वंदे भारत : एनआईए या सीआईडी जांच को लेकर भाजपा नेताओं में अलग मत

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : वंदे भारत एक्सप्रेस की शुरुआत पश्चिम बंगाल में होने के बाद अब तक 2 बार इस पर पथराव की घटना घट चुकी​ है। हालांकि इस घटना की जांच का जिम्मा एनआईए को दिया जाये या फिर सीआईडी को, इसे लेकर भाजपा नेताओं में ही अलग मत है। वंदे भारत एक्सप्रेस पर तोड़फोड़ मामले में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी एनआईए जांच की मांग कर चुके हैं जबकि केंद्रीय मंत्री डॉ. सुभाष सरकार को राज्य की जांचकारी संस्था सीआईडी पर भरोसा है। वंदे भारत पर पहले हमले के बाद प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने दावा किया था कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के प्रति जय श्री राम का नारा लगाने का बदला लेने के लिए इस तरह का हमला किया गया। भाजपा के एक वर्ग का दावा है कि केंद्रीय जांचकारी संस्था ही इस घटना में निष्पक्ष जांच कर सकेगी, लेकिन केंद्रीय मंत्री डॉ. सुभाष सरकार के गले से विपरीत स्वर सुना गया। इस घटना में उन्होंने सीआईडी जांच की मांग की और कहा कि राज्य की जांचकारी एजेंसी पर उन्हें भरोसा है। इसे लेकर सीएम से आवश्यक कदम उठाने का आश्वासन उन्होंने जताया। इसे लेकर तृणमूल विधायक बाबुल सुप्रियो ने कहा, ‘भाजपा में दो-एक शिक्षित लोग हैं। इस कारण ही वह ठीकठाक बात कहते हैं। हालांकि अशिक्षितों की भीड़ में शिक्षित खो गये हैं। इससे पहले भी भाजपा में कई मुद्दों को लेकर अलग मत सुना गया है।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

वंदे भारत एक्सप्रेस पर हमला को लेकर पीआईएल

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : वंदे भारत एक्सप्रेस पर हुए हमले को लेकर एक पीआईएल दायर की गई है। एडवोकेट रमाप्रसाद सरकार ने यह पीआईएल दायर की आगे पढ़ें »

प्लेटफॉर्म छोड़ 500 मीटर दूर जाकर रुकी लोकल ट्रेन

विधाननगर रेलवे स्टेशन की घटना सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार की सुबह विधाननगर रेलवे स्टेशन पर लोकल ट्रेन प्लेटफॉर्म से 500 मीटर दूर जाकर रुकी। अचानक इस आगे पढ़ें »

ऊपर