1.40 करोड़ कैश जब्ती के मामले में 15 को जीत्ती को ईडी ने दिल्ली बुलाया

कैश जब्ती के मामले से मेरा कोई लेना-देना नहीं : जीत्ती भाई
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : 1.40 करोड़ कैश जब्ती के मामले में पूछताछ के लिए ईडी की टीम ने मनजीत सिंह ग्रेवाल उर्फ जीत्ती भाई को दिल्ली स्थित अपने हेड क्वार्टर्स तलब किया है। उन्हें 15 फरवरी को तलब किया गया है। सूत्रों की माने तो उनसे इस कैश जब्ती के मामले में पूछताछ की जाएगी। वहीं, मनजीत सिंह ग्रेवाल उर्फ जीत्ती भाई का कहना है कि इस बारे में उन्हें कुछ भी पता नहीं है। उन्होंने कहा कि जहां से रुपये मिले, वह न मेरा घर है ना मेरा कार्यालय है। फिर भी मेरा नाम इससे जोड़ दिया गया। मीडिया में आ रही खबर के मुताबिक उक्त सम्पत्ति को 10 कट्ठा बताया गया है और इसकी कीमत 12 करोड़ बतायी गयी है। यह सरासर गलत है। उन्होंने कहा कि यह संपत्ति सेकंड प्लॉट है जिसमें ​कि काफी काम करना होगा। यह संपत्ति कुल साढ़े 4 कट्ठा जमीन पर है जिसकी कीमत साढ़े 4 करोड़ लगायी गई थी। इसमें उन्हें लेकर 4 पार्टनर है जिन सबने मिलकर 1.60 करोड़ रुपये की राशि एकत्र कर इसका ड्राफ्ट बनाकर दिया गया था तथा आईसीआईसीआई बैंक से 2.45 करोड़ लोन लिया गया था।
प्लॉट के ब्रोकर थे गजराज के विक्रम सिकरिया
उन्होंने कहा कि यह सच है कि सालासर गेस्ट हाउस खरीदने के लिए गजराज ग्रुप के विक्रम सिकरिया से संपर्क किया था। इस संपत्ति के लिए वे ब्रोकर का काम कर रहे थे। रजिस्ट्री वाले दिन इस जमीन की रजिस्ट्री के लिए 28 लाख रजिस्ट्री फी भी दी गई थी। इसमें ईडी की टीम का गजराज के कार्यालय पहुंचना और वहां से कैश की बरामदगी के बारे में उन्हें कुछ भी पता नहीं है। उनका नाम सरासर गलत तरीके से इन सबसे जोड़ा जा रहा है। दीदी का संत कुटिया गुरुद्वारा का एक फोटो वायरल किया जा रहा है, जिसका किसी भी मामले से कोई लेना-देना नहीं है। यह एक धार्मिक आस्था का मामला है, मैं व्यवसाय के साथ-साथ समाज सेवा में भी जुड़ा हुआ हूं। ऐसे में मेरी छवि धूमिल करने की साजिश रची जा रही है। उल्लेखनीय है कि उल्लेखनीय है कि बालीगंज स्थित गजराज ग्रुप के कार्यालय में छापामारी के दौरान 1.40 करोड़ कैश बरामद किये गये थे। इस मामले में गजराज के मालिक से ईडी ने घंटों पूछताछ भी की है। अब तक की छानबीन में यह सामने आया है कि कोयला तस्करी से हासिल हुए काले धन को मनजीत सिंह ग्रेवाल उर्फ जीत्ती भाई के पास भी पहुंचाया गया था। इस मामले में और अधिक जानकारी के लिए उन्हें तलब किया गया है।

Visited 92 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

वर्क आउट के दौरान नो लाउड म्यूजिक

एक्सरसाइज करते समय ज्यादातर यंगस्टर्स लाउड म्यूजिक सुनना पसंद करते हैं। पार्क हो या जिम सेंटर, दोनों जगह पर म्यूजिक के साथ वर्क आउट एंज्वॉय आगे पढ़ें »

सोमवार को विधि-विधान से करें भगवान शिव की पूजा, 4 बातों का रखे …

कोलकाता : हिंदू धर्म में भगवान शिव की पूजा का बहुत महत्व है। शास्त्रों के अनुसार, भगवान शिव जितने भोले हैं, उतने ही गुस्‍से वाले आगे पढ़ें »

ऊपर