नवरात्रि का आठवां दिन आज, ऐसे करें मां महागौरी की पूजा, जानें मां का स्वरूप, पूजा-वि​धि व मुहूर्त

शेयर करे

कोलकाता : चैत्र मास के शुक्लपक्ष में मनाई जाने वाली नवरात्रि के आठवें दिन देवी दुर्गा के महागौरी स्वरूप की पूजा का विधान है। माता के इस दिव्य स्वरूप के बारे में मान्यता है कि उन्होंने कड़ी तपस्या करके देवों के देव महादेव को पति रूप में प्राप्त किया था। यही कारण है कि नवरात्रि की अष्टमी तिथि पर मनचाहा वर पाने के लिए बड़ी संख्या में अविवाहित लड़कियां देवी का व्रत पूरे विधि-विधान से रखती हैं। आइए माता महागौरी की पूजा विधि, शुभ मुहूर्त और धार्मिक महत्व के बारे में विस्तार से जानते हैं।

पूजा का शुभ मुहूर्त

पंचांग के अनुसार चैत्र मास के शुक्लपक्ष की अष्टमी तिथि 28 मार्च 2023 को सायंकाल 07:02 बजे से प्रारंभ होकर 29 मार्च 2023 को रात्रि 09:07 बजे तक रहेगी। ऐसे में उदया तिथि के अनुसार दुर्गाष्टमी या फिर कहें मां महागौरी की पूजा का व्रत और पूजन 29 मार्च 2023, बुधवार को ही किया जाएगा।

पंचांग के अनुसार नवरात्रि के आठवें दिन

ब्रह्म मुहूर्त प्रात:काल 04:42 से 05:29 बजे तक रहेगा, जबकि

विजय मुहूर्त दोपहर 02:30 से प्रारंभ होकर 03:19 पर समाप्त होगा।

इस दिन अमृतकाल प्रात:काल 09:02 से 10:49 बजे तक रहेगा।

ऐसा है मां महागौरी का स्वरूप

पौराणिक मान्यता के अनुसार देवी दुर्गा का आठवां स्वरूप मानी जाने वाली मां महागौरी ने का स्वरूप बहुत दिव्य है और वह बैल की सवारी करती हैं। गौर वर्ण वाली माता महागौरी ने अपने चार हाथों में एक में त्रिशूल और दूसरे हाथ में डमरू लिया हुआ है। वहीं माता का तीसरा हाथ अभय मुद्रा में तो चौथा हाथ वर मुद्रा में रहता है।

ऐसे करें मां महागौरी की पूजा

1. नवरात्रि के आठवें दिन मां महागौरी की पूजा एवं व्रत को करने के लिए प्रात:काल सूर्योदय से पहले उठें और स्नान ध्यान करने के बाद देवी के व्रत को विधि-विधान से करने का संकल्प लें।

2. इसके बाद घर के ईशान कोण में सफेद कपड़ा बिछाकर मां महागौरी की फोटो या मूर्ति रखें और उसके बाद उनका रोली, चंदन, अक्षत, पुष्प, फल, धूप, दीप, वस्त्र, मिठाई आदि अर्पित करके भोग लगाएं।

3. नवरात्रि की अष्टमी का पुण्यफल पाने के लिए मां महागौरी की पूजा में गाय के दूध से बनी खीर जरूर चढ़ाएं।

4. इसके बाद मां महागौरी के मंत्र ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे ॐ महागौरी देव्यै नमः’ मंत्र का श्रद्धा और विश्वास के साथ जप करें।

5. पूजा के अंत में देवी की शुद्ध घी से बने दीया से आरती करें। इसके बाद सभी को प्रसाद बांटने के बाद स्वयं भी ग्रहण करें।

Visited 202 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

कोलकाता: दक्षिण बंगाल भीषण गर्मी से झुलस रहा है। लोगों के लिए सुबह-सुबह तेज धूप में निकलना मुश्किल हो गया
मंगाफ: कुवैत के मंगाफ में बुधवार सुबह एक ब्लिडिंग में लगी भीषण आग में 41 लोगों की मौत हो गई
अयोध्या: राम मंदिर के चलते देश-दुनिया में अयोध्या का अपना अलग स्थान है। ऐसे में इसकी सुरक्षा के लिए तमाम
कोलकाता: पश्चिम बंगाल में अब रद्द की जा चुकी शिक्षकों की भर्ती के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने उन
नदिया : नदिया जिले की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बांग्लादेशी मवेशी तस्करों ने बीती रात BSF जवानों पर हमला कर दिया। इस
कोलकाता: राज्य के अधिकांश जिले भीषण गर्मी से तप रहा है। दक्षिण बंगाल के लोग भीषण गर्मी से बेहाल हैं।
नई दिल्ली: हिंदू धर्म शास्त्रों में एकादशी तिथि का विशेष महत्व है। हर माह दोनों पक्षों की एकादशी को एकादशी
हावड़ा: बीते दिन रानीगंज के बाद अब कोलकाता से सटे हावड़ा में दिनदहाड़े डकैती की वारदात हुई है। दरअसल, हावड़ा
नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने NEET गड़बड़ी को लेकर सुनवाई के दौरान नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) को नोटिस जारी किया
हावड़ा : हाल ही में हुई गार्डनरीच की घटना ने हावड़ा निगम की आंखें खोल दीं। इसके बाद निगम की ओर
कोलकाता: पार्क स्ट्रीट के पार्क सेंटर में भीषण आग लग गई है। घटनास्थल पर दमकल की 9 गाड़ियां मौजूद है।
कोलकाता: मोदी कैबिनेट का गठन हो चुका है। अब केंद्र सरकार की ओर से राज्य के लिए बड़ी खुशखबरी है।
ऊपर