पार्टनर को पसंद है आक्रामक सेक्स, तो काम आएंगी ये टिप्स

कोलकाताः कुछ लोगों को सॉफ्ट और स्लो लवमेकिंग करना पसंद होता है, जिसमें पार्टनर प्यार के साथ सेक्स करे। इसमें वह इस बात का ज्यादा ख्याल रखते हैं कि उनके पार्टनर को किसी तरह की चोट न लगे। लेकिन प्यार करने का सिर्फ एक ही तरीका नहीं होता है। कुछ लोगों को रफ सेक्स पसंद होता है। रफ सेक्स को एग्रेसिव सेक्स भी कहते हैं। वहीं बहुत सारे लोग इसे गलत मानते हैं। हाल ही में किए गए एक रिसर्च के अनुसार, 70 प्रतिशत लोग रफ सेक्स या बीडीएसएम को एंजॉय करते हैं। बीडिएसएम का मतलब है बॉन्डेज डिसिप्लिन डोमिनेंस सबमिशन। इसमें पार्टनर को बांधने से लेकर कई ऐसी चीजों का इस्तेमाल किया जाता है जो दोनों पार्टनर को सेक्सुअल प्लेजर देता है। शोधकर्ताओं की मानें तो पुरुषों और महिलाओं में आक्रमकता का स्तर अलग-अलग होता है

क्या होता है आक्रामक सेक्स?

किसी भी तरह का सेक्स जो शारीरिक रूप से आक्रामक हो उसे रफ सेक्स कहते हैं। जरूरी नहीं है यह सभी लोगों को पसंद हो। कुछ लोगों को जो आक्रामक सेक्स लगता है, कुछ लोगों उसे गलत समझ सकते हैं। मुंह पर थप्पड से लेकर बम पर थप्पड़ लगाना और बीडीएसएम के टॉर्चर सीन को आप रफ सेक्स कह सकते हैं, लेकिन तब जब पार्टनर की इसमें सहमति हो। यदि पार्टनर कि इसमें सहमति नहीं है तो यह सेक्स नहीं किसी को चोट पहुंचाना माना जाता है। ऐसा जरूरी नहीं है कि शारीरिक रूप से दर्द होने को ही रफ सेक्स कहते हैं। फोन पर सेक्स की बातें करना, पॉर्न देखना भी आपको आक्रामक बनाता है।

किस हद तक नॉर्मल है रफ सेक्स?

यदि आपको रफ सेक्स करने की चाहत होती है तो इसमें कुछ गलत नहीं है। इस बात का कोई फर्क नहीं पड़ता है कि सेक्स को लेकर आपकी इच्छा दूसरों से अलग है। एक्सपर्ट्स की मानें तो, अपनी इच्छाओं को लेकर कभी भी शर्मिन्दगी महसूस न करें। लेकिन आपके पार्टनर का इसके लिए राजी होना जरूरी होता है। आप ऐसे अकेले नहीं है जिसकी सेक्स को लेकर अलग इच्छा है। बेहतर होगा कि आप अपनी इच्छा के अनुसार अपने पार्टनर का चयन करें। ऐसा इसलिए क्योंकि आपको इसकी जरूरत है। यदि आपका पार्टनर आपकी इच्छाओं को पूरा नहीं कर पाएगा तो कहीं न कहीं आप दोनों के बीच परेशानियां होने लगेंगी। हो सकता है आपके पार्टनर को स्वीट सेक्स पसंद हो। स्वीट सेक्स नाइट की तुलना में रफ सेक्स बेहद अलग होता है। रफ सेक्स फिजिकल भी हो सकता है। कई बार यह काफी इंटेंस हो सकता है।

पार्टनर के साथ इन चीजों की बनाएं लिस्ट

किसी भी तरह की सेक्सुअल एक्टिविटी पार्टनर की 100 प्रतिशत मंजूरी होना बेहद जरूरी है। ऐसा हो सकता है आपका पार्टनर कुछ चीजों के लिए तैयार न हो। आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप जबरदस्ती कुछ न करें। इसके लिए आप अपनी जो चीजें चाहते हैं उनकी एक लिस्ट बना सकते हैं। इस पर पार्टनर से चर्चा करें कि वो इनमें से किनमें कंफर्टेबल हैं। कुछ चीजें ऐसी भी हो सकती हैं जिनमें आपका पार्टनर बिल्कुल कंफर्ट न हो तो उन पर किसी तरह का दबाव न बनाएं। किसी भी एक्टिविटी को करने से पहले उसके बारे में अच्छे से रिसर्च कर लें। क्योंकि इससे आपको या आपके पार्टनर को चोट भी लग सकती है। कभी भी पार्टनर के कंफर्ट जोन से बाहर जाकर कुछ न करें।

पार्टनर के साथ बात करना है जरूरी

रफ सेक्स का मतलब सिर्फ ऑर्गेज्म या पार्टनर की आह, ऊह की आवाजे निकालना नहीं होता है। कुछ भी करने से पहले आपको बाते करनी होंगी। आपको पार्टनर से इस पर बात करनी चाहिए कि वो किन चीजों को एक्सप्लोर करना चाहती हैं। जब आप लोग रफ सेक्स कर रहे हो तो आप अपनी पार्टनर से पूछ सकते हैं कि वह कितना डीप चाहती हैं। आप लोग इसके लिए कोड वर्ड्स बना सकते हैं। जैसे यदि आपका पार्टनर आपको स्लो करना चाहती है तो वो ‘यैलो’ वर्ड बोलेंगी। यदि वो बताना चाहती हैं कि आप पीक पर हो और आप वहीं रूक जाएं तो इसके लिए वो ‘रेड’ वर्ड बोलेंगी। इस तरह से आप लोग कोड वर्ड सेट कर सकते हैं।

इन बातों का ध्यान रखना भी है जरूरी

जो चीजें आप पोर्न में देखते हैं यह जरूरी नहीं है कि आप भी वीडियो जितना एंजॉय करें। इसलिए कुछ भी देखकर उसको कॉपी करने की चाह में गड़बड़ न करें। अपने पार्टनर से पूरे सीन के दौरान कम्यूनिकेट करना बहुत जरूरी होता है। आप उनसे पूछें कि उन्हें सांस लेने में दिक्कत तो नहीं हो रही?, क्या हम इससे आगे बढ़ें? जैसा तुमने सोचा था क्या वैसा ही तुम महसूस कर रही हो? क्या तुम्हे अच्छा महसूस हो रहा है? आगे तुम क्या चाहती हो?। रफ सेक्स एक ऐसी एक्टिविटी है, जिसमें आपको अपने पार्टनर का हर स्टेप पर ध्यान रखना होगा। इन सवालों को पूछने के अलावा भी आपको चेहरे के हाव-भाव से समझना होगा कि उन्हें किसी तरह की परेशानी तो नहीं हो रही है। आप दोबारा भी इसे कर सकते हैं। जहां आपका पार्टनर आपको रूकने के लिए बोलें वहीं रूक जाएं। ये नहीं सोचें कि पूरा होने पर ही आप रूकेंगे। ऐसा न सोचें कि यही वो समय है और दोबारा ऐसा नहीं होगा। आप अपनी खुशी के साथ पार्टनर की खुशी का भी बराबर ध्यान रखें।

दोबारा करने से पहले पार्टनर से जरूर करें इस पर चर्चा

ऐसा न सोचें कि आप दोनों ने बराबर एंजॉय किया। जो चीजें उन्हें नहीं पसंद आई वो जानने की कोशिश करें। जिससे आप दोबारा करते वक्त उन बातों पर ध्यान रखें। दूसरा राउंड शुरू करने से पहले अपने पार्टनर से निम्न सवालों के बारे में पूछें:

तुम्हें कैसा अनुभव हुआ?अगर हम फिर से ऐसा करते हैं तो तुम उसमें क्या बदलाव करना चाहोगी?कब कब तुमने सबसे ज्यादा एंजॉय किया?कब कब तुम्हें अच्छा महसूस नहीं हुआ?तुम्हारी एक्सपेक्टेशन क्या थी और यह उससे कैसे अलग था?
आक्रामक सेक्स में मदद करेंगे ये टिप्स
रफ सेक्स करने से पहले फोन पर सेक्स की बातें करें। अपनी अपनी फेवरेट पोजिशन से लेकर जो-जो आपकी डिजायर है उन पर चर्चा करें। यदि आपका पार्टनर शर्मीला है तो आप उन्हें 1,2,3,4 ऑप्शन देकर पूछ सकते हैं। आक्रामक सेक्स करने से पहले आप ऐसे कुछ मूवी , सॉंग सुन सकते हैं जो आपके सेक्स लाइफ में रंग भरने का काम करे। आप लोग सेक्स सेशन के दौरान एक्ट प्ले कर सकते हैं। जैसे पार्टनर को किसी बात की सजा देनी है और वो सेक्स करते समय उस सजा के तौर पर गुस्सा दिखाने का एक्ट करें।

आक्रामक सेक्स के बाद पार्टनर की केयर करना भी उतना ही जरूरी होता है। उस मोमेंट को एंजॉय करने के बाद अपने पार्टनर को शांत करें। उन्हें कडल करकें कुछ देर के लिए लेटे रहें। यदि पार्टनर को किसी तरह की चोट लग गई है तो आप उस जगह पर बर्फ लगा सकते हैं। पार्टनर को सेक्स के बाद पानी पिलाएं। दोनों साथ में मूवी देख सकते हैं। कोई किताब पढ़ सकते हैं। पार्टनर को मसाज दे सकते हैं। प्यार से किस देकर सुला सकते हैं।

 

 

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा से मिलती है…

कोलकाताः शास्त्रों के अनुसार नवरात्रि की षष्ठी तिथि मां कात्यायनी की पूजा को समर्पित है। मां दुर्गा का यह छठा स्वरूप बहुत करुणामयी है। माना आगे पढ़ें »

आज महाषष्ठी : दोपहर से ही निकले लोग, रोशनी से नहाया कोलकाता

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : आज यानी शनिवार को महाषष्ठी है। वहीं शुक्रवार को पंचमी के दिन दोपहर से ही लोग घरों से बाहर निकल पड़े। इधर, आगे पढ़ें »

ऊपर