2023 की मसौदा मतदाता सूची प्रकाशित, कम हुए 12,000 से अधिक मतदाता

 अंतिम सूची का प्रकाशन 5 जनवरी को कुल मतदाताओं की संख्या : 7,42,88,233 पिछली बार मतदाता थे : 7,00,43,810 इस बार कम हुए मतदाता : 12,577
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : वर्ष 2023 के लिए राज्य की मसौदा मतदाता सूची का प्रकाशन बुधवार काे भारत निर्वाचन आयोग की ओर से किया गया। हालांकि आश्चर्यजनक तौर पर इस मसौदा मतदाता सूची में मतदाताओं की संख्या कम हो गयी है। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा प्रकाशित की गयी सूची के अनुसार, वर्ष 2023 में राज्य में कुल मतदाताओं की संख्या 7 करोड़ 42 लाख 88 हजार 233 है। वहीं वर्ष 2022 में यह संख्या 7 करोड़ 43 लाख 810 थी यानी एक वर्ष में मतदाताओं की संख्या बढ़ने के बजाय 12,577 मतदाता कम हो गये हैं। चुनाव आयोग के नियमों के अनुसार, हर साल ही मतदाता सूची संशोधित की जाती है। हालांकि इस प्रकार मतदाताओं का कम हो जाना ना के बराबर ही देखने को मिलता है।
इस बार इतने नये मतदाता
चुनाव आयोग द्वारा दिये गये आंकड़ाें के अनुसार, राज्य में नये मतदाताओं के तौर पर 2,66,857 लोगों ने नाम रजिस्टर्ड करवाया है। वहीं मतदाता सूची से 2,79,434 लोगों के नाम हटाये गये हैं। इनमें से काफी लोगों की मौत हो चुकी है। आयोग के सूत्रों ने बताया कि मतदाता सूची खंगालने के बाद काफी अस्तित्वहीन मतदाताओं के नाम भी मिले हैं, उनके नाम सूची से हटाये गये हैं। इस कारण ही मतदाताओं की संख्या कम हुई है।
सर्वदलीय बैठक में उठी थी फर्जी मतदाताओं की बात
पंचायत चुनाव को लेकर गत सप्ताह ही मुख्य चुनाव अधिकारी आरिज आफताब ने सर्वदलीय बैठक की थी। इसमें फर्जी मतदाताओं का मुद्दा विपक्षी पार्टियों ने उठाया था। विपक्षी पार्टियों का मानना है कि मसौदा सूची प्रकाशित होेने के बाद उनके आरोपों और दावों को मान्यता मिली है। वहीं सत्ताधारी पार्टी तृणमूल का मानना है कि मतदाताओं की संख्या कम होने के पीछे भाजपा की साजिश है। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कृष्णानगर में कहा कि भाजपा ने कई स्थानों पर 30% मतदाताओं के नाम मतदाता सूची से हटा दिये हैं। आप लोगों को देखना होगा कि आपका नाम मतदाता सूची में है या नहीं। मतदाता सूची में नाम नहीं रहने पर किसी तरह की सुविधा आपको नहीं मिल सकेगी। राशन कार्ड से नाम हटा दिया जायेगा, मतदाता सूची से नाम कट जायेगा। ​इस मुद्दे पर भाजपा के वरिष्ठ नेता शिशिर बाजाेरिया ने कहा कि पुराने समय से यह चला आ रहा है कि चुनाव के समय में मरे हुए लोग भी वोट दे देते हैं। किसी भी चुनाव के लिए मतदाता सूची ही उसकी बुनियाद होती है और यह पूरी तरह साफ-सुथरी होनी चाहिये।
राज्य में बढ़ी बूथों की संख्या
मतदाताओं की संख्या भले ही कम हुई है, लेकिन राज्य में बूथों की संख्या इस बार बढ़ी है। इससे पहले राज्य में कुल 79,402 बूथ थे जो इस बार बढ़कर 79,501 हो गये हैं। यहां उल्लेखनीय है कि 2022 में प्रकाशित मसौदा मतदाता सूची में राज्य में कुल 7,32,33,267 मतदाताओं के नाम पंजीकृत हुए थे, लेकिन अंतिम सूची में यह बढ़कर 7,00,43,810 पर पहुंचा था।
समस्या होने पर कर सकते हैं शिकायत
इधर, चुनाव आयोग की ओर से कहा गया है कि मसौदा मतदाता सूची को लेकर किसी प्रकार की समस्या रहने पर आयोग के पास शिकायत कर सकते हैं। आगामी 4 दिसम्बर तक शिकायत लिये जायेंगे। प्रति शनिवार व रविवार को राज्य में कुल 8 विशेष शिविरों का आयोजन चुनाव आयोग द्वारा किया जायेगा। इन शिविरों में शिकायत दर्ज करा सकते हैं। इसके अलावा 1950 टोल फ्री नंबर पर फोन कर भी शिकायत कर सकते हैं। अंतिम मतदाता सूची का प्रकाशन 5 जनवरी 2023 को होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

13.63 करोड़ की ठगी का आरोप, उद्योगपति गिरफ्तार  

- झारखंड के चास थाना की पुलिस ने अभियुक्त को बांकुड़ा से किया गिरफ्तार - पुरुलिया जिला में अभियुक्त का है इस्पात कारखाना - फोटो बांकुड़ा : झारखंड आगे पढ़ें »

बारानगर में नाले से व्यक्ति का शव बरामद

बारानगर : बारानगर थाना अंतर्गत लेबू बागान स्थित एक नाले से रविवार की सुबह व्यक्ति का शव बरामद किया गया। सुबह मॉर्निंग वॉक करने निकले आगे पढ़ें »

ऊपर