चुनावी रिजल्ट के बाद शेयर बाजार में जबरदस्त तेजी, सेंसेक्स 1300 अकं पार

नई दिल्ली:  पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव की मतगणना के बाद भारतीय शेयर बाजार में जबरदस्त तेजी देखने को मिला है। सोमवार को जब बाजार खुला तो पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग के शेयर ग्रीन थे। इनके शेयरों में 900 अंकों की तेजी आई और बाजार 68, 409 अंक पर कारोबार कर रहा है। इसके अलावा अडानी ग्रुप ने भी निवेशकों को निराश नहीं किया। हालांकि मेगा, मिड और स्मॉल कैप का प्रदर्शन कमजोर रहा। शेयर बाजार में इस तेजी के बारे में जानकार कहते हैं कि राजनीतिक स्थिरता को बाजार हमेशा सकारात्मक तरीके से देखता है।

अडानी के शेयरों में भी बढ़त

पीएसयू के साथ साथ अडानी ग्रुप के शेयरों में भी बढ़त देखी गई। अडानी एंटरप्राइजेज में 6 फीसदी, अदानी पोर्ट्स में 5 फीसदी की बढ़ोतरी हुई। अडानी ग्रीन 7 फीसदी ऊपर हैं। सेंसेक्स के शेयरों में एलएंडटी 4 फीसदी और एसबीआई 3 फीसदी ऊपर है। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी.के. विजयकुमार ने कहा कि राज्य चुनाव के नतीजे नए सिरे से उम्मीदें पैदा कर सकते हैं और बाजार में और तेजी ला सकते हैं। बाजार को राजनीतिक स्थिरता पसंद है। बाजार के नजरिए से नतीजे उम्मीद से बेहतर रहे। पिछले चार सत्रों के दौरान 500 अंकों की तेजी के साथ बाजार ने पहले ही भाजपा की जीत के संकेत दे दिए थे। माहौल इतना उत्साहपूर्ण है कि शेयर बाजार में चढ़ाव जारी रहेगा।

मेगा, मिड और स्मॉल कैप का कमजोर प्रदर्शन

उन्होंने कहा कि निकट अवधि में बाजार बुनियादी बातों को नजरअंदाज करेगा और ऊपर जाएगा, लेकिन जल्द ही ऊंचे मूल्यांकन से कुछ बिकवाली शुरू हो जाएगी।

 

पीएसयू शेयरों में सबसे ज्यादा तेजी

एचपीसीएल 8 फीसदी ऊपर

एनएलसी 6 फीसदी ऊपर

बीईएल 5 फीसदी

गेल 5 फीसदी,

न्यू इंडिया एश्योरेंस 5 फीसद

आईओसी 5 फीसदी, आरवीएनएल 4 फीसद

इरकॉन 4 फीसदी ऊपर,

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया 4 फीसदी,

आरईसी 4 फीसदी,

इंजीनियर्स इंडिया 4 फीसद

ओआईएल 4 फीसद

बीपीसीएल 4 फीसद

यूनियन बैंक 4 फीसद

ओएनजीसी 4 फीसद

एनबीसीसी 4 फीसद

एलआईसी 4 फीसदी ऊपर

Visited 43 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata Airport आज रहेगा बंद !

कोलकाता : आज मंगलवार को भी कोलकाता एयरपोर्ट का रन वे आधे घंटे के लिए बंद रहेगा। मेट्रो रेलवे को बारासात मेट्रो लाइन का ड्रोन आगे पढ़ें »

Apple पर EU ने लगाया 2 अरब डॉलर का जुर्माना, जानें कारण

लंदनः यूरोपीय संघ ने एप्पल के खिलाफ लगभग दो अरब अमेरिकी डॉलर का प्रतिस्पर्धारोधी जुर्माना लगाया। अमेरिकी कंपनी पर दूसरे प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले अपनी संगीत स्ट्रीमिंग आगे पढ़ें »

ऊपर
error: Content is protected !!