Microsoft का बड़ा दावा, लोकसभा चुनाव में गड़बड़ी कर सकता है चीन

नयी दिल्ली : माइक्रोसॉफ्ट ने चेतावनी दी है कि चीन कृत्रिम बुद्धिमता (AI) जनित सामग्री का उपयोग करके भारत, अमेरिका और दक्षिण कोरिया में आगामी चुनावों को प्रभावित कर सकता है।

64 देशों में होने जा रहे चुनाव: माइक्रोसॉफ्ट की यह चेतावनी चीन द्वारा ताइवान के राष्ट्रपति चुनाव के दौरान नतीजों को प्रभावित करने के लिए परीक्षण के ताैर पर AI का प्रयोग किये जाने के बाद आया है। गौरतलब है कि दुनिया भर में कम से कम 64 देशों में आम चुनाव होने जा रहे हैं। इन देशों में वैश्विक आबादी का लगभग 49 प्रतिशत हिस्सा रहता है। माइक्रोसॉफ्ट की साइबर खतरों पर नजर रखने वाली खुफिया टीम के अनुसार चीन समर्थित साइबर समूह उत्तर कोरिया की मदद से 2024 के लिए निर्धारित कई चुनावों को निशाना बना सकता है। चीन एआई-जनित सामग्री का प्रयोग कर अपने हित में जनता की राय प्रभावित कर सकता है।

ये भी पढ़ें: Weather Update: सुबह बारिश से बदला बंगाल का मौसम, जानिए कब तक के लिए है राहत ?

ताइवान के चुनाव में सक्रिय था ‘स्पैमौफ्लेज’ : माइक्रोसॉफ्ट ने अपने बयान में कहा कि इस साल दुनिया भर में, खासकर भारत, दक्षिण कोरिया और अमेरिका में, आम चुनाव हो रहे हैं। हमारा आकलन है कि चीन, कम से कम, अपने हितों को लाभ पहुंचाने के लिए एआई- सामग्री का निर्माण और विस्तार करेगा। माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि ताइवान के चुनाव के दौरान बीजिंग समर्थित एक समूह, जिसे स्टॉर्म 1376 या स्पैमौफ्लेज के नाम से जाना जाता है, विशेष रूप से सक्रिय था। इस समूह ने नकली ऑडियो समर्थन और मीम्स सहित एआई का प्रयोग कर सामग्री प्रसारित की। जिसका उद्देश्य कुछ उम्मीदवारों को बदनाम करना और मतदाताओं की धारणाओं को प्रभावित करना था। एआई तकनीक का उपयोग करके झूठी सामग्री तैयार की जा सकती है, जिसमें ‘डीपफेक’ या मनगढ़ंत घटनाएं शामिल हैं, जो कभी घटित ही नहीं हुईं।

 

Visited 22 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata Metro Timing : आज से रात 11 बजे के बाद भी चलेगी मेट्रो !

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि मेट्रो रेलवे आज यानी 24 मई से प्रायोगिक तौर पर रात में ब्लू लाइन आगे पढ़ें »

Weather Update: बंगाल में भीषण गर्मी के बीच आज 3 जिलों में बदलेगा मौसम, कहां-कहां होगी बारिश ?

कोलकाता: बंगाल में लोगों को लू और गर्म हवा का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग की मानें तो गर्मी की लहर अभी कम आगे पढ़ें »

ऊपर