सेना की जमीन बिक्री मामले में झारखंड से कोलकाता तक ईडी का तूफानी अभियान

नेताओं – नौकरशाहों के काले धन को सफेद बनाने का भी है आरोप
वकील राजीव कुमार की गिरफ्तारी और हेमंत सोरेन से भी है लिंक
रांची के व्यवसायी अमित अग्रवाल सहित अन्य व्यवसायियों के घर तलाशी अभियान
साल्टलेक, नोनापुकुर व जोधपुर पार्क तथा गरियाहाट सहित एक दर्जन से अधिक स्थानों पर छापा
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : ईडी ने शुक्रवार को रांची से लेकर कोलकाता तक तूफानी अभियान चलाया। यह छापामारी सेना की जमीन की बिक्री के लिए जाली दस्तावेजों के कथित इस्तेमाल के खिलाफ की गयी, साथ ही धनशोधन मामले की जांच के तहत झारखंड और पश्चिम बंगाल में एक दर्जन स्थानों पर छापेमारी की गयी। केंद्रीय एजेंसी ने गिरफ्तार कारोबारी अमित अग्रवाल से जुड़े परिसरों समेत रांची और आसपास के इलाकों में करीब 8 जगहों और बंगाल में साल्टलेक और नोनापुकुर के ट्राम डिपो के निकट स्थित कार्यालय तथा उनके करीबी कहे जाने वाले इंजीनियर एस. घोष के जोधपुर पार्क तथा गरियाहाट स्थित फ्लैट सहित कोलकाता के कई स्थानों पर छापेमारी की। ईडी के संयुक्त दलों द्वारा कुछ रियल एस्टेट कारोबारियों, निजी व्यक्तियों और संबंधित संस्थाओं पर छापेमारी की गयी। आरोप है कि इसकी छानबीन के दौरान कुछ दस्तावेज बरामद हुए हैं जो कि यह इशारा करते हैं कि अमित ने नेताओं – नौकरशाहों के काले धन को सफेद बनाने का भी काम किया है।
इन ठिकानों पर चला दिन भर छापा
ईडी के अधिकारी शुक्रवार सुबह 4 टीमों में सीजीओ परिसर से रवाना हुए। यह छापामारी साल्टलेक के 165 एचबी ब्लॉक और सेक्टर-5 स्थित आवास एवं कार्यालय में तथा नोनापुकुर इलाके में झारखंड के कारोबारी अमित अग्रवाल के घर और उनके मोटर पार्ट्स कार्यालय में की गयी। वहां तलाशी लेने के अलावा अधिकारी गरियाहाट भी गए। अग्रवाल के अधीन काम करने वाले कर्मचारियों से भी पूछताछ की गयी है। इसके अलावा झारखंड के व्यापारी विष्णु अग्रवाल समेत अन्य के ठिकानों पर छापामारी की गयी है। अमित के दो करीबी सहयोगियों से यह पता लगाने के लिए एक घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की गई ताकि उसकी और अन्य संपत्तियों का पता लगाया जा सके। ईडी सूत्रों के मुताबिक शुक्रवार की सुबह 6 बजकर 40 मिनट से छापेमारी शुरू की गयी। अभियान देर रात तक जारी था। अधिकारियों ने अग्रवाल के अपार्टमेंट और उनके महंगे वाहन के बारे में इन कर्मियों से पूछताछ की।
वकील राजीव कुमार की गिरफ्तारी व तीन नेताओं की गिरफ्तारी में अमित ने निभायी थी मुख्य भूमिका
उन्होंने कहा कि जांच झारखंड पुलिस द्वारा भारतीय सेना की भूमि की बिक्री और खरीद में जाली दस्तावेजों के कथित इस्तेमाल की जांच के लिए दर्ज प्राथमिकी से उपजी है। अग्रवाल को ईडी ने पिछले महीने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के खिलाफ दायर दो जनहित याचिकाओं में एक याचिकाकर्ता का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील राजीव कुमार को फंसाने’’ की कथित साजिश के आरोप में गिरफ्तार किया था। इस मामले का संबंध ईडी द्वारा जांच के दायरे में शामिल कथित अवैध खनन मामले से भी है, जिसमें हाल ही में सोरेन को तलब किया गया था और उनके एक सहयोगी और दो अन्य को गिरफ्तार किया गया था। इसके अलावा बंगाल में कैश के साथ गिरफ्तार झारखंड के तीन विधायक वाले मामले में भी उनका नाम सामने आया था। ईडी की टीम इससे पहले भी अमित के साल्टलेक स्थित आवास पर छापामारी कर चुकी है। कोयला तस्करी मामले में भी कुछ दस्तावेजों को जब्त किया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पंचायत चुनाव : गांवों की सड़कों को किया जाएगा सपाट

राज्य सरकार ने जारी किया 714 करोड़ 50 लाख रुपया केंद्र ने हाल ही में दिया है 584 करोड़ का फंड सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत आगे पढ़ें »

किस्मत से जुड़ा होता है गुलाब का फूल, वास्तु के ये उपाय बनाएंगे आपको धनवान

कोलकाता : हमारे जीवन में जिस तरह पेड़-पौधों का महत्व है, उसी तरह फूलों का भी विशेष महत्व होता है। घर को महकाने से लेकर आगे पढ़ें »

ऊपर