शुक्रवार को करें गुड़हल के फूल के ये उपाय, हो सकते हैं मालामाल

शेयर करे

कोलकाता : हिंदू धर्म में कई पेड़ पौधों और फूलों का पूजन में विशेष महत्व बताया गया है। ऐसी मान्यता है कि यदि आप पूजन के दौरान देवी-देवताओं को फूलों से सुसज्जित करती हैं, तो आपके जीवन में सदैव खुशहाली बनी रहती है। ऐसे ही फूलों में से एक है गुड़हल का फूल। इस फूल का इस्तेमाल विशेष रूप से पूजा के दौरान किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि खासतौर पर देवी पूजन में इस फूल को अर्पित करने से घर में सदैव खुशहाली बनी रहती है।
इस फूल को वास्तु और ज्योतिष के हिसाब से भी घर के लिए बहुत शुभ माना जाता है और इसके कुछ विशेष उपाय आपके घर में सुख समृद्धि के द्वार खोल सकते हैं। मुख्य रूप से यदि आप शुक्रवार के दिन गुड़हल के फूल के कुछ अचूक उपाय आजमाएंगी तो आपके घर में कभी भी धन की कमी नहीं होगी। आ
सूर्य देव को जल चढ़ाते हुए गुड़हल का फूल अर्पित करें
ऐसा माना जाता है कि यदि आप नियमित रूप से सूर्य को जल चढ़ाती हैं तो आपके बिगड़े काम बनने लगते हैं। वहीं यदि आप शुक्रवार के दिन सूर्य को जल चढ़ाते समय उसमें एक चुटकी कुमकुम के साथ एक लाल गुड़हल का फूल भी डालेंगी तो आपके घर की आर्थिक स्थिति अच्छी बनी रहेगी। अगर आप हर शुक्रवार सूर्य को जल देते समय गुड़हल का फूल डालकर अर्पित करेंगी तो आपके सामने आपका कोई भी शत्रु टिक नहीं पाएगा। वहीं आपके जीवन में सदैव सफलता मिलेगी।
माता दुर्गा को अर्पित करें लाल गुड़हल
पूजा पाठ में हम पुष्प ज़रूर अर्पित करते हैं। लेकिन यदि आप माता दुर्गा को लाल गुड़हल का फूल अर्पित करेंगी तो ये आपके जीवन में चमत्कारी परिणाम दे सकता है। लाल गुड़हल के 5 फूल शुक्रवार के दिन भगवान गणेश और माता दुर्गा को अर्पित करें और इनमें से 1 फूल घर की तिजोरी में रख लें। इस उपाय से कभी भी आपको धन की कमी नहीं होगी। गुड़हल के फूल को हर शुक्रवार बदलते रहें।
माता लक्ष्मी को अर्पित करें गुड़हल का फूल
ऐसी मान्यता है कि यदि 11 शुक्रवार तक आप माता लक्ष्मी को एक लाल गुड़हल का फूलअर्पित करेंगी तो आपके विवाह में आने वाली सभी अड़चनें दूर हो जाएंगी। इसके साथ ही यदि आप विवाहित हैं तो इस उपाय से आपके वैवाहिक जीवन में सदैव खुशहाली बनी रहेगी और आपसी झगड़ों से बची रहेंगी। इसके साथ यदि आप माता लक्ष्मी को गुड़हल के 2 फूल शुक्रवार के दिन चढ़ाती हैं और माता लक्ष्मी को खीर का भोग लगाती हैं तो आपके जीवन में समृद्धि बनी रहेगी।
वैभव लक्ष्मी को अर्पित करें गुड़हल का फूल
शुक्रवार का दिन मुख्य रूप से वैभव लक्ष्मी माता (वैभव लक्ष्मी पूजा विधि)को समर्पित होता है। ऐसा माना जाता है कि यदि आप इस दिन वैभव लक्ष्मी पूजन में गुड़हल का लाल फूल अर्पित करती हैं और मनोकामनाओं की पूर्ति की प्रार्थना करती हैं तो आपके जीवन में धन की वृद्धि होती है। यही नहीं इस उपाय से आपकी अच्छी नौकरी के योग भी बनते हैं और रुका हुआ धन वापस मिलता है।
गुड़हल के फूल के अन्य उपाय
गुड़हल के लाल फूल से धन संपदा तो बढ़ती ही है और ग्रहो की पीड़ा से मुक्ति भी मिलती है। अगर आप सूर्य देव की उपासना में नियमित गुड़हल का फूल शामिल करती हैं तो ये आपके मन मस्तिष्क को ऊर्जावान बनाए रखता है। इस उपाय से आपके शत्रु और विरोधी आपका कुछ नहीं बिगाड़ सकते हैं और आपको निरोगी काया मिल सकती है।

Visited 807 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

कोलकाता : देवों के देव शिव शंभू, शिव शंकर साल का सबसे प्रिय माह श्रावण मास माना जाता है। इस
तीसरे सेमेस्टर की परीक्षा सितंबर और चौथे सेमेस्टर की परीक्षा मार्च में कोलकाता : 12 साल बाद उच्च माध्यमिक के
हावड़ा : तीन युवकों पर शनिवार को 12 साल की बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म कर उसे दफनाने का आरोप लगा
कल मुहर्रम पर महानगर में सुरक्षा चाक-चौबंद, ट्रैफिक होगी प्रभावित करीब 4 हजार पुलिस कर्मी रहेंगे तैनात कल शहर में
कोलकाता : 6 दोस्त मंदारमणि की यात्रा पर गए थे। सभी लोग समुद्र में स्नान करने गये। तभी 2 लोगों
रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया हुई शुरू कोलकाता : माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कक्षा 9 की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू करने जा रहा है। इसे
एक नजर प्याज : 50 रु. प्रति किलो टमाटर : 100 रु. प्रति किलो कोलकाता : पश्चिम बंगाल टास्क फोर्स
संजय मुखर्जी को बनाया गया डीजी दमकल कोलकाता : लोकसभा चुनाव और विधानसभा के उपचुनाव खत्म होते ही एक बार
कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश के बाद ईबी व टास्क फोर्स द्वारा मिलकर महानगर के विभिन्न बाजारों में
कोलकाता : कोलकाता में सोमवार को भगवान जगन्नाथ के 53वां उल्टा रथयात्रा का आयोजन किया गया। इस्कॉन कोलकाता के सौजन्य
कोलकाता : महानगर व आसपास क्षेत्रों के 19 अहम ब्रिज और फ्लाईओवर की मरम्मत की जायेगी। केएमडीए ने इसकी तालिका
कोलकाता : राज्य के मोटर ट्रेनिंग स्कूलों पर परिवहन विभाग द्वारा नकेल कसी जाने के लिये कई अहम कदम उठाये
ऊपर