सांतरागाछी ब्रिज : आज मालवाही वाहनों के यातायात को लेकर होगा असल टेस्ट

शनिवार की देर रात सीआर एवेन्यू, बीटी रोड पर दिखा मालवाही वाहनों का जाम
हावड़ा के जीटी रोड, बनारस रोड व आंदुल रोड और कोना हाईवे घंटों रहा जाम
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : शुक्रवार की रात से मरम्मत कार्य के कारण सांतरागाछी ब्रिज से मालवाही वाहनों के यातायात पर रोक लगा दी गयी है। ऐसे में महानगर से दिल्ली और बॉम्बे रोड की तरफ जाने वाले वाहनों को आंदुल रोड होकर धुलागढ़ और दिल्ली रोड की तरफ जाने वाले वाहनों को सीआर एवेन्यू, बीटी रोड, डनलप , निवेदिता सेतु होकर डानकुनी की तरफ जाना पड़ रहा है। खासतौर पर रात के वक्त मालवाही वाहनों के शहर से बाहर जाने और हर के अंदर प्रवेश करने को लेकर शनिवार की रात महानगर सहित हावड़ा के विभिन्न जगहों पर मालवाही वाहनों के आवागमन को लेकर ट्रैफिकजाम देखी गयी है। शनिवार की देर रात से रविवार की अहले सुबह तक कोलकाता और हावड़ा के विभिन्न इलाकों में पुलिस कर्मी वाहनों को नियंत्रित करते नजर आए। हालांकि महानगर के पोस्ता बाजार और पोर्ट इलाके से सेंट्रल एवेन्यू, टाला ब्रिज, बीटी रोड, निवेदिता सेतु होकर ‌दिल्ली रोड और बॉम्बे रोड की तरफ भेज गए। वहीं दिल्ली और बॉम्बे रोड से आने वाले भारी वाहनों को भी निवेदिता सेतु, बीटी रोड, टाला ब्रिज, होकर पोस्ता बाजार और अन्य इलाके के लिए डायवर्ट किया गया। शनिवार की रात 11 बजे के बाद सेंट्रल एवेन्यू और बीटी रोड पर वाहनों की संख्या बढ़ने के कारण शोभा बाजार से लेकर काशीपुर और बीटी रोड व ‌चिड़ियामोड़ इलाके में मालवाही वाहनों की जाम देखी गयी। कोलकाता ट्रैफिक पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि कोई भी नया ट्रैफिक डायवर्जन शुरू होने पर पहले कुछ दिनों तक थोड़ी दिक्कत होती है। वाहन ड्राइवरों को एक बार आदत पड़ जाएगी तो सब कुछ स्वाभाविक हो जाएगा। ट्रैफिक पुलिस के अधिकारी ने बताया कि सोमवार को दिन में महानगर में ट्रैफिक यातायात स्वाभाविक रहेगा। रात 10 बजे के बाद भारी वाहनों के प्रवेश करने और शहर से बाहर निकालने के लिए पर्याप्त व्यवस्था की गयी है। सूत्रों के अनुसार लालाबाजार की ओर से स्थिति सामान्य होने तक रात भर विभिन्न ट्रैफिक गार्ड के ओसी और अन्य अधिकारी को सड़क पर रहने के लिए कहा गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Radha Ashtami 2023: राधा अष्टमी पर अगर पहली बार रखने जा …

कोलकाता : हिंदू धर्म में भाद्रपद मास के शुक्लपक्ष की अष्टमी की तिथि को बहुत ज्यादा धार्मिक महत्व माना गया है क्योंकि इस दिन भगवान आगे पढ़ें »

Pitru Paksha 2023: पितृ पक्ष आज से शुरू, जानें श्राद्ध की सभी तिथियां और विधि

नई दिल्ली : पितृ पक्ष या श्राद्ध पक्ष भाद्रपद महीने की पूर्णिमा से शुरू होकर पितृमोक्षम अमावस्‍या तक चलते हैं। 29 सितंबर यानी कल से आगे पढ़ें »

ऊपर