फ्लाईओवर का जाल बिछाने का केएमडीए का है मेगा प्लान

* इस योजनाओं का ब्‍लू प्रिंट तैयार
* फंड की हरी झंडी मिलते ही काम होगा शुरू
​* चित्तपुर ब्रिज निमार्ण प्राथमिकता की लिस्ट में
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : शहर के कई हिस्सों में जाम की समस्या से निजात दिलाने तथा लोगों की सुविधा हेतु शहर में कई नये फ्लाईओवर तथा ब्रिज के निमार्ण का प्रस्ताव है। केएमडीए द्वारा कम से कम नये 3 फ्लाईओवर तथा 1 ब्रिज बनाने का मेगा प्लान है, जो कि एक के बाद एक पाइपलाइन में होगा। ये चारों तैयार हो जाते हैं तो शहरवासियों का यातायात और ज्यादा सुगम हो जायेगा। हालांकि नये फ्लाईओवर तैयार करने में सबसे अहम कड़ी है फंड। केएमडीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सन्मार्ग को बताया कि हमलोग नये फ्लाईओवर निमार्ण को लेकर अपनी रूप रेखा तैयार कर चुके हैं। जैसे ही फंड के लिए हरी झंडी मिल जाती है, एक के बाद एक इस ओर काम शुरू कर दिया जायेगा। हम उम्मीद करते हैं कि इनमें से कई का काम इस साल 2023 में शरू कर दिया जाये। इसके अलावा भी कई प्रस्ताव पाइपलाइन में है।
ये हैं नये फ्लाईओवर बनाने का प्रस्ताव
1. बाईपास से न्यूटाउन तक फ्लाईओवर
बाईपास से न्यूटाउन तक नये फ्लाईओवर बनाने का प्रस्ताव दिया गया है। इसका अप्रोच सेक्टर 5 तक रहेगा। इसके निर्माण हो जाने से सेक्टर 5 तक जाने का सफर काफी ज्यादा सुगम हो जायेगा। वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 1200 करोड़ तक इस योजना पर खर्च आ सकता है।
2. रूबी – कालिकापुर के निकट फ्लाई ओवर
रूबी – कालिकापुर से एक फ्लाईओवर निमार्ण का प्रस्ताव है। करीब यह 2.5 कि.मी. लंबा होगा। इसका डीपीआर भी लगभग तैयार है। इसके निमार्ण में भी करीब 600 करोड़ रु. का खर्च का प्रस्ताव है। इसके बनने से भी बाइपास व उसके आसपास ट्रेफिक जाम से निजात मिलेगा।
3. सोनारपुर में फ्लाईओवर
सोनारपुर में करीब 1 कि.मी. लंबा फ्लाईओवर बनाने का प्रस्ताव है। हालांकि यह काफी पहले का प्रस्ताव है। दो लेन के इस फ्लाईओवर को तैयार करने में खर्च करीब 1500 करोड़ रु. तक हो सकता है। उम्मीद है कि सबकुछ ठीक रहा तो इसका काम भी शुरू हाे।
4. नया चित्तपुर ब्रिज बनेगा
पुराने चित्तपुर ब्रिज के खराब हालत को देखते हुए उसे तोड़कर नया चित्तपुर ब्रिज बनाने की योजना है। बहुत जल्द इसका काम शुरू होने जा रहा है। नये ब्रिज को तैयार करने में करीब 200 करोड़ खर्च होंगे।
क्यों जरूरत आ पड़ी इतने फ्लाईओवर की
दरअसल, यातायात व्यवस्था सुगम हो। लंबी दूरी कम समय में तय हो तथा जाम की समस्या का लाेगों को सामना नहीं करना पड़े। ये सारी अहम बातों को ध्यान में रखकर प्रस्तावित फ्लाईओवर का निर्माण की योजना है। ये बन जाने से बाईपास से न्यूटाउन, सेक्टर 5, रूबी व उससे सटे क्षेत्रों में यातायात करना लोगों के लिए और सुहाना और सरल होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कल ही उनकी सरकार गिर गयी थी, किसी प्रकार बची

- बंगाल का बकाया रुपया नहीं दिया तो होगा आंदोलन - ममता बर्दवान : कल उनकी सरकार गिर गई थी। कुछ लोगों को फोन कर उनसे आगे पढ़ें »

राज्यपाल को लेकर भाजपा ने दी गृह मंत्रालय को रिपोर्ट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : गत नवम्बर महीने में पश्चिम बंगाल के स्थायी राज्यपाल बने डॉ. सी. वी. आनंदा बोस के बारे में भा​जपा नेताओं ने सोचा आगे पढ़ें »

ऊपर