कहीं जदयू-भाजपा की तरह न हो महागठबंधन का हाल…

पटना :  बिहार में राजनीतिक उलटफेर के बाद महागठबंधन के घटक दलों को यह चिंता सताने लगी है कि कहीं उनका भी हाल भाजपा-जदयू जैसा न हो जाए। ऐसे में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में रहने के दौरान जिस समन्वय समिति के गठन की मांग उठ रही थी,उसी तरह की समिति ‘महागठबंधन’ के लिए बनाई जा सकती है।इसके संकेत शुक्रवार शाम को मिले, जब महागठबंधन के चौथे सबसे बड़े घटक भाकपा (माले) के विधायक संदीप सौरव ने कहा, मुख्यमंत्री समन्वय समिति के पक्ष में हैं। उन्होंने कहा, गठबंधन के किसी घटक को इस पर आपत्ति नहीं है। इसलिए, इसका गठन उचित समय पर होगा।

अटल बिहार वाजपेयी के समय में बनी थी समिति
दरअसल, जदयू और भाजपा के बीच बीते कुछ दिनों से स्थिति बिगड़ती जा रही थी। ऐसे में कई नेताओं ने समन्वय समिति के गठन पर जोर दिया था। ऐसी ही एक समन्वय समिति पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के समय बनी थी और इसके संयोजक जॉर्ज फर्नांडिस थे। जदयू नेताओं का मानना है कि इस तरह की समिति नहीं होने की वजह से घटक दलों के पास एक दूसरे के प्रति अपना विरोधी मत रखने के लिए कोई मंच नहीं था, जिसकी वजह से नेता मीडिया के सामने जाते थे और दोनों दलों के बीच खटास बढ़ती गई।

अगले सप्ताह दिल्ली जा सकते हैं नीतीश कुमार
नीतीश कुमार के करीबी सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री अगले सप्ताह दिल्ली का दौरा कर सकते हैं। यह दौरा मंत्रिमंडल विस्तार के कुछ समय बाद ही होगा। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित शीर्ष विपक्षी नेताओं से मुलाकात कर सकते हैं। इस दौरान समिति बनाने पर भी चर्चा संभव है।

महागठबंधन में हैं सात पार्टियां
गौरतलब है कि महागठबंधन में सात पार्टियां हैं, जिनमें जदयू, राजद, कांग्रेस, भाकपा (माले), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा), मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) और हिंदुस्तान अवाम मोर्चा (हम) शामिल हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दुर्गापूजा के रंग में रंगी सांसद महुआ, जमकर थिरकीं

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गापूजा के रंग में हर कोई रंग गया है। तृणमूल सांसद महुआ मोइत्रा फिर कैसे इस रंग से दूर रह सकती हैं। आगे पढ़ें »

दुर्गापूजा के रंग में बारिश ने डाला भंग

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि आज षष्ठी के साथ ही महानगर में बारिश की शुरुआत हो गयी है। मालूम आगे पढ़ें »

ऊपर