कोलकाता में बढ़ी सब्जियों की कीमतें, लोगों के जेब पर डाल रही असर

कोलकाता: दिसंबर का महीन शुरू हो चुका है। कोलकाता में सब्जियों के दाम तेजी से बढ़ रहे हैं। खुदरा बाजार में सब्जियों की बढ़ती कीमतें आम आदमी की पॉकेट पर प्रभाव डाल रही हैं। रिटेल मार्केट में जरूरी चीजों की कीमतों को नियंत्रण में रखने वाली राज्य सरकार की टास्क फोर्स के सदस्यों के अनुमान के अनुसार सभी सब्जियों की कीमतें औसतन 15 से 20 रुपये प्रति किलोग्राम तक ज्यादा हैं। टास्क फोर्स का कहना है कि भले ही टमाटर, मटर और प्याज की कीमतें दुर्गा पूजा और काली पूजा के त्योहारी सीजन की तुलना में थोड़ी कम हुई हैं, लेकिन मौजूदा कीमतें अभी भी सामान्य दरों से अधिक हैं।

टमाटर, मटर की कीमतों में बढ़ोतरी

रिपोर्ट्स के मुताबिक, यही बात लहसुन और अदरक के मामले में भी है, जो बंगाली व्यंजनों के लिए आवश्यक वस्तुएं हैं। कोलकाता के खुदरा बाजार में टमाटर लगभग 60 रुपये प्रति किलोग्राम पर बिक रहा है, वहीं मटर की प्रति किलोग्राम कीमत 100 रुपये के आसपास है। बता दें कि दिल्ली में मटर की खुदरा कीमत 30 रुपये से लेकर 50 रुपये के बीच है। वहीं, कोलकाता में टमाटर भी दिल्ली से महंगा ही मिल रहा है। खुदरा बाजारों में प्याज की औसत कीमत 60 रुपये प्रति किलोग्राम है और लगभग यही भाग दिल्ली में भी है। ऐसे में देखा जाए तो कुछ सब्जियां खुदरा बाजार में काफी महंगी बिक रही हैं।

300 रुपये प्रति किलो बिक रहा है लहसुन

इन सबके अलावा अदरक और लहसुन की कीमतें वाकई चिंता का विषय हैं। लहसुन की कीमत 300 रुपये प्रति किलोग्राम है, वहीं अदरक की कीमत 200 रुपये प्रति किलोग्राम से अधिक है। टास्क फोर्स के सदस्यों का मानना है कि आम तौर पर कोलकाता के खुदरा बाजारों में आवश्यक वस्तुओं की कीमतें अभी भी ऊंची चल रही हैं, जिनका राज्य में पर्याप्त मात्रा में उत्पादन नहीं होता है। टास्क फोर्स के एक सदस्य ने कहा, ‘चूंकि इन उत्पादों के लिए दूसरे राज्यों से सप्लाई पर निर्भर रहना पड़ता है, इसलिए जब भी सप्लाई में कोई कमी होती है, इनकी कीमतें बढ़ जाती हैं।’

Visited 43 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata Airport आज रहेगा बंद !

कोलकाता : आज मंगलवार को भी कोलकाता एयरपोर्ट का रन वे आधे घंटे के लिए बंद रहेगा। मेट्रो रेलवे को बारासात मेट्रो लाइन का ड्रोन आगे पढ़ें »

Apple पर EU ने लगाया 2 अरब डॉलर का जुर्माना, जानें कारण

लंदनः यूरोपीय संघ ने एप्पल के खिलाफ लगभग दो अरब अमेरिकी डॉलर का प्रतिस्पर्धारोधी जुर्माना लगाया। अमेरिकी कंपनी पर दूसरे प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले अपनी संगीत स्ट्रीमिंग आगे पढ़ें »

ऊपर
error: Content is protected !!