Kota News: 4 घंटे में NEET के दो छात्रों ने की आत्महत्या, रूटीन टेस्ट पर प्रशासन ने लगाई रोक

कोटा: राजस्थान के कोटा में NEET के दो और छात्रों ने सुसाइड कर लिया। मामला रविवार (27 अगस्त) का है। कोटा में इस साल अब तक 22 छात्रों ने सुसाइड कर लिया है।

कोटा में रविवार (27 अगस्त) को सुसाइड की दो अलग-अलग घटनाएं हुई। दोनों मामले में NEET की तैयारी कर रहे छात्रों ने आत्महत्या कर ली। जानकारी देते हुए पुलिस ने कहा कि दोनों घटनाओं में 4 घंटे का अंतर था।

बिल्डिंग से छात्र ने लगाई छलांग

पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, 17 साल के आविष्कार शंबाजी कासले ने जवाहर नगर में दोपहर 3.15 बजे अपने कोचिंग सेंटर की बिल्डिंग से कूदकर आत्महत्या कर ली। कोचिंग सेंटर में टेस्ट देने के कुछ मिनट बाद ही उसने यह कदम उठाया। मामले में विज्ञान नगर के सीओ ने धर्मवीर सिंह ने कहा कि घटना के फौरन बाद वहां मौजूद स्टाफ उसे लेकर अस्पताल गए लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया।

भाई-बहन के साथ रहता था दूसरा छात्र

इस घटना के चार घंटे के बाद 18 साल के आदर्श राज ने भी सुसाइड कर लिया। दूसरी घटना शाम करीब 7 बजे की बताई जा रही है। आदर्श कोटा के कुन्हाड़ी थाना क्षेत्र में किराए के मकान में रहा था। यही उसने आत्महत्या की। घटना की जानकारी देते हुए कुन्हाड़ी के सीओ के. एस. राठौड़ ने कहा कि शाम करीब 7.30 बजे आदर्श की बहन और चचेरा भाई उसके घर पर पहुंचे। कमरा खुलने पर उनलोगों ने उसे फांसी के फंदे से लटका हुआ देखा। उन्होंने कहा कि जब आदर्श को नीचे उतारा गया तो उसकी सांसे चल रही थी, लेकिन अस्पताल ले जाते वक्त उसकी मौत हो गई।

लातूर का रहने वाला था 17 साल का छात्र

आविष्कार कालसे महाराष्ट्र के लातूर का निवासी था। बीते तीन साल से वह कोटा में रहकर NEET UG की तैयारी कर रहा था। वह अपने रिश्तेदारों के साथ यहां तलवंडी इलाके में रह रहा था। जबकि उसके माता-पिता महाराष्ट्र में रहते थे। पुलिस के मुताबिक दोनों सरकारी स्कूल में शिक्षक हैं।

रोहतास का रहने वाला था आदर्श

जानकारी के मुताबिक आदर्श बिहार के रोहतास जिले का निवासी था। वह बीते एक साल से कोटा में रहकर NEET UG की तैयारी कर रहा था। उसके साथ किराए के फ्लैट में उसकी अपनी बहन और चचेरा भाई रहता था। आदर्श के अलावा दोनों भाई बहन भी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं। कोटा के एएसपी भगवत सिंह हिंगड़ ने कहा कि आदर्श रूटीन टेस्ट में कम नंबर लाने की वजह से परेशान था।

अगले दो महीने तक टेस्ट पर रोक

कोटा में सुसाइड की बढ़ती घटनाओं को लेकर कोटा के कलक्टर ने आदेश जारी किया है। उसके मुताबिक कोटा के कोचिंग सेंटरों में रूटीन टेस्ट करने पर रोक लगा दी गई है। सरकारी आदेश के अनुसार अगले दो महीने तक बच्चों को मेंटल सपोर्ट और सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। दो महीने तक रूटीन टेस्ट नहीं लिया जाएगा। बता दें कि किसी भी छात्र के कमरे से कोई सुसाइड नोट पुलिस को नहीं मिला है।

 

 

Visited 82 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

आईएसपीएल को लेकर उत्साहित हैं बॉलीवुड सितारे, सैफ-अभिषेक ने …

मुंबई : इंडियन स्ट्रीट प्रीमियर लीग (आईएसपीएल) जल्द ही लोगों का मनोरंजन करने के लिए शुरू होने जा रहा है। दर्शकों को इस टेनिस बॉल आगे पढ़ें »

लोकसभा चुनाव से पहले लागू होगा CAA ?

नई दिल्ली: देश में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) जल्द लागू हो सकता है। सूत्रों के अनुसार, लोकसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता जारी होने आगे पढ़ें »

ऊपर