पपीता खाने के 6 गजब फायदे, किस समय खाना रहेगा सबसे बेस्ट?

Fallback Image

कोलकाता : पपीता को सुबह खाली पेट खाना चाहिए। अपने दिन की शुरुआत पपीता खाने से करना न सिर्फ आपके पाचन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है बल्कि इससे आपको कई कमाल के स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैंं। हम सभी जानते हैं कि फल हमारे शरीर के लिए स्वास्थ्यप्रद भोजन हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि शरीर में इसकी अधिकतम प्रभावशीलता प्राप्त करने के लिए फल खाने का सबसे अच्छा समय क्या है? फलों को डाइट में शामिल करने से स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है, लेकिन कई लोगों का सवाल होता है कि पपीता रात को खाना चाहिए या नहीं? किन लोगों को पपीता नहीं खाना चाहिए? यहां उन सभी सवालों के जवाब हैं जिनको जानना आपके लिए जरूरी है।
पपीता खाने के फायदे
1. वजन कम करने में मददगार
सुबह पपीते का सेवन सेहत के लिए अच्छा होता है क्योंकि इसमें 80% पानी होता है। इसमें हाई फाइबर भी होता है जो शरीर की चयापचय दर को बढ़ाने में मदद करता है।
2. आंखों के स्वास्थ्य में सुधार करता है
पपीते में आंख की दृष्टि में सुधार के लिए महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं और इसकी धातुएं मुक्त कणों को रोकने में मदद करती हैं। साथ ही झुर्रियों और डार्क सर्कल्स से भी छुटकारा मिल सकता है।
3. त्वचा की रंगत के लिए अच्छा
नाश्ते में पपीते का सेवन आपकी त्वचा की रंगत के लिए बहुत उपयोगी होता है और आपकी त्वचा को चमकदार बनाता है आप अपनी त्वचा पर पपीते के पेस्ट के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन पपीता खाना पेस्ट से कहीं ज्यादा बेहतर हो सकता है।
4. इम्यून सिस्टम के लिए अच्छा है
पपीते को अपने भोजन में शामिल करें जो आपके इम्यून सिस्टम को बहुत लंबे समय तक हेल्दी रखने में मदद कर सकता है।
5. कैंसर और हृदय रोग को रोकें
पपीता कैंसर जैसी कुछ गंभीर बीमारियों को रोकने में मदद करता है क्योंकि यह प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को कम कर सकता है।
6. बालों के विकास के लिए सर्वोत्तम फल
यह बालों के लिए अच्छा है क्योंकि यह रूसी को रोकता है और बालों के विकास को बढ़ाता है और यह आपके बालों की प्राकृतिक चमक को बनाए रख सकता है।
किन लोगों को नहीं करना चाहिए पपीता का सेवन?
1. गर्भावस्था
विशेष रूप से कच्चा पपीता, जब अधिक मात्रा में सेवन किया जाता है तो असामान्य और अवांछित गर्भपात हो सकता है। कच्चे पपीते में प्रचुर मात्रा में लेटेक्स होता है, जो गर्भाशय के संकुचन को ट्रिगर करने के लिए जाना जाता है जो बदले में गर्भपात का कारण बन सकता है। तो, गर्भवती होने पर पपीता खाने से बचें।
2. श्वसन संबंधी समस्याएं
पपीते में पपैन नामक एंजाइम होता है, जो एक शक्तिशाली एलर्जेन है और इसलिए श्वसन संबंधी विकारों को बढ़ा सकता है। अगर आप अस्थमा आदि रोगों से पीड़ित हैं तो आपको इस स्वादिष्ट फल से दूर रहने की सलाह दी जाती है।

Visited 292 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata Metro Timing : आज से रात 11 बजे के बाद भी चलेगी मेट्रो !

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि मेट्रो रेलवे आज यानी 24 मई से प्रायोगिक तौर पर रात में ब्लू लाइन आगे पढ़ें »

Weather Update: बंगाल में भीषण गर्मी के बीच आज 3 जिलों में बदलेगा मौसम, कहां-कहां होगी बारिश ?

कोलकाता: बंगाल में लोगों को लू और गर्म हवा का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग की मानें तो गर्मी की लहर अभी कम आगे पढ़ें »

KKR की जीत पर शाहरूख ने दी बधाई.. कहा ‘मेरे लड़के, मेरी टीम, मेरे चैम्पियंस, मेरे केकेआर के स्टार…

Singapore Open 2024: पीवी सिंधु ने डेनमार्क की खिलाड़ी को हराया

ममता ने रेमल से क्षतिग्रस्त दक्षिण 24 परगना का किया दौरा…

बिहार में भीषण गर्मी का प्रकोप, 8 जून तक बंद रहेंगे सभी स्कूल

इंडिगो ने दिया महिला यात्रियों को तोहफा…

मिसाइल RudraM-II का सफल परीक्षण, पलक झपकते ही दुश्मनों को करेगा तबाह

कोलकाता के बेटे ने न्यूयॉर्क में किया नाम रौशन…

महिला पत्रकार ने टीवी चैनल के निर्देशक के खिलाफ लगाया छेड़छाड़ का आरोप….

PM मोदी पर CM ममता बनर्जी का तंज, ‘जो भगवान है उसे राजनीति में नहीं आना चाहिए’

भाजपा को सर्वाधिक सफलता बंगाल में मिलेगी : PM मोदी

ऊपर