कोलकाता में पिछले 4 वर्षों में 10% तक सुधरी प्रदूषण की स्थिति

2022 में दिल्ली रहा सबसे अधिक प्रदूषित शहर
पीएम10 के मामले में दुर्गापुर टॉप 10 प्रदूषित शहरों में शामिल
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का आंकड़ा जारी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : वर्ष 2022 में दिल्ली सबसे अधिक प्रदूषित शहर रहा। पीएम 2.5 स्तर सुरक्षित सीमा की तुलना में दोगुने से अधिक रहा और पीएम10 का स्तर भी सबसे अधिक रहा। मंगलवार को केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से गत 4 वर्षों का आंकड़ा जारी किया गया। एनसीएपी ट्रैकर की ओर से जारी रिपोर्ट में उक्त बात सामने आयी है। इधर, जारी आकंड़ों के अनुसार, कोलकाता में गत 4 वर्षों यानी वर्ष 2019 से लेकर 2022 तक प्रदूषण की स्थिति में 10.71% तक सुधार आया है। केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी नेशनल क्लीन एयर प्रोग्राम (एनसीएपी) का लक्ष्य वर्ष 2024 तक 20 से 30% तक प्रदूषण कम करना है।
2019 में केंद्र ने चालू की थी एनसीएपी योजना
केंद्र ने एनसीएपी को 10 जनवरी​ 2019 में 102 शहरों में चालू किया था ताकि पीएम 2.5 और पीएम 10 के स्तर को वर्ष 2024 तक 20 से 30% तक कम किया जा सके। इस बीच, कुछ और शहरों को इसमें जोड़ा गया जबकि कई शहरों को इस सूची से हटाया भी गया। फिलहाल इसमें 131 शहर हैं जिन्हें नॉन अटेनमेंट शहर कहा जाता है क्योंकि वे एनसीएपी के तहत वर्ष 2011-15 राष्ट्रीय मापदंडों यानी नेशनल एम्बीएंट एयर क्वालिटी स्टैंडर्ड (एनएएक्यूएस) से मेल नहीं खाते। गत सितम्बर 2022 में केंद्र ने वर्ष 2026 तक पीएम स्तर 40% तक कम करने का लक्ष्य रखा है।
ये हैं टॉप प्रदूषित शहर
सबसे अधिक पीएम 2.5 स्तर के साथ सबसे प्रदूषित टॉप 4 शहरों में दिल्ली और एनसीआर के शहर हैं जबकि आंकड़ों के अनुसार, टॉप 9 प्रदूषित शहर इंडो-गैंगेटिक प्लेन्स के हैं। पीएम 2.5 स्तर में सबसे अधिक प्रदूषित दिल्ली (99.71 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर) का पहला स्थान है जबकि हरियाणा का फरीदाबाद (95.64 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर) के साथ दूसरे और यूपी का गाजियाबाद (91.25 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर) के साथ तीसरे स्थान पर है। पीएम 2.5 काफी छोटे कण होते हैं और डायमीटर में ये 2.5 माइक्रॉन से भी कम होते हैं जो फेफड़ों और खून की कोशिकाओं में भी प्रवेश कर सकते हैं।
कोलकाता की प्रदूषण स्थिति में यूं हुआ सुधार
शहर – 2019 में रैंक – पीएम 2.5 (2019) – पीएम 2.5 (2020) – पीएम 2.5 (2021)- पीएम 2.5 (2022)- 2022 में रैंक- %पीएम 2.5 में बदलाव (2019 से 2022 तक)
हावड़ा-07-69-55-61-58-20-15.94
आसनसोल – 09-60-54-58-59-17-1.67
कोलकाता – 10-56-49-58-50-29-10.71
पीएम 10 के प्रदूषण में दुर्गापुर 8वें नंबर पर
पीएम 10 के स्तर पर प्रदूषण के मामले में दुर्गापुर 8वें नंबर पर रहा। वहीं पीएम 2.5 स्तर इस शहर में 170.35 है जबकि दुर्गापुर के अलावा पश्चिम बंगाल के किसी दूसरे शहर का नाम इसमें नहीं है। वर्ष 2022 में सबसे कम प्रदूषित शहरों में पश्चिम बंगाल का हल्दिया है। यह 5वें रैंक पर है जहां पीएम 2.5 स्तर 32.61 है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वंदे भारत एक्सप्रेस पर हमला को लेकर पीआईएल

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : वंदे भारत एक्सप्रेस पर हुए हमले को लेकर एक पीआईएल दायर की गई है। एडवोकेट रमाप्रसाद सरकार ने यह पीआईएल दायर की आगे पढ़ें »

प्लेटफॉर्म छोड़ 500 मीटर दूर जाकर रुकी लोकल ट्रेन

विधाननगर रेलवे स्टेशन की घटना सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार की सुबह विधाननगर रेलवे स्टेशन पर लोकल ट्रेन प्लेटफॉर्म से 500 मीटर दूर जाकर रुकी। अचानक इस आगे पढ़ें »

ऊपर