आर्थिक तंगी से है परेशान तो शुक्रवार को भूल कर भी न करें यह काम

कोलकाता : शुक्रवार का दिन धन की देवी मां लक्ष्मी का माना जाता है। इस दिन मां लक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा-अर्चना करने से जीवन में सुख एवं समृद्धि का वास होता है। आज के युग में लोग सबसे ज्यादा धन की परेशानी से पीड़ित रहते हैं। हर कोई चाहता है कि उसे पर्याप्त मात्रा में धन मिल सके जिससे उसका जीवन सही ढंग से संचालित हो सके, लेकिन कुछ लोगों पर ही मां लक्ष्मी की कृपा बरसती है। ऐसे में इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हमसे ऐसा कोई भी कार्य न हो जिससे मां लक्ष्मी हमसे नाराज हो जाएं। आइए जानें कि शुक्रवार को कौन से कार्य नहीं करने चाहिए।

1. उधार लेन-देन न करें –
शुक्रवार का दिन विशेष रुप से धन की देवी मां लक्ष्मी का है। ऐसे में इस दिन किसी को भी उधार देने या उधार लेने से बचना चाहिए। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन ऐसा करने से मां लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं। इसका परिणाम जीवन में आर्थिक कष्ट के तौर पर भुगतना पड़ सकता है।

2. घर में न रखें गंदगी –
मां लक्ष्मी का वास उसी जगह पर होता है जहां पर साफ-सफाई होती है। यही वजह है कि सभी लोग घरों और खासकर मंदिर के स्थान पर साफ-सफाई रखने को प्राथमिकता देते हैं। साफ स्थान पर मां लक्ष्मी प्रसन्न होकर वास करती हैं और उनकी कृपा ऐसे घर पर सदा बनी रहती है।

3. इन लोगों का न करें अपमान –
आप पर मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहे, इसके लिए इस बात का विशेष ख्याल रखें कि शु्क्रवार को गलती से भी आपसे किसी महिला, कन्या या फिर किन्नर का अपमान न हो। इस दिन किसी से अपशब्द भी न बोलें वर्ना मां लक्ष्मी रुष्ट हो सकती हैं।
 
4. चीनी न दें –
हम जिस समाज में रहते हैं उसमें पड़ोसियों से लेन-देन की प्रथा है। अगर आपका पड़ोसी शुक्रवार को चीनी मांगने आता है तो उसे चीनी बिल्कुल न दें। ऐसा करने से शु्क्र कमजोर होता है।
Visited 66 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Salman Khan के घर के बाहर फायरिंग करने वाले हमलावरों की तस्वीर आई सामने

मुंबई : बॉलीवुड एक्टर सलमान खान के घर के बाहर 14 अप्रैल की सुबह 3 राउंड ओपन फायरिंग हुई है। भारी सिक्योरिटी के बावजूद सुबह आगे पढ़ें »

सलमान खान के घर फायरिंग, पिता सलीम खान ने दिया ये बयान

कोलकाता: बॉलीवुड एक्टर सलमान खान काफी समय से गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के निशाने पर हैं। हालांकि, इस मामले पर अभी तक कोई बड़ा फैसला नहीं आगे पढ़ें »

ऊपर