Bahula Chauth 2023: बहुला चौथ आज, जानिए व्रत का महत्व …

शेयर करे

कोलकाता : सनातन धर्म में भाद्रपद माह में श्रीकृष्ण और श्रीगणेश की पूजा का विशेष महत्व है। भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को बहुला चतुर्थी, बोलचौथ और संकष्टी चतुर्थी के नाम से जाना जाता है। इस दिन गणेशजी के साथ-साथ श्रीकृष्ण एवं गायों की पूजा का विधान है। धार्मिक मान्यता के अनुसार श्रीकृष्ण को बहुला नाम की गाय से बहुत प्रेम था। पौराणिक कथा के अनुसार श्रीकृष्ण ने स्वंय कहा था कि भाद्रपद की इस चतुर्थी पर जो गायों की पूजा करेगा उसे धन और संतान का सुख प्राप्त होगा। इस वर्ष बहुला चतुर्थी का त्योहार 03 सितंबर,रविवार को मनाया जाएगा।
बहुला चतुर्थी का महत्व
बहुला चौथ निसंतान दम्पत्ति को संतान प्रदान करने, संतान के कष्टों को हरने वाला और धन-धान्य प्रदान करने वाला व्रत माना गया है। इस व्रत को करने से श्रीकृष्ण के आशीर्वाद से सभी लौकिक और परलौकिक सुख प्राप्त होते हैं। इस व्रत को रखने से संतान को कष्टों से मुक्ति मिलती है और जीवन में आई हुई कठिनाइयां दूर होती हैं।
बहुला चौथ की पूजा विधि
बहुला या संकष्टी चतुर्थी के दिन सूर्योदय से पहले उठें, इसके बाद स्नान करें और साफ वस्त्र धारण करें। महिलाएं पूरा दिन निराहार व्रत रखकर शाम के समय गाय और बछड़े की पूजा करती हैं। शाम को पूजा में कई तरह के पकवान बनाए जाते हैं जिन्हें भगवान गणेश और श्रीकृष्ण को अर्पित किया जाता है। इस भोग को बाद में गाय और बछड़े को खिला दिया जाता है। पूजा के बाद दाएं हाथ में चावल के दाने लेकर बहुला चौथ की कथा सुननी चाहिए,तत्पश्चात गाय और बछड़े की प्रदिक्षणा कर सुख-शांति की प्रार्थना करें। चंद्रमा के उदय होने के बाद जल में दूध मिलाकर अर्ध्य देकर चंद्रदेव से घर की सुख-शांति की प्रार्थना करें।
पौराणिक कथा
पौराणिक ग्रंथों के अनुसार कृष्णजी की लीलाओं को देखने के लिए कामधेनु गाय ने बहुला के रूप में नन्द की गोशाला में प्रवेश किया। कृष्ण जी को यह गाय बहुत पसंद आई, वे हमेशा उसके साथ समय बिताते थे। बहुला का एक बछड़ा भी था, जब बहुला चरने के लिए जाती तब वो उसको बहुत याद करता था। एक बार जब बहुला चरने के लिए जंगल गई, चरते चरते वो बहुत आगे निकल गई, और एक शेर के पास जा पहुंची। शेर उसे देख खुश हो गया और अपना शिकार बनाने की सोचने लगा। बहुला डर गई, और उसे अपने बछड़े का ही ख्याल आ रहा था। जैसे ही शेर उसकी ओर आगे बढ़ा, बहुला ने उससे बोला कि वो उसे अभी न खाए, घर में उसका बछड़ा भूखा है, उसे दूध पिलाकर वो वापस आ जाएगी, तब वो उसे अपना शिकार बना ले। शेर ने कहा कि मैं कैसे तुम्हारी इस बात पर विश्वास कर लूं? तब बहुला ने उसे विश्वास दिलाया और कसम खाई कि वो जरूर आएगी। बहुला वापस गौशाला जाकर बछड़े को दूध पिलाती है और बहुत प्यार कर उसे वहां छोड़, वापस जंगल में शेर के पास आ जाती है। शेर उसे देख हैरान हो जाता है। दरअसल, ये शेर के रूप में श्रीकृष्ण होते हैं, जो बहुला की परीक्षा लेने आते है। कृष्ण अपने वास्तविक रूप में आ जाते है, और बहुला को कहते है कि मैं तुमसे बहुत प्रसन्न हुआ, तुम परीक्षा में सफल रही। समस्त मानव जाति द्वारा सावन महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन तुम्हारी पूजा अर्चना की जाएगी और समस्त जाति तुमको गौमाता कहकर संबोधित करेगी व जो भी ये व्रत रखेगा उसे सुख, समृद्धि, धन, ऐश्वर्या व संतान की प्राप्ति होगी।

Visited 114 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

16 जुलाई से बढ़ाकर की गयी 19 जुलाई कोलकाता : बीए, बीएससी और बीकॉम की परीक्षा में ऑनलाइन फॉर्म जमा
कोलकाता : महज 25 वर्ष की उम्र में मधुपर्णा ठाकुर विधायक बनी हैं और ऐसा कर उन्होंने सबसे कम उम्र
कोलकाता : ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने रायगंज, बागदा, राणाघाट दक्षिण और मानिकतला सीट पर हुए उपचुनाव में
कोलकाता : चिंगड़ीहाटा फ्लाईओवर बीमार है, इसमें कोई दो राय नहीं है लेकिन इतना भी नहीं कि इसे तोड़ने की
अल्टीमेटम का असर : 3 दिन के अभियान में 20% तक कम हुईं सब्जियों की कीमतें कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता
मिलेंगे और मौके, उच्च शिक्षा विभाग 2 राउंड की काउंसलिंग करेगा आयोजित सेंट्रलाइज्ड एडमिशन पोर्टल की​ पहली मेरिट लिस्ट जारी
6 महीने से 2 साल तक के बच्चों को खतरा अधिक  कोलकाता : बारिश का मौसम तो चालू हो गया
बेलघरिया : अड़ियादह तालतल्ला क्लब के कर्णधार जयंत सिंह को लेकर एक के बाद एक कई खुलासे हो रहे हैं।
कोलकाता : डीजी यात्रा का कमाल अब एयरपोर्ट पर दिखने लगा है। एक तो बड़ी आसानी से यात्रियों को बोर्डिंग
कोलकाता : दक्षिण बंगाल के लोगों को भारी बारिश के लिए इंतजार करना होगा। गांगेय इलाकों में फिलहाल भारी बारिश
मानसून के लिए मेट्रो रेलवे ने की पूरी तैयारी कोलकाता : यात्रियों के लिए बारिश के मौसम में सुचारु और
कोलकाता : सेकेंड हुगली ब्रिज की मरम्मत के पहले चरण का काम एक सप्ताह के भीतर पूरा हो जायेगा। यह
ऊपर