रात भर बचाव कार्य में लगी रहीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी

संकट की घड़ी में लोगों से सहयोग का अनुरोध किया

अलीपुरदुआर : 15 मिनट के काल बैशाखी ने जलपाईगुड़ी के साथ ही अलीपुरदुआर में भी भारी तबाही मचायी है। अभी तक 5 लोगों की मौत हुई है तथा सैकड़ों लोग घायल हैं। आंधी तूफान की खबर मिलते ही सीएम ममता बनर्जी ने जरा भी देर नहीं करते हुए स्पेशल फ्लाईट से रविवार की रात को ही जलपाईगुड़ी पहुंचीं और रात भर राहत व बचाव कार्य में लगी रहीं। वह अस्पतालों में गयीं तथा इसके बाद रात में ही उन स्थानों का निरीक्षण किया जहां आशियाने उजड़ गये थे। साेमवार को सीएम अलीपुरदुआर भी गयीं। वहां की परिस्थितियों को देखते हुए वह दंग रह गयीं। उन्होंने कहा कि इतना नुकसान होगा यह मैंने सोचा भी नहीं था। भगवान ने बचाया है। सीएम खुद अलीपुरदुआर जोखिम उठाकर गयीं। सोमवार दोपहर मुख्यमंत्री अलीपुरदुआर एक नंबर प्रखंड के तापसीखाता इलाके में पहुंचकर प्रभावित इलाकों जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने प्रशासन के राहत कैंप में जाकर पीड़ितों से बातचीत की और पीड़ितों से बातचीत की। हालांकि चुनाव आचार संहिता लागू है, इसलिए मुुख्यमंत्री ने सीधे तौर पर कुछ आश्वासन नहीं दिया। सीएम अस्पताल जाकर घायलों का भी हाल जाना। उनसे बातचीत की। मुख्यमंत्री ने कहा कि काफी लोगों का घर क्षतिग्रस्त हो चुका है लोग एक भी सामान घर से नहीं निकाल पाए हैं। उन्होंने कहा प्राकृतिक आपदा में प्रशासन सिद्धांत मुताबिक पीड़ितों को हर सहयोग कर सकता है। उन्होंने प्रशासन जल्द से जल्द सर्वे रिपोर्ट तैयार कर पेश करेगा। उन्होंने संकट की घड़ी में लोगों से सहयोग का अनुरोध किया। सीएम ने पीड़ितों से को आश्वासन दिया कि प्रशासन उनके सभी तरह के सर्वे करेगी ताकि कोई वंचित न रहे।

सीएम ने कहा, जोखिम लेकर अलीपुरदुआर आयी हूं

मुख्यमंत्री ने सोमवार को जलपाईगुड़ी से अलीपुरदुआर के प्रभावित इलाकों का दौरा किया। इलाके का दौरा करने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि वह एक तरह का जोखिम लेकर यहां आयी हैं। उन्होंने कहा कि हेलीकॉप्टर दिन में तीन घंटे से ज्यादा उड़ान नहीं भर सकता लेकिन मुझे उसी हेलिकॉप्टर से अलीपुरदुआर वापस आना पड़ा जिसमें मैं कोलकाता से आयी थी। मुझे जोखिम उठाना पड़ा।

एक नजर दो जिलों में कितना हुआ प्रभावित

मालूम हो कि रविवार की शाम को आई आंधी तूफान में जलपाईगुड़ी जिले के साथ-साथ अलीपुरदुआर जिले में भी भारी तबाही हुई है। सबसे भारी तबाही अलीपुरदुआर जिले के अलीपुरदुआर एक नंबर प्रखंड और कुमारग्राम के क्षेत्र में हुई है। अलीपुरदुआर के उत्तर कामसिंग, दक्षिण कामसिंग, पतलाखावा, तापसीखाता में ही आंधी तूफान से सैकड़ो घर ढह हो चुके हैं। लोग घरों से बेघर हो चुके हैं। सैकड़ों परिवारों का आशियाना उजड़ गया है। लोगों ने राहत शिविर में शरण ली है। लोगों की फसले बर्बाद हो चुकी है, काफी लोग घायल हुए हैं। जगह-जगह वृक्ष व बिजली के तार व खंभे गिरे पड़े हैं। तूफान के साथ पड़े ओले से कुमारग्राम के सैकड़ों घर क्षतिग्रस्त हुए हैं। काफी पीड़ित परिवारों को स्कूल में आश्रय लेना पड़ा है।

Visited 55 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

सिर्फ गर्दन का व्यायाम हमें इतने रोगों से रख सकता है दूर

कोलकाता : रीढ़ की हड्डी को कशेरूक दंड या मेरूदंड कहा जाता है। इससे समस्त कंकाल को सहारा मिलता है। रीढ़ की हड्डी या मेरूदंड आगे पढ़ें »

गुरुवार के दिन विष्णु भगवान की करें पूजा, इन 3 बातों को रखें ध्यान

नई दिल्ली: गुरुवार के दिन का हिंदूओं में विशेष महत्व है। गुरुवार के दिन भगवान विष्णु और देवताओं के गुरु बृहस्पति देव की पूजा होती आगे पढ़ें »

ऊपर