दिसम्बर को लेकर भाजपा नेताओं में ही एक मत नहीं

 सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : एक तरफ प्रदेश भाजपा के कुछ नेता दिसम्बर में राज्य में सरकार गिरने का दावा कर रहे हैं तो दूसरी ओर, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने अपने पहले वाले बयान से यू टर्न ले लिया है। एक तरह से दिसम्बर महीना जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, उसी प्रकार इसे लेकर प्रदेश भाजपा नेताओं के अलग-अलग मत सामने आ रहे हैं। इधर, मंगलवार को भाजपा विधायक अग्निमित्रा पॉल ने बड़ा बयान दिया। उन्होंने दिसम्बर महीने में सरकार के गिरने का दावा करते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल में अगले महीने यानी दिसंबर में बड़ा खेला होगा। पॉल ने दावा किया है कि टीएमसी के 30 से ज्यादा विधायक बीजेपी के संपर्क में हैं। उन्होंने कहा कि दिसंबर के बाद राज्य में तृणमूल कांग्रेस की सरकार नहीं चल पाएगी। बता दें कि अग्निमित्रा पॉल ने ऐसे समय में यह दावा किया जब नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी काफी दिनों से यह दावा करते आ रहे हैं कि दिसंबर में टीएमसी की सरकार नहीं रहेगी। इधर, अग्निमित्रा पॉल ने कहा, ‘टीएमसी विधायक जानते हैं कि दिसंबर के बाद उनकी सरकार लंबे समय तक नहीं चलेगी, ऐसे में उनका अस्तित्व दांव पर है।’ अग्निमित्रा ने कहा, ‘मैं एक साधारण नेता हूं। हमारे शीर्ष नेतृत्व और विपक्ष के नेता कहते हैं कि जिस तरह से राज्य चल रहा है, सरकार डीए नहीं दे पा रही है, भुगतान करने में असमर्थ है, नौकरी नहीं मिल रही है, यह हमारे शीर्ष नेतृत्व और विपक्षी नेता अपने राजनीतिक अनुभव से कह रहे हैं। हम जो सुन रहे हैं, उससे दिसंबर में कुछ हो सकता है।’
सुकांत ने कहा, विधायकों से मिठुन का व्यक्तिगत संपर्क
सुकांत मजूमदार ने भी पहले दिसम्बर महीने में सरकार गिरने की बात कही थी, लेकिन अब उन्होंने यू टर्न ले लिया है। मंगलवार को विधानसभा के सामने सुकांत मजूमदार ने कहा, ‘21 तृणमूल विधायकों से मिठुन का व्यक्तिगत संपर्क हो सकता है, लेकिन भाजपा का कोई संपर्क नहीं है। भाजपा किसी भी विधायक को तोड़कर या सरकार को गिराकर सत्ता में काबिज होना नहीं चाहती है। जनता के वोटों के साथ ही हम पश्चिम बंगाल में सरकार बनायेंगे।’
यहां उल्लेखनीय है कि सबसे पहले विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने यह दावा किया था कि दिसम्बर महीने में सरकार गिर जायेगी। हालांकि वह अब भी अपने दावे पर कायम हैं। गत सोमवार को भी शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि महाराष्ट्र के बाद झारखण्ड और उसके बाद पश्चिम बंगाल में भी सरकार को जाना होगा। शुभेंदु अधिकारी ने दावा किया था कि दिसंबर के बाद राज्य में तृणमूल कांग्रेस सरकार का अस्तित्व नहीं रहेगा। उन्होंने कहा था, ‘देखते रहिये, यह सरकार पश्चिम बंगाल में सत्ता में नहीं रहेगी।’ गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों में अधिकारी ने बार-बार दावा किया है कि विपक्षी पार्टियों की शासित राज्यों झारखंड, राजस्थान और पश्चिम बंगाल में महाराष्ट्र जैसी स्थिति होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पहले इलाज, फिर होगी कागजी प्रकिया – ममता

कोलकाता : एसएसकेएम अस्पताल के ट्राॅमा केयर सेंटर के इंतजाम पर सीएम ममता बनर्जी ने असंतोष जताया है और साफ निर्देेश दिया है कि पहले आगे पढ़ें »

चंदन की तस्करी : हावड़ा से मुख्य अभियुक्त समेत 4 गिरफ्तार

सलकिया स्कूल रोड के एक गोदाम से मिली चोरी हुई 1.80 क्विंटल चंदन की लकड़ी सन्मार्ग संवाददाता हावड़ा : पुरुलिया जिले की बाघमुंडी पुलिस ने चंदन की आगे पढ़ें »

ऊपर