ के लिए बुलाया है।

दिल्ली पुलिस दूसरी बार आफताब को लेकर महरौली के जंगल पहुंची है। पहली बार कब गई थी, इसकी तारीख नहीं बताई गई है। मंगलवार को सर्चिंग के दौरान जो बॉडी पार्ट्स मिले हैं, वो इंसान के लग रहे हैं। फोरेंसिक जांच के जरिए इसकी पुष्टि भी की जाएगी। इन टुकड़ों को डीएनए टेस्ट के लिए भी भेजा जाएगा।

‘आफताब को फांसी दी जाए’
श्रद्धा के पिता विकास वाकर ने कहा, “मुझे ये मामला लव जिहाद का लगता है। मेरी अपील है कि आफताब को फांसी दी जाए। श्रद्धा अपने चाचा के ज्यादा करीब थी पर ज्यादा बातचीत नहीं करती थी। मैं आफताब से कभी संपर्क में नहीं रहा।”

आज भी चौंकाने वाले 4 नए खुलासे…
आफताब-श्रद्धा 8 मई को दिल्ली पहुंचे
आफताब-श्रद्धा मुंबई से दिल्ली 8 मई को आए थे। यहां से पहाड़गंज के होटल और फिर साउथ दिल्ली में रहने लगे।

हत्या से पहले जंगल के पास फ्लैट लिया
साउथ दिल्ली के बाद महरौली के जंगल के पास फ्लैट लिया था। दिल्ली पहुंचने के 10 दिन बाद यानी 18 मई को आफताब ने श्रद्धा का मर्डर कर दिया।

जंगल के पास फ्लैट दिलाने वाला अरेस्ट
मर्डर केस में बद्री नाम के शख्स की एंट्री हुई है। यही वो शख्स है, जिसने आफताब को महरौली इलाके में फ्लैट दिलाया। पुलिस अब इससे पूछताछ कर रही है। इसी फ्लैट से आफताब शव के टुकड़े फेंकने के लिए जंगल जाता था।

सोशल मीडिया पर एक्टिव था, फ्लैट में लड़की बुलाई

पुलिस ने बताया कि आफताब ने श्रद्धा का इंस्टाग्राम अकाउंट जून तक इस्तेमाल किया है ताकि वह यह जाहिर सके कि श्रद्धा जिंदा है। रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि श्रद्धा के मर्डर के बाद आफताब उसी फ्लैट में रहा। शव के टुकड़े ठिकाने लगाने के बाद उसने फ्लैट में लड़की बुलाई। इस दौरान जो टुकड़े बचे थे, उन्हें आलमारी में छिपा दिया। दावा है कि हत्या के एक महीने बाद डेटिंग ऐप के जरिए आफताब ने दूसरी लड़की से संपर्क साधा और उसे फ्लैट में लेकर आया।

आफताब ने कुबूल किया…. यस आई किल्ड हर

पुलिस ने मंगलवार को बताया कि आफताब से कत्ल के बारे में जो भी पूछा जाता है, वह उसके बारे में अंग्रेजी में जवाब देता है। ऐसा नहीं है कि उसे हिंदी नहीं आती, पर वो अंग्रेजी में ज्यादा कम्फर्टेबल है। उसने कुबूल किया- Yes i killed her…

बड़ा सवाल- कत्ल कब… मई में या फिर जुलाई में?

श्रद्धा मर्डर केस में अब सवाल ये है कि आखिर उसका मर्डर कब हुआ? सवाल की वजह दो दावे हैं। पहला दावा पुलिस का है, जो कह रही है कि श्रद्धा का मर्डर मई में हुआ। दूसरा दावा दोस्त लक्ष्मण नडार का है, जो कह रहा है कि जुलाई में उसकी श्रद्धा से बातचीत हुई थी।लक्ष्मण ने दावा सोमवार को एक इंटरव्यू में किया। उसने बताया कि जुलाई में श्रद्धा ने वॉट्सऐप के जरिए उससे कॉन्टैक्ट भी किया था। श्रद्धा काफी डरी हुई थी। तब उसने कहा था कि मुझे बचा लो, वरना आफताब मार डालेगा।

गुनाह छिपाने के लिए देखें क्राइम शो, गूगल सर्च भी की

आफताब ने वारदात से पहले अमेरिकी क्राइम शो डेक्स्टर समेत कई क्राइम मूवीज और शोज देखे थे। सबूत मिटाने के लिए गूगल पर खून साफ करने का तरीका भी ढूंढा था। इसके बाद ही उसने श्रद्धा का मर्डर किया और आरी से काटकर उसकी बॉडी के 35 टुकड़े किए। 18 दिन तक रोज रात 2 बजे जंगल में श्रद्धा के टुकड़े फेंके।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

स्वास्थ्य साथी के बावजूद अस्पताल ने वसूले रुपये, लगाया गया जुर्माना

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : स्वास्थ्य साथी कार्ड दिखाकर अस्पताल में भर्ती होने के बावजूद मरीज के परिजनों से नकद रुपये लिये जाने का आरोप न्यूटाउन के आगे पढ़ें »

प्रेमिका की हत्या कर शव को दफनाया

खड़गपुर : पश्चिम मिदनापुर जिले के खड़गपुर लोकल थाना इलाके के एक गांव में रहने वाली एक महिला को मार कर दफना दिए जाने के आगे पढ़ें »

ऊपर