शर्मसार : नहीं मिली एंबुलेंस तो मां के शव को कंधे पर लादे 50 कि.मी दूर श्मशान चल पड़ा बेटा

जलपाईगुड़ी : जलपाईगुड़ी से एक दिलदहलाने वाली घटना सामने आई है। इस घटना ने आज कई सवाल खड़े कर दिये है क्या सच में आज का समाज इतना खुदगर्ज हो गए है कि वह एक गरीब के दर्द को नहीं दे सकता है। क्या रुपये मानवता से बड़े हो गये है। घटना है जलपाईगुड़ी जिले के करणी इलाके की। जहां एक बेटा एम्बुलेंस न मिल पाने के बाद अपने मृत मां के शव को कंधे पर लादे 50 कि.मी दूर श्मशान की ओर चल पड़ा। मालूम हो कि जलपाईगुड़ी जिले के क्रानी प्रखंड निवासी लक्ष्मीरानी दीवान को तबीयत खराब होने के कारण बुधवार को जलपाईगुड़ी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां गुरुवार सुबह उनकी मौत हो गई। परिजन का दावा है कि स्थानीय एंबुलेंस ने शव ले जाने के लिए तीन हजार रुपये की मांग की, लेकिन उनके पास इतनी राशि नहीं थी कि वे एंबुलेंस की रकम का भुगतान कर सके। इसलिए बेटा और पति ने मृतक के पार्थिव शरीर को कंधे पर लादकर श्मशान पहुंचाने का रास्ता चुना। ज्ञात हो कि वह एक दिहाड़ी मजदूर है जो कमाई थी वह मां के इलाज और खाने में खर्च हो गई थी। इसलिए एंबुलेंस को देने के लिए उनके पास पैसे नहीं थे, अंततः पैसा ना होने के कारण परेशान और विवश बेटे ने अपने मां के शव को कपड़े में बांधकर कंधे पर लाद लिया और अपने मंजिल 50 कि.मी दूर श्मशान की ओर निकल पड़ा। उसके साथ उसके बूढ़े पिता भी थे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

हावड़ा-पुरी के बीच दौड़ेगी 8 कोच की नई मिनी वंदे भारत ट्रेन

हावड़ा : भारतीय रेलवे 2 रूटों पर मिनी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलाने चल रही है। हावड़ा-न्यूजलपाईगुड़ी के बाद अब रेलवे मंत्रालय अगले महीने से आगे पढ़ें »

पुस्तक मेला के लिए साल्टलेक रूट में बढ़ायी जायेंगी बस सर्विसेज

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : आगामी 30 जनवरी से साल्टलेक के सेंट्रल पार्क में पुस्तक मेला की शुरुआत होगी। ऐसे में साल्टलेक रूट में हर बार की आगे पढ़ें »

ऊपर