कड़ी मेहनत के बावजूद भी जेब रहती है खाली? तो करें ये आसान उपाय

कोलकाता : पैसा कमाने के लिए हर कोई मेहनत करता है। लेकिन कई बार जीवन में कुछ ऐसी परिस्थितियां उत्पन्न हो जाती हैं, जिनके कारण उन पैसों की बचत कर पाना मुश्किल हो जाता है। जिस वजह से व्यक्ति को आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। अगर आप भी इस परेशानी का समाधान ढूंढ रहे हैं तो बता दें कि ज्योतिष शास्त्र में कुछ ऐसे खास उपाय और टोटके बताए गए हैं, जिन्हें करने से व्यक्ति को पैसे बचाने में सहायता मिलती है। आइए जानते हैं किन उपायों से मिलती है पैसे बचाने में सहायता।
पैसे बचाने के लिए करें ये टोटके
* ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है कि घर में पैसों की बचत करने के लिए सबसे पहले माता लक्ष्मी को एक सिक्का चढाएं और फिर उसे आटे के डब्बे में रख दें। ऐसा करने से लाभ मिलता है।
*ज्योतिष शास्त्र में फिजूल खर्च को रोकने के लिए बताया गया है कि पर्स में लौंग के सात दाने रखने से व्यक्ति को बहुत फायदा मिलता है।
*मान्यता है कि मां दुर्गा को शुक्रवार के दिन गुड़हल के फूल की माला अर्पित करने से व्यक्ति को अचानक धन की प्राप्ति होती है।
*अटके हुए पैसों को वापस पाने के लिए हर रोज सुबह सूर्य देव को जल अर्पित करें और इसके साथ उन्हें गुड़हल का फूल भी चढाएं। मान्यता है कि इससे व्यक्ति को बहुत लाभ मिलता है।
*प्रमोशन या व्यापार में वृद्धि के नए रास्ते खोलने के लिए संध्या पूजा के दौरान मन्दिर में कपूर का दीपक जलाएं। माना जाता है कि नियमित ऐसा करने से व्यक्ति को विशेष लाभ मिलता है।
*खोया हुआ धन बड़ी मुश्किल से प्राप्त होता है या इसकी सम्भावना न के बराबर होती है। लेकिन शनिवार के दिन भगवान शनि देव को तिल अर्पित करने से व्यक्ति को बहुत लाभ मिलता है।
*अपने कार्यक्षेत्र में मनचाही आर्थिक वृद्धि पाने के लिए अपने कार्य करने वाले डेस्क पर कांच, पीतल या मिट्टी का कछुआ एक प्लेट में रख लें। ऐसा करने से व्यक्ति को जरूर लाभ मिलेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर