Durga Puja 2023 : किस बड़े पूजा पंडाल में लोगों की कितनी लम्बी लाइन लगी है, घर बैठे …

शेयर करे

कोलकाता पुलिस चालू करेगी ‘पूजा क्यू वेटिंग टाइम एंड डिस्प्ले सिस्टम’
महानगर के विभिन्न क्रॉसिंग व सोशल मीडिया पर पंडालों की भीड़ की दी जाएगी जानकारी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : महानगर में दुर्गा पूजा को अब 50 दिन से भी कम समय बचा है। महानगर के अधिकतर पूजा आयोजक अपने पंडालों के निर्माण कार्य को तेजी से आगे बढ़ा रहे हैं। पिछले साल यूनेस्को द्वारा दुर्गा पूजा को कल्चरल हेरिटेज की स्वीकृत‌ि मिलने के बाद से बंगाल सहित पूरे विश्व भर से लोग कोलकाता की दुर्गा पूजा देखने के लिए भारी संख्या में आते हैं। देश के विभिन्न राज्यों से भी लोग दुर्गा पूजा देखने के लिए कोलकाता पहुंचते हैं। इसके कारण दक्षिण कोलकाता के अधिकतर पूजा पंडालों में लाखों लोगों की भीड़ उमड़ती है। कई बार पूजा पंडालों में लोगों की भीड़ उमड़ने के कारण महानगर की ट्रैफिक व्यवस्था चरमरा जाती है। ऐसे में इस साल दुर्गा पूजा में आम नागरिकों और दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए कोलकाता पुलिस एक अत्याधुनिक सिस्टम का इस्तेमाल करेगी। इस सिस्टम के तहत कोलकाता पुलिस महानगर के करीब 20 बड़े पूजा पंडालों में किस समय कितने लोगों की भीड़ है और वहां पर कितनी लम्बी लाइन लगी है, इसके रियल टाइम की जानकारी लोगों को देगी। इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गयी है। कोलकाता पुलिस के रिसर्च एंड डेवलपमेंट विंग के सदस्य इस बार दुर्गा पूजा में ‘पूजा क्यू वेटिंग टाइम एंड डिस्प्ले सिस्टम’ को लागू करेंगे। इसके लिए पिछले कई महीनों से आर एंड डी टीम के प्रभारी व ज्वाइंट सीपी (ओ) सैयद वकार रजा के नेतृत्व में रिसर्च चल रहा था। कोलकाता पुलिस इस साल दुर्गा पूजा में महानगरवासियों और दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए इस सिस्टम को ला रही है। सूत्रों के अनुसार शुक्रवार को लालबाजार में इस सिस्टम को लेकर कोलकाता पुलिस कमिश्नर विनीत गोयल और आर एंड डी टीम के अधिकारियों की बैठक हुई। बैठक के दौरान आर एंड डी टीम के अधिकारियों ने पुलिस कमिश्नर को उक्त सिस्टम के बारे में जानकारी दी। सीपी ने इस नये स‌िस्टम को हरी झंडी दे दी है।
क्या है पूजा क्यू वेटिंग एंड टाइम डिस्प्ले सिस्टम
पुलिस सूत्रों के अनुसार पूजा क्यू एंड वेटिंग सिस्टम एक अत्याधुनिक सिस्टम है। इस सिस्टम के जरिए किस पूजा पंडाल के बाहर लोगों की कितनी भीड़ है, इसका आसानी से पता चल जाएगा। इस सिस्टम को पुलिस जीपीएस, ऐप और एक वेबसाइट की मदद से व्यवहार करेगी। इसके लिए चिह्नित बड़े पूजा पंडालों के बाहर पुलिस की एक टीम रहेगी जो कैमरा और बैकपेक और विशेष कैमरे की सहायता से वहां मौजूद लोगों की संख्या को गिनेगी और वहां पर खतार में खड़े लोगों की तस्वीर लेगी। इसके बाद उस भीड़ को पंडाल के अंदर प्रवेश करने व बाहर निकलने का समय भी बताएगी। ऐसे में एक पूजा पंडाल में कितना समय लगेगा इसकी जानकारी भी दी जाएगी।
शहर के महत्वपूर्ण क्रॉसिंग व सोशल मीडिया पर दी जाएगी जानकारी
पुलिस सूत्रों के अनुसार इस साल दुर्गा के पंचमी के दिन से इस नए सिस्टम का इस्तेमाल किया जाएगा। इस साल महानगर के 15-20 महत्वपूर्ण पूजा पंडालों में उमड़ीलोगों की भीड़ और वहां पर कतार में खड़े लोगों की रियल टाइम वेटिंग टाइम के बारे में विभिन्न महत्वपूर्ण क्रॉसिंग और सोशल मीडिया पर जानकारी दी जाएगी। इससे आम नागरिक और दर्शनार्थी अपनी सु‌विधा के अनुसरा भीड़-भाड़ वाले पूजा पंडालों में पहुंचेंगे।

Visited 158 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

कोलकाता : मेट्रो रेलवे द्वारा चलाये जा रहे स्पेशल नाइट मेट्रो के समय को 20 मिनट कम कर दिया गया
कोलकाता: पश्चिम बंगाल के न्यू जलपाईगुड़ी के पास 17 जून को हुए ट्रेन हादसे ने देशवासियों को झकझोर कर रख
कोलकाता : अगले दो से तीन घंटों में कोलकाता में हल्की बारिश होने वाली है। शहर के अधिक हिस्सों में
पटना: नीट पेपर लीक मामला पूरे देशभर में छाया हुआ है। बिहार के डिप्टी सीएम विजय सिन्हा ने बड़ा दावा
कोलकाता : मानसून दस्तक देने वाला है। इससे पहले इसे लेकर तैयारियों को पूरा करने का निर्देश शहरी विकास तथा
कोलकाता: मौसम विभाग के पूर्वानुमान पर लोगों का भरोसा खत्म हो गया है। पिछले कुछ दिनों से बारिश का पूर्वानुमान
पटना: नीतीश सरकार को पटना हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है। बिहार में आरक्षण का दायरा बढ़ाए जाने के नीतीश
नोएडा: देश के उत्तरी हिस्सों में भीषण गर्मी पड़ रही है। नोएडा में अलग-अलग जगहों पर बीते मंगलवार को 14
कोलकाता: बंगाल में लोकसभा चुनाव के नतीजे वाले दिन डेबरा में पुलिस कस्टडी में BJP कार्यकर्ता की मौत हुई थी।
कोलकाता: दक्षिण बंगाल के अधिकांश हिस्सों में आज सुबह से ही आसमान में बादल मंडरा रहा है। धूप नहीं होने
नई दिल्ली: NEET परीक्षा को लेकर दायर कई याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान काउंसलिंग रोकने और तत्काल
कोलकाता : मेट्रो की ओर से रात 11 बजे चलायी जा रही नाइट स्पेशल मेट्रो से कम आय हो रही है।
ऊपर