Cancer Treatment: अब बिना कीमो थेरेपी होगा कैंसर का इलाज, भारत बना पहला देश

चंडीगढ़ : पीजीआई, चंडीगढ़ के विशेषज्ञों ने अब बिना कीमो दिए कैंसर का इलाज ढूंढ निकाला है। पिछले 15 वर्षों से पीजीआई में चले शोध के बाद यह कामयाबी हासिल हुई है। पीजीआई, चंडीगढ़ के हेमेटोलॉजी विभाग के विशेषज्ञों ने एक्यूट प्रोमाइलोसाइटिक ल्यूकेमिया के मरीजों को बिना कीमो दिए पूरी तरह से ठीक कर दिया है। दावा है कि पीजीआई की इस उपलब्धि से भारत विश्व में बिना कीमो थैरेपी के कैंसर का इलाज करने वाला पहला देश बन गया है। पीजीआई के इस शोध को ब्रिटिश जर्नल ऑफ हेमेटोलॉजी में प्रकाशित किया गया है। पीजीआई के हेमेटोलॉजी विभाग के प्रमुख व शोध के वरिष्ठ लेखक प्रो. पंकज मल्होत्रा के मुताबिक इस मर्ज में मरीज की स्थिति तेजी से बिगड़ती है। अगर मरीज ने दो हफ्ते तक खुद को संभाल लिया तो उस पर इलाज का सकारात्मक प्रभाव तेजी से सामने आने लगता है लेकिन उन दो हफ्तों तक जिंदा रहना बेहद कठिन होता है। विश्व में अब तक कैंसर के मरीजों का इलाज कीमो से ही हो रहा है लेकिन पीजीआई ने पहली बार कीमो के बजाय मरीजों को दवाओं की खुराक दी। इसमें विटामिन ए और आर्सेनिक ट्राइऑक्साइड शामिल किया।

कीमो की तुलना में मिला बेहतर परिणाम

इस शोध के पहले लेखक डॉ. चरनप्रीत सिंह ने बताया कि 15 वर्षों तक संस्थान में चले इस शोध में 250 मरीजों को शामिल किया गया। उन मरीजों को कीमो की जगह विटामिन ए और आर्सेनिक ट्राइऑक्साइड दिया गया। गंभीर मरीजों को दो साल तक और कम गंभीर मरीजों को चार महीने तक दवा दी गई और लगातार फॉलोअप के साथ टेस्ट किए गए। सभी 250 मरीजों की जब कीमो वाले मरीजों की स्थिति से तुलना की गई तो परिणाम काफी बेहतर मिला। कीमो की तुलना में शोध में शामिल मरीजों पर इलाज की सफलता दर 90 प्रतिशत रही। जो मरीज दो हफ्ते के दौरान सर्वाइव नहीं कर पाए उनका ही परिणाम नकारात्मक रहा। 90 प्रतिशत मरीज पूरी तरह ठीक हैं और सामान्य जीवन जी रहे हैं।

सीधे लक्ष्य पर काम करती है दवा

कीमो जहां कैंसर कोशिकाओं को समाप्त करता है, वहीं इसका दुष्प्रभाव अन्य अंगों पर भी पड़ता है जबकि विटामिन ए और आर्सेनिक ट्राइऑक्साइड की डोज कैंसर सेल बनाने की स्थिति को ही पूरी तरह समाप्त कर देता है। यह कैंसर उत्पन्न करने वाले ट्रांस लोकेशन पर वार करता है। जिससे अन्य किसी प्रकार का दुष्प्रभाव नहीं होता और संक्रमण का प्रारंभ ही रुक जाता है।

प्रो. पंकज ने बताया कि यह कैंसर क्रोमोसोम के आपस में स्थान बदलने से कुछ केमिकल के ओवर एक्टिव होने से शुरू होता है। विटामिन ए और आर्सेनिक ट्राइऑक्साइड क्रोमोसोम के बदलाव से बनने वाले केमिकल को ही रोक देते हैं।

Visited 53 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata Airport आज रहेगा बंद !

कोलकाता : आज मंगलवार को भी कोलकाता एयरपोर्ट का रन वे आधे घंटे के लिए बंद रहेगा। मेट्रो रेलवे को बारासात मेट्रो लाइन का ड्रोन आगे पढ़ें »

Apple पर EU ने लगाया 2 अरब डॉलर का जुर्माना, जानें कारण

लंदनः यूरोपीय संघ ने एप्पल के खिलाफ लगभग दो अरब अमेरिकी डॉलर का प्रतिस्पर्धारोधी जुर्माना लगाया। अमेरिकी कंपनी पर दूसरे प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले अपनी संगीत स्ट्रीमिंग आगे पढ़ें »

ऊपर
error: Content is protected !!