फ्लाइट में पेशाब केस-एअर इंडिया पर 30 लाख जुर्माना

नई दिल्लीः एअर इंडिया की फ्लाइट में हुए पेशाब कांड में डीजीसीए ने एयरलाइंस पर 30 लाख का जुर्माना लगाया है। डीजीसीए ने पायलट का लाइसेंस 3 महीने के लिए सस्पेंड कर दिया है। इस बीच आरोपी शंकर मिश्रा के वकील ने कहा कि उनके मुअक्किल पर लगाया गया 4 महीने का बैन गलत है। दरअसल, इस मामले की जांच के लिए एअर इंडिया ने एक कमेटी बनाई थी, जिसने शंकर के एयरलाइंस में ट्रैवल करने पर 4 महीने के लिए बैन लगा दिया था। आरोपी शंकर मिश्रा के वकील अक्षत बाजपेई ने एयरलाइंस के इस फैसले पर नाराजगी जताई है। अक्षत ने कहा कि उनके मुअक्किल शंकर कमेटी के फैसले से असहमत है। हम इसके खिलाफ एक्शन लेंगे। जांच कमेटी ने गलती से मान लिया कि बिजनेस क्लास में सीट 9बी थी, जबकि क्राफ्ट के बिजनेस क्लास में कोई सीट 9बी ही नहीं है। फ्लाइट में सिर्फ 9ए और 9सी सीट हैं। हो सकता है कि समिति ने उस सीट की कल्पना की हो और ये मान लिया हो कि हमारे मुअक्किल ने वहां पेशाब की।

शेयर करें

मुख्य समाचार

इन 5 मौकों पर घर में कभी नहीं बनानी चाहिए रोटी, टूट पड़ता है दुखों का पहाड़

कोलकाता : आपने एकादशी पर अक्षत यानी चावल न बनाने के शास्त्रीय नियमों के बारे में तो सुना ही होगा। लेकिन क्या आपको पता है आगे पढ़ें »

एसएससी मामले में कुंतल अगर दरिया था तो पार्थ थे समंदर

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शिक्षक भर्ती भ्रष्टाचार मामले में ईडी की टीम को कुंतल और पार्थ के बीच रुपयों के लेनदेन का पता चला है। सूत्रों आगे पढ़ें »

ऊपर