हाड़वा : बेटी ने अपनी मां और पति को अवैध संबंध बनाते रंगे हाथ पकड़ा और फिर…

उत्तर 24 परगनाः बेटी ने अपने पति और मां को अवैध संबंध बनाते हुये रंगे हाथ पकड़ लिया। जब उसने इसका विरोध किया तो मां ने अपने दामाद के साथ मिलकर अपनी बेटी को पकड़ लिया और उसकी पिटाई कर दी। घटना की खबर गांव में फैलते ही लोग वहां पहुंच गए। फिर सास और दामाद को पेड़ से बांधकर पीटा गया। अंत में, ग्रामीणों ने उन्हें गांव से बाहर निकालने के लिए सामाजिक बहिष्कार की मांग करते हुए एक सामूहिक याचिका पर हस्ताक्षर किए। घटना उत्तर 24 परगना के हाड़वा में हुई।

सूत्रों के अनुसार बशीरहाट डिविजन के हाड़वा थाना क्षेत्र के महिस्टिकारी कलबाड़ी इलाके की रहने वाली महिला (42) के अपने 28 वर्षीय दामाद से अवैध संबंध थे। दोनों का रिश्ता पांच साल से चल रहा था। वे तीन बार दीघा से भी घुमकर आये हैं। आरोप है कि रिश्ते को जारी रखनकिि लिये आरोपी महिला ने अपनी 21 वर्षीय बेटी की शादी उस युवक से करक़ दी।

ग्रामीणों ने बताया कि महिला ने अपनी बेटी की एक बार पहले भी शादी की थी। लेकिन मां ने अपनी बेटी से रिश्ता इसलिए तोड़ दिया क्योंकि उसकी उस दामाद से नहीं पटती थी। छह महीने पहले उसने अपनी बेटी की शादी अपने प्रेमी से दोबारा करा दी। उसके बाद सास और दामाद के बीच प्रेम और शारीरिक संबंध शांतिपूर्ण तरीके से चलते रहे। आज रविवार की सुबह अचानक बेटी ने पति का अपनी मां के साथ शारीरिक संबंध बनाते हुए पकड़ लिया। तब उन्होंने इसकी सूचना ग्रामीणों को दी। सभी ने आकर सास को पेड़ से बांध दिया और उसकी पिटाई कर दी। साथ ही सामाजिक बहिष्कार के लिए दोनों लोगों पर ग्रामीणों ने हस्ताक्षर भी किए थे। सूचना मिलते ही हाड़वा थाने की पुलिस आनन-फानन में मौके पर पहुंच गई। वे दामाद और सास को छुड़ाकर हाड़वा थाने पहुंचे हैं।

 

 

Visited 202 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

National Science Day 2024: आज के दिन क्यों मनाया जाता है नेशनल साइंस डे? जानें यहां

नई दिल्ली: आज नेशनल साइंस डे है। हर आज के दिन ही देश के महान वैज्ञानिक CV रमन ने प्रकाश की फोटोन थ्योरी से जुड़ी आगे पढ़ें »

Himachal Political Crisis: हिमाचल प्रदेश में सियासी उठापटक, CM सुक्खू ने इस्तीफे से किया इनकार

शिमला: हिमाचल प्रदेश में सियासी उठापटक जारी है। विधानसभा में आज बुधवार(28 फरवरी) को जमकर हंगामा हुआ। इस बीच BJP के 15 विधायकों को सदन आगे पढ़ें »

ऊपर