World Pulses Day 2024 : क्यों आज के दिन मनाया जाता है दलहन दिवस, जानिए …

नई दिल्ली : दुनियभर में दलहन दिवस यानी दालों का दिन 10 फरवरी को मनाया जाता है। इस दिवस की शुरुआत वैश्विक स्तर पर दालों के महत्व और उसकी माध्यम से प्राप्त होने वाले पोषिक तत्वों को ध्यान में रखते हुए की गई थी। दालों का प्रयोग न केवल पोषण प्राप्त करने के लिए किया जाता है बल्कि इसके माध्यम से भूख मरी और गरीबी को मिटाने में भी सहायता मिल रही है। दालें सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी खानपान का जरूरी हिस्सा हैं। वेजिटेरियनस के लिए तो दालें ही प्रोटीन का सबसे बड़ा स्त्रोत माना जाता हैं। विश्व दलहन दिवस स्थायी खाद्य उत्पादन के हिस्से के रूप में दालों के पोषण के साथ ही पर्यावरणीय लाभों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए मनाया जाता है।

क्या है 2024 का थीम ?

बता दें कि साल 2016 में जब दलहन के लिए अंतर्राष्ट्रीय वर्ष मनाया गया था, तब इसके लिए एक थीम का चुनाव किया गया था और यह तभी से इस दिन को हर साल एक नई थीम के साथ मनाया जा रहा है। इस साल 2024 में विश्व दलहन दिवस की थीम “दालें: पौष्टिक मिट्टी और लोगों” रखी गई है। इस थीम का मतलब होता हैं स्वस्थ मिट्टी और लोगों की कुंजी के रूप में दालों के बारे में जागरूकता बढ़ाना।

विश्व दलहन दिवस का उद्देश्य

सयुक्त राष्ट्र संघ दालों का उत्पादन बढ़ाकर दुनिया में गरीब कुपोषित देशों को पोषक तत्वों से भरपूर खाना उपलब्ध करवाना चाहता है। क्योंकि दालों में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते है।

विश्व दलहन दिवस का इतिहास

बता दें कि, संयुक्त राष्ट्र की महासभा द्वारा 20 दिसंबर 2013 में प्रस्ताव से अंतर्राष्ट्रीय दलहन दिवस मानने का निर्णय लिया गया। ‘अंतर्राष्ट्रीय दलहन दिवस’ पहली बार साल 2016 में मनाया गया था। बाद में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 10 फरवरी 2019 को विश्व दाल दिवस के रूप में मनाने के लिए प्रस्ताव पारित किया था। जिसके बाद से 10 फरवरी को दाल दिवस मनाते है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

Loksabha Election 2024: आज बंगाल में गरजेंगे अमित शाह और राजनाथ सिंह, दार्जिलिंग पर रहेगी नजर

कोलकाता: लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर पहले चरण का मतदान पूरा हो चुका है। 26 अप्रैल को दूसरे चरण की वोटिंग होनी है। उससे पहले आगे पढ़ें »

West Bengal Weather: बंगाल के कई जिलों में भीषण गर्मी के बीच बारिश के आसार, जानें मौसम पर अपडेट

कोलकाता: बंगाल बीते कई दिनों से भीषण गर्मी की चपेट में है। सुबह की शुरुआत होने के बाद से अब फिर तापमान धीरे-धीरे बढ़ रहा आगे पढ़ें »

ऊपर