कोलकाता पुस्तक मेला के हिंदी स्टॉलों में उमड़ी भीड़

कोलकाता : अंतरराष्ट्रीय कोलकाता पुस्तक मेला में मंगलवार यानी 8 वें दिन पुस्तक प्रेमियों की काफी भीड़ ‌हिंदी स्टॉलों में देखी गई। पुस्तक मेला में बच्चे से लेकर बुजुर्ग बहुत दूर से आ रहे हैं। ‌पिछले साल की अपेक्षा इस साल लोगों में हिंदी पुस्तकों को लेकर रूझान अधिक देखा जा रहा है। हिंदी के कुछ स्टॉलों में भोजपुरी की पुस्तकें भी देखने को मिलीं। भोजपुरी बोलने वाले क्षेत्र से भी लोग इस मेला में आ रहे हैं। इस मौके पर सन्मार्ग की टीम ने पुस्तक मेला का जायजा लिया। इस मौके पर प्रतिश्रुति प्रकाशन के प्रमुख लक्ष्मण केडिया ने कहा कि स्टॉल में विद्यानिवास मिश्र, डॉ. एमडी सिंह, अनंत देव पांडेय की भोजपुरी की किताबों की अच्छी ब्रिकी हो रही है। यहां साहित्य अकादमी, हिन्दुस्तान अकादमी एवं नेशनल बुक ट्रस्ट की किताबें भी अच्छी संख्या में उपलब्ध हैं। यहा किताबें सस्ती भी हैं और लोगों के लिए उपयोगी भी हैं। साहित्य अकादमी में कुल 24 भाषाओं में किताबें उपलब्ध हैं। यहां पर हिंदी, तमिल, ओडिशा, मनिपुरी, डोगरी, मराठी सहित 24 भाषाओं की किताबें उपलब्ध हैं। वाणी प्रकाशन के स्टॉल में बच्चाें की अच्छी पुस्तकें । पुस्तक प्रेमी इस साल पाठ्यक्रम से अलग विषयों की पुस्तकं खरीदे। वही बहुत पुस्तक प्रेमी मुंशी प्रेमचंद की कहानियां और उपन्यास की किताब खरीदने के प्रति काफी रुझान देखा गया। पुस्तक मेला में छोटे स्टॉलों में बड़े प्रकाशन की पुस्तकों के साथ ही समकालिन लेखकों के किताबें बिक रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘8 महीने से गुफा में हूं, जीवनकाल में शायद ही फैसला देख पाऊं’

अदालत में पार्थ ने कहा नियुक्त‌ि घोटाले के एक मामले में सभी अभियुक्तों को 30 मार्च तक जेल हिरासत सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : गुरुवार को अलीपुर कोर्ट स्थित आगे पढ़ें »

ब्यूटीफुल दिखना हुआ आसान, सिर्फ एक चम्मच सौंफ चेहरे पर लगाएं, फिर देखें कमाल!

कोलकाता : सौंफ एक ऐसा मसाला है जोकि आपको हर भारतीय किचन में आसानी से देखने को मिल जाता है। आमतौर पर सौंफ की मदद आगे पढ़ें »

ऊपर