Zero Shadow Day 2023: कोलकाता में इस दिन नहीं दिखेगी किसी चीज की परछाई!

शेयर करे

कोलकाता : कोलकाता में इस सप्ताह एक अनोखी खगोलीय घटना घटने वाली है। यहां पर कुछ समय के लिए किसी भी वस्तु की कोई छाया नहीं बनेगी। ऐसे में इस दिन जिस दिन किसी भी वस्तु की कोई परछाई नहीं बनती है उसे जीरो शैडो डे कहा जाता है। अपने रोजमर्रा के जीवन में, हम सौर और चंद्र ग्रहणों, आकाश में ग्रहों की कतार या कभी-कभी उल्काओं और धूमकेतुओं के प्रकट होने के अलावा आकाशीय घटनाओं को अधिक महत्व नहीं देते हैं।

क्या है यह जीरो शैडो डे?

एस्ट्रोनॉमिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया (एएसआई) के अनुसार, जीरो शैडो डे उस दिन को कहते है जिस दिन सूर्य आपके बिल्कुल सिर पर होगा लेकिन उसके कारण आपका छाया नहीं आएगा। ऐसे में केवल मनुष्य ही नहीं बल्कि इस समय किसी चीज का छाया तक नहीं होगा। बताया जा रहा है कि वास्तविक घटना केवल एक सेकंड के एक अंश तक रहती है, लेकिन इसका असर करीब डेढ़ मिनट तक रहता है।

क्यों होता है जीरो शैडो डे? क्या है इसका महत्व?

इससे पहले इस पर बोलते हुए खगोलशास्त्री देबिप्रसाद दुआरी ने कहा था कि ‘‘दुनियाभर में लोग और कोई भी वस्तु, कर्क रेखा और मकर रेखा के बीच रहकर अपनी छाया खो देती हैं। हालांकि ऐसा साल में दो बार क्षण भर के लिए होता है। इन दो पलों को ‘शून्य छाया क्षण’ कहा जाता है।’’ यह तब होता है जब सूरज ठीक सिर के ऊपर होता है। दुआरी ने कहा कि किसी वस्तु पर पड़ने वाले किसी भी तरह का प्रकाश आम तौर पर एक छाया उत्पन्न करता है, जब तक कि वह वस्तु के ठीक ऊपर न हो। शहर भूमध्य रेखा से लगभग 2,500 किलोमीटर और कर्क रेखा से लगभग 93.5 किलोमीटर दूर है।”

इस वर्ष कोलकाता के लिए जीरो शैडो डे, भूमध्य रेखा से लगभग 2,500 किमी और कर्क रेखा से लगभग 93.5 किमी, जो नदिया जिले के कृष्णानगर शहर के करीब से गुजरता है, 5 जून को होगा और ये जीरो शैडो मोमेंट होगा 11.34IST बजे।

दोबारा 7 जुलाई को होगा

लगभग 22.5 डिग्री उत्तर के अक्षांश पर स्थित किसी भी स्थान के लिए उस दिन दोपहर के समय सूर्य ठीक सिर के ऊपर होगा, हालांकि भारत में अलग-अलग स्थानों के लिए अलग-अलग समय पर होगा। कोलकाता और आसपास के क्षेत्रों के लिए जीरो शैडो मोमेंट फिर से 7 जुलाई को 11.41IST के आसपास होगा, जब मध्य-दोपहर का सूर्य स्पष्ट रूप से दक्षिण की ओर बढ़ रहा होगा, जिसे दक्षिणायन भी कहा जाता है।

बंगाल में, पहला शून्य छाया दिवस 13 जून को बर्दवान में (11.38IST), कृष्णानगर में 17 जून (11.36 IST) और मायापुर में 18 जून (11.37IST) को  होगा, जो कर्क रेखा से केवल 1 किमी दक्षिण में स्थित है। इस उत्तरी सीमा से परे किसी अन्य स्थान पर कोई शून्य छाया दिवस नहीं होगा। कृष्णानगर में दूसरा शून्य छाया दिवस 25 जून (11.38IST), बर्दवान में 29 जून (11.42IST) और मायापुर में 24 जून (11.38IST) को होगा।

 

 

 

Visited 370 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

कोलकाता : देवों के देव शिव शंभू, शिव शंकर साल का सबसे प्रिय माह श्रावण मास माना जाता है। इस
तीसरे सेमेस्टर की परीक्षा सितंबर और चौथे सेमेस्टर की परीक्षा मार्च में कोलकाता : 12 साल बाद उच्च माध्यमिक के
हावड़ा : तीन युवकों पर शनिवार को 12 साल की बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म कर उसे दफनाने का आरोप लगा
कल मुहर्रम पर महानगर में सुरक्षा चाक-चौबंद, ट्रैफिक होगी प्रभावित करीब 4 हजार पुलिस कर्मी रहेंगे तैनात कल शहर में
कोलकाता : 6 दोस्त मंदारमणि की यात्रा पर गए थे। सभी लोग समुद्र में स्नान करने गये। तभी 2 लोगों
रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया हुई शुरू कोलकाता : माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कक्षा 9 की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू करने जा रहा है। इसे
एक नजर प्याज : 50 रु. प्रति किलो टमाटर : 100 रु. प्रति किलो कोलकाता : पश्चिम बंगाल टास्क फोर्स
संजय मुखर्जी को बनाया गया डीजी दमकल कोलकाता : लोकसभा चुनाव और विधानसभा के उपचुनाव खत्म होते ही एक बार
कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश के बाद ईबी व टास्क फोर्स द्वारा मिलकर महानगर के विभिन्न बाजारों में
कोलकाता : कोलकाता में सोमवार को भगवान जगन्नाथ के 53वां उल्टा रथयात्रा का आयोजन किया गया। इस्कॉन कोलकाता के सौजन्य
कोलकाता : महानगर व आसपास क्षेत्रों के 19 अहम ब्रिज और फ्लाईओवर की मरम्मत की जायेगी। केएमडीए ने इसकी तालिका
कोलकाता : राज्य के मोटर ट्रेनिंग स्कूलों पर परिवहन विभाग द्वारा नकेल कसी जाने के लिये कई अहम कदम उठाये
ऊपर