केंद्र पर बरसीं ममता, कहा – हमारा सब ले लो मगर देश को नुकसान मत पहुंचाओ

पीएम पर तंज, अंडमान में द्वीपों का नामकरण केवल सियासी फायदे के लिए
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : सीएम ममता बनर्जी ने सोमवार को नेताजी की जयंती के कार्यक्रम से केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि आ​ज देश असहाय है। बंगाल में 365 दिन कुछ न कुछ का सामना करना पड़ता है। रोजाना एजेंसियों का डर दिखाया जा रहा है। मैं कहती हूं जो आप कर सकते हाे करो, हमारा सब कुछ ले लो मगर देश की रक्षा कराे। इसे मत बेचो। देश को एक रहने दो। इसे नुकसान मत पहुंचाओ। सीएम ने कहा कि हम आंदोलन करते आये हैं और करते रहेंगे, हम घर पर नहीं बैठेंगे। उन्होंने केंद्र पर महान स्वतंत्रता सेनानी द्वारा परिकल्पित योजना आयोग को खत्म करने का भी आरोप लगाया। सीएम ने कहा कि प्लानिंग कमिशन हटा दिया गया है। अभी केवल सब कुछ नॉन प्लानिंग है।
द्वीपों का नामकरण लोकप्रियता हासिल करने का तरीका
सीएम ने नाम लिये बिना पीएम नरेंद्र मोदी पर भी तंज कसा। सीएम ने आरोप लगाया कि अंडमान-निकोबार में द्वीपों का नाम बदलने का मकसद केवल ‘लोकप्रियता हासिल’ करना है क्योंकि नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने खुद ही 1943 में इन द्वीपों का नाम ‘शहीद’ और ‘स्वराज’ रखा था। गौरतलब है कि अंडमान में नील तथा हैवलॉक द्वीपों का नाम 2018 में केंद्र द्वारा ‘शहीद’ द्वीप और ‘स्वराज’ द्वीप रखा गया था। स्वतंत्रता सेनानी को सम्मानित करने के लिए रॉस द्वीप का नाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वीप रखा गया। ममता बनर्जी ने कहा कि आज केवल लोकप्रियता हासिल करने के लिए कुछ लोग अंडमान के शहीद और स्वराज द्वीप के नाम उनके द्वारा रखे जाने का दावा कर रहे हैं। इन द्वीपों का नाम असल में बोस ने ही रखा था, जब वह सेलुलर जेल का दौरा करने गए थे।
सीएम ने मेयो रोड स्थित नेताजी की मूर्ति पर श्रद्धांजलि अर्पित की। इस कार्यक्रम से उन्होंने कहा कि नेताजी हमारे आदर्श हैं, पथ प्रदर्शक हैं। हम नेताजी द्वारा दिखाए रास्ते पर चलेंगे। नेताजी को याद कर सीएम ने कहा कि उनके परिवार से हमारा खास जुड़ाव रहा है।
बंगाल में अब तक 50 से अधिक सेंट्रल टीमें भेजी गयीं
सीएम ने एक बार फिर से बंगाल को बदनाम करने की बात कही। सीएम ने कहा कि यहां पटाखा भी फूटता है तो सेंट्रल टीम आ जाती है। जांच एजेंसियों के नाम से हमें डराया जा रहा है। बंगाल में 50 से अधिक सेंट्रल टीमें भेजी गई हैं। उन्होंने सवाल किया कि यूपी में कितनी टीमें भेजी गयीं? सीएम ने कहा कि आप बहुत से लोगों को लंबे समय तक मूर्ख नहीं बना सकते हैं। बंगाल आने वाले दिनों में देश का मार्गदर्शन करेगा।
देश का नेता नेताजी, गांधी जी जैसा हो…
नेताजी की जयंती पर मेयो रोड स्थित कार्यक्रम से सीएम ने कई नये सुफल बांग्ला की शुरुआत की। मुख्यमंत्री ने कहा कि नेताजी चाहते थे कि हमारे किसान स्वावलंबी हों। बहुत आगे बढ़ें और इस के तहत आज के दिन और सुफल बांग्ला की शुरुआत कर रहे हैं। सीएम ममता ने कहा कि एक नेता को किसी से सर्टिफिकेट नहीं लेना पड़ता है। पहले की राजनीति में सम्मान था, मधुरता थी, सौजन्य, बहादुरी थी मगर अब ऐसा नहीं है। आज देेश बहुत असहाय है। सीएम ने कहा कि देश के नेता कैसा हो? गांधी जी जैसा हो, नेताजी जैसा हो, अंबेडकर जैसा हो, देशबंधु जैसा हो।
इस दिन नेताजी के परिवार के दो सदस्यों सुगत बोस और चंद्र बोस की संयुक्त उपस्थिति ने रेड रोड मंच पर सबसे अधिक ध्यान आकर्षित किया। सुगत बोस तो तृणमूल के सांसद थे जबकि चंद्र बोस भाजपा से चुनाव भी लड़े थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

स्वान के 4 बच्चों को कुचलनेवाला ऐप कैब ड्राइवर गिरफ्तार

पोस्ता के काली कृष्ण टैगौर स्ट्रीट की घटना सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : चारों भाई-बहन एक साथ दिन भर खेलते रहते थे। गुरुवार की शाम चारों का सड़क आगे पढ़ें »

बैरकपुर फ्लाईओवर पर मांझा से कटी बाइक सवार की नाक

बैरकपुर : शुक्रवार की दोपहर बैरकपुर फ्लाईओवर पर बाइक से जा रहा अनुपम गांगुली मांझे के कारण एक हादसे का शिकार हो गया। अचानक ही आगे पढ़ें »

ऊपर