सीबीआई के लॉकअप में इजाफा,मामलों का बोझ बढ़ा

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : सीबीआई पर मामलों का बोझ तेजी से बढ़ता जा रहा है। लिहाजा सीबीआई को अपने लॉकअप की संख्या भी बढ़ानी पड़ रही है, क्योंकि हिरासत में लेकर अभियुक्त से पूछताछ करनी पड़ती है। इस वजह से सीबीआई ने जजेज रोड पर बीएसएनएल की एक दस मंजिली इमारत का एक बड़ा हिस्सा किराये पर लिया है।
इसके साथ ही सीबीआई अपने कार्यालयों की संख्या भी बढ़ाना चाहती है। इस दस मंजिली इमारत मेें कार्यालय बनाने के साथ ही लॉक अप भी बनाए जाएंगे। पूछताछ के लिए हिरासत में लिए जाने वाले अभियुक्तों को उसमें रखा जाएगा। एक समय ऐसा भी था जब सीबीआई के पास कोई अपना लॉकअप नहीं होता था। सारदा घोटाले की जांच सौंपे जाने के बाद से सीबीआई की सक्रियता बढ़ी है। इससे पहले हिरासत में लिए जाने वाले अभियुक्त से पूरे दिन पूछताछ करने के बाद उसे नजदीकी थाने के लॉकअप में रखा जाता था। साल्टलेक के सीजीओ कांप्लेक्स में दूसरी मंजिल पर सीबीआई का कार्यालय है। फिलहाल दो सौ से अधिक चिटफंड मामलों की जांच कर रही है। निजाम पैलेस में सीबीआई के तीन लॉकअप हैं। इधर एसएससी मामलों का बोझ भी बढता जा रहा है। इसके साथ ही गोतस्करी और कोयला तस्करी के मामले भी हैं। सूत्रों के मुताबिक करीब 15 लॉकअप बनाये जाने की योजना है। प्रत्येक मामले के लिए अलग-अलग कार्यालय बनाए जाएंगे। इसके अलावा दिल्ली और अन्य राज्यों से भी अफसर आ रहे हैं लिहाजा विस्तार जरूरी हो गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सीएए लागू होने से कोई नहीं रोक सकता : शुभेंदु

कहा, साबित करें ​कि मैंने सीएम के पैर छूए सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विधानसभा में सौजन्यता की राजनीति को भूलते हुए शनिवार को विपक्ष के नेता शुभेंदु आगे पढ़ें »

हाई कोर्ट ने खड़े किए हाथ, कहा : सुप्रीम कोर्ट जाएं

हीरा की रद्दगी और रेरा की बहाली से जुड़ा एक उलझा हुआ सवाल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल चार मई को पश्चिम बंगाल आगे पढ़ें »

ऊपर