Lpg Composite Cylinder: कोलकाता में विस्फोट प्रूफ सिलेंडरों की बढ़ी मांग, जानिए यह कैसे बचाएगा आपकी जान

कोलकाता : घरों में पहले लोग चूल्हे पर खाना बनाते थे। हालांकि समय बदलने के साथ-साथ अधिकांश घरों में रसोई गैस का इस्तेमाल किया जाने लगा। जिसकी वजह से खाना बनाना बेहद आसान हो गया। लेकिन कई बार सिलेंडर से विस्फोट जैसे हादसों का खतरा बना रहने लगा। कुछ सप्ताह पहले केष्टोपुर के एक रेस्टोरेंट में सिलेंडर विस्फोट होने की घटना में 3 लोगों की मौत हो गयी थी जबकि 15 से अधिक लोग घायल हो गये थे। हालांकि अब लाेग अपने घरों या रेस्टोरेंट में पूरी तरह सुरक्षित तरीके से भोजन बना सकेंगे क्योंकि प्रमुख ऑयल मार्केटिंग कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (IOCL) द्वारा अब विस्फोट प्रूफ सिलेंडर दिये जा रहे हैं। कुछ समय पहले ही इसकी शुरुआत की गयी है और इंडेन के सभी गैस बुकिंग सेंटरों में यह उपलब्ध है।

ग्राहक बदलवा रहे हैं पुराने स्टील सिलिंडर

इंडियन ऑयल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस विस्फोट प्रूफ यानी कंपोजिट सि​लिंडरों की मांग काफी बढ़ी है। इंडेन के ग्राहक अपने पुराने स्टील के सिलिंडरों को बदलवाकर कंपोजिट सिलिंडर लेना चाह रहे हैं। इसके लाभ और विशिष्टता को देखते हुए नये कनेक्शन की भी काफी मांग आ रही है। इस वित्तीय वर्ष जनवरी 2024 तक लगभग 45,000 ग्राहकों ने यह सिलिंडर लिया है। काफी कम समय में कनेक्शन भी मिल जा रहा है जिस कारण लोगों को इंतजार नहीं करना पड़ रहा है। इंडेन के सभी डिस्ट्रिब्यूटरशिप सेंटरों में यह उपलब्ध है।

इस तरह कर सकते हैं आवेदन

लैब टेस्टेड होेने के साथ ही यह सिलिंडर विस्फोट प्रूफ होते हैं। इसका आवेदन ऑनलाइन इंडियन ऑयल वन ऐप का इस्तेमाल कर अथवा cx.indianoil.in के वेबसाइट पर जाकर किया जा सकता है। इसके अलावा सीधे डिस्ट्रिब्यूटरशिप सेंटर से संपर्क कर भी आवेदन किया जा सकता है। इस सिलिंडर की सिक्योरिटी डिपॉजिट 3,000 रुपये है। पुराना सिलिंडर एक्सचेंज कराने पर पहले की सिक्योरिटी डिपॉजिट घटाकर बाकी सिक्योरिटी डिपॉजिट देनी होगी।

इस तरह होता है यह विस्फोट प्रूफ

कंपोजिट सिलिंडर के 3 लेयर कनेक्शन होते हैं। यह ब्लो-मोल्डेड हाई-डेनसिटी पॉलिथिलीन (एचडीपीई) इनर लाइनर से बना होता है जो पॉलिमर में रैप फाइबर ग्लास के कंपोजिट लेयर से कवर रहता है। इसका आउटर जैकेट एचडीपीई से फिट रहता है। ऐसे में इसमें से एलपीजी आग के संपर्क में आने पर और दबाव काफी बढ़ जाने पर भी इसमें विस्फोट नहीं होता और फटने के बजाय मेल्ट हो जाता है। यह 5 और 10 किलो के वजन में उपलब्ध है।

रिपोर्ट- मधु सिंह

शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata News : …ताकि भीषण गर्मी में ना हो बिजली की समस्या

- विद्युत की मांग पर मंत्री ने की सीईएससी अधिकारियों के साथ बैठक कोलकाता : भीषण गर्मी में महानगरवासियाें का हाल बेहाल है। रोजाना ही विद्युत आगे पढ़ें »

भाजपा से बदला लेंगे: नक्सलियों की बड़ी धमकी

छत्तीसगढ़ : लोकसभा चुनाव के शुरू होने के 3 दिन पहले 16 अप्रैल को कांकेर में हुए एनकाउंटर के बाद अब नक्सल संगठन ने भाजपा आगे पढ़ें »

ऊपर