पार्थ चटर्जी को जेल में आवाज देते रह गये मानिक, पार्थ ने मुंह फेरा

 कोलकाता : बहुचर्चित शिक्षक नियुक्ति भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार प्राथमिक शिक्षा परिषद के पूर्व अध्यक्ष और तृणमूल कांग्रेस के विधायक मानिक भट्टाचार्य भी फिलहाल जेल हिरासत में हैं। वे उसी जेल में हैं जहां पार्थ चटर्जी को रखा गया है। इस दौरान जेल ले जाते वक्त मानिक को पार्थ के निकट सेल में ले जाया गया। इस दौरान मानिक ने पार्थ को आवाज लगायी, इस पर पार्थ ने उसे अनसुना कर दिया और बात नहीं की। इस मामले में पहले गिरफ्तार किए गए तत्कालीन शिक्षा मंत्री पार्थ और मानिक दोनों ही प्रेसिडेंसी सेंट्रल जेल में बंद हैं। मंगलवार को ही कोर्ट के आदेश के बाद मानिक को जेल में लाया गया है। जेल प्रबंधन के सूत्रों ने बताया है कि पार्थ चटर्जी के ठीक बगल में मानिक भट्टाचार्य का भी सेल है। जेल में भट्टाचार्य ने पार्थ चटर्जी से बात करने की कोशिश कई बार की। उन्होंने कई बार आवाज दी लेकिन पार्थ ने उनसे कोई बात नहीं की। पार्थ और उनकी सहयोगी अर्पिता इस मामले में 100 से अधिक दिनों से जेल में बंद हैं जबकि मानिक को गत मंगलवार को जेल हिरासत में लाया गया।
पार्थ चटर्जी और मानिक के व्हाट्सऐप ने खोले थे कई राज
ईडी सूत्रों के मुताबिक जब पार्थ चटर्जी के यहां रेड मारी गयी थी, उस दौरान उनके दोनों फोन जब्त कर लिये गये थे। इसके बाद जब पार्थ का व्हाट्सऐप चैट देखा गया तो पाया गया कि मानिक की रिश्वत लेने में संलिप्तता थी। मानिक भट्टाचार्य के बारे में ईडी की टीम का कहना है कि उनकी करोड़ों की संपत्ति में एसएससी भ्रष्टाचार से उगाहे गये रुपये भी शामिल हैं। इस मामले मेें अभी छानबीन जारी है। ईडी सूत्रों के मुताबिक मानिक ने अपनी पत्नी और बेटे के नाम पर भी करोड़ों की संपत्ति अर्जित की है। इस मामले में जल्द कुछ और अभियुक्तों को पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा। वहीं नयी जानकारी मिलने पर ईडी की टीम इनसे जेल में जाकर पूछताछ कर सकती है। उल्लेखनीय है कि पार्थ चटर्जी की सहयोगी अर्पिता के आवास से दो बार की गयी छापामारी में 50 करोड़ से अधिक की राशि मिली थी। यही नहीं हाल में मारी गयी रेड में काफी नयी जानकारी भी ईडी की टीम को हासिल हुई है।
और कई अभियुक्त हैं केन्द्रीय एजेंसियों के रडार पर
सूत्रों की माने तो ईडी और सीबीआई के रडार पर कई और अभियुक्त शामिल हैं। यही नहीं आने वाले दिनों में कुछ की गिरफ्तारी भी हो सकती है। उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल प्राथमिक शिक्षक भर्ती घोटाले में ईडी की टीम ने कोलकाता व उत्तर 24 परगना सहित राज्य के 6 स्थानों पर एक साथ रेड मारी थी। इन स्थानों में महिषबाथान , बारासात, कॉलेज स्ट्रीट, अम्हर्स स्ट्रीट व राजाबाजार के आवासन से एसएससी से संबंधित काफी दस्तावेज बरामद किये गये थे। इनमें मानिक के करीबी तापस मंडल और विभाष अधिकारी का ठिकाना था। रेड इनके कार्यालय, आवास तथा कोचिंग सेंटर पर मारी गयी थी। इनमें से तापस मंडल से पूछताछ हो चुकी है। अभी भी कुछ अभियुक्त फरार हैं, जिनका पता ईडी की टीम लगा रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पार्टी कार्यकर्ताओं का पीएम मोदी ने किया अभिवादन, दे​खिए वीडियो

नई दिल्ली : बीजेपी मुख्यालय में गुजरात की प्रचंड जीत का जश्न मनाया जा रहा है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी वहां पहुंच गए आगे पढ़ें »

रिकॉर्ड जीत पर बोले पीएम मोदी- थैंक्यू गुजरात

नई दिल्ली : गुजरात में रिकॉर्ड जीत के बाद जनता को धन्यवाद देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा-थैंक्यू गुजरात। अभूतपूर्व चुनाव परिणामों को देखकर आगे पढ़ें »

ऊपर