नंदीग्राम दिवस पर तृणमूल और भाजपा आयी आमने-सामने

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : शनिवार को नंदीग्राम दिवस पर तृणमूल और भाजपा आमने-सामने आयी और एक-दूसरे पर राजनीतिक हमला तेज किया। इस दिन राजनीति भी खूब हुई। दोनों ही कार्यक्रम लगभग 100 मीटर की दूरी पर भूमि उच्छेद प्रतिरोध कमेटी (बीयूपीसी) के बैनर तले हुए। तृणमूल के प्रवक्ता कुणाल घोष ने इस दौरान भाजपा पर हमला बोला और नंदीग्राम के विधायक शुभेंदु अधिकारी ने भी इस दौरान श्रद्धांजलि अर्पित की। कुणाल घोष ने कहा, ‘माकपा के हर्मद जो नंदीग्राम घटना के पीछे थे, वे अब भाजपा में आ गयेे हैं। अपनी जमीन के लिए शांतिपूर्ण लड़ाई लड़ रहे प्रदर्शनकारियों पर अत्याचार करने वालों के साथ शुभेंदु अधिकारी ने हाथ मिलाकर लोगों के साथ विश्वासघात किया। पूर्व मिदनापुर के लोग उन्हें कभी माफ नहीं करेंगे।’ भांगाबेरा में जमीन विरोधी अधिग्रहण कमेटी बीयूपीसी से संबंधित प्रदर्शनकारियों को इसी दिन 16 वर्ष पहले गोली मार दी गयी थी। वे लोग प्रस्तावित केमिकल हब के लिए जमीन अधिग्रहण के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे। इस दिन कुणाल घोष ने कहा कि शुभेंदु ने सीबीआई और ईडी की छापेमारी से बचने के लिए अपनी राजनीतिक ईमानदारी बदल ली। आज शेख सूफियान और अबु ताहेर जो वर्ष 2007 में बीयूपीसी में थे, वे तृणमूल के साथ हैं।
शुभेंदु ने भी बोला हमला
विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने जवाबी हमला बोलते हुए कहा, ‘जमीन अधिग्रहण के आंदोलन में जिनकी कोई भूमिका नहीं थी, वे अब भाषण देकर लाइमलाइट में आना चाह रहे हैैं। आम लाेगों का रुपया पोंजी घोटाले में लूटने वाले लोग अब शहीद कार्यक्रम में शामिल हो रहे हैं। इसका कोई अधिकार उनके पास नहीं है।’ इस दिन शुभेंदु ने दावा किया कि मालदह व पूर्व मिदनापुर के बाद आवास दुर्नीति की जांच में और 15 जिलों में केंद्रीय टीम जायेगी।
वाममोर्चा की प्रशंसा की शुभेंदु ने
एक तरफ शुभेंदु अधिकारी ने जहां तृणमूल पर करारा हमला बोला, वहीं माकपा की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि माकपा में सभी खराब नहीं हैं। शुभेंदु ने कहा कि वर्ष 2021 के विधानसभ चुनाव में उनके पक्ष में माकपा के काफी कार्यकर्ताओं ने वोट दिया था। शुभेंदु ने कहा, ‘तृणमूल से काफी मजबूत संगठन माकपा का था। वाममोर्चा इनसे काफी अधिक मजबूत थी और 34 वर्षों तक सत्ता में थी। सीटों की संख्या 235 थी, सभी वामपंथी खराब नहीं हैं। हमारे साथ काफी वामपंथी हैं। नंदीग्राम में हिन्दू वामपंथियों के एक बड़े वर्ग ने मुझे वोट दिया जिस कारण मैं जीत सका। ये बात बगैर किसी कपट के मैं स्वीकार करता हूं।’
शुभेंदु से किसी सर्टिफिकेट की आवश्यकता नहीं : सुजन
इस दिन माकपा नेता सुजन चक्रवर्ती ने शुभेंदु पर जवाबी हमला बोला। माकपा की केंद्रीय कमेटी के सदस्य सुजन चक्रवर्ती ने कहा, ‘शुभेंदु को किसने सर्टिफिकेट देने को कहा ? सर्टिफिकेट देने की जिसकी योग्यता है, वही सर्टिफिकेट दे सकता है। तृणमूल के बड़े नेता पार्टी बदल कर भाजपा में गये। उनके सर्टिफिकेट की कीमत तृणमूल के पास होगी, लेकिन वाममोर्चा के पास नहीं है।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

मवेशी तस्करी मामला : शांतिनिकेतन पहुंचा सीबीआई का प्रतिनिधिमंडल

कोलकाताः गौ तस्करी मामले में शांतिनिकेतन पहुंचा सीबीआई का प्रतिनिधिमंडल। गौ तस्करी मामले में सीबीआई के जांच अधिकारी सुशांत भट्टाचार्य पहुंचे शांतिनिकेतन के रतनकुथी गेस्ट आगे पढ़ें »

विधवा मां के थे अवैध संबंध, बेटी ने किया विरोध तो उसको उतारा मौत के घाट

नदियाः पिता की मौत के बाद मां इलाके के ही एक युवक के साथ प्रेम संबंध बनाने लगी। महिला की 18 वर्षीय बेटी इस बात आगे पढ़ें »

ऊपर