Iran Israel News: कभी ईरान-इजराइल थे अच्छे दोस्त, फिर कैसे बने एक-दूसरे के कट्टर दुश्मन ?

नई दिल्ली: ईरान और इजराइल दोनों के बीच विवाद बढ़ता जा रहा है। ईरान ने इजराइल पर ड्रोन, बैलिस्टिक मिसाइल और क्रूज मिसाइलों से हमला कर दिया। ईरान ने इजराइल के नवातिम एयरबेस पर अटैक किया, लेकिन इसके बावजूद इजराइल का ज्यादा नुकसान नहीं हुआ। इजराइली सेना ने दावा किया कि करीब 99 फीसदी ड्रोन और मिसाइलों को इजराइल की सीमा में घुसने से पहले ही तबाह कर दिया गया। ये पहली बार है कि जब ईरान ने इजराइल पर सीधा हमला किया है। 1979 तक ईरान और इजराइल के संबंध भी बहुत अच्छे थे। आपको बताते हैं कि 1979 के बाद ऐसा क्या हुआ, जिससे ईरान और इजराइल के संबंध बिगड़ते चले गए। वर्तमान में ईरान और इजराइल में युद्ध जैसे हालात हैं। दरअसल, 1 अप्रैल को सीरिया में ईरानी एंबेसी के पास अटैक हुआ था और उसमें ईरान के 2 टॉप कमांडर मारे गए थे। इसके अलावा 13 अन्य लोग भी मारे गए थे। इस हमले का आरोप ईरान ने इजराइल पर लगाया था और सबक सिखाने की बात कही थी। इसी के बाद ईरान ने इजराइल पर ड्रोन और मिसाइल से अटैक किया।

कभी ईरान और इजराइल के संबंध थे अच्छे

बता दें कि इजराइल और ईरान में रिश्ते हमेशा से इतने खराब नहीं था। 1979 तक दोनों देश अच्छे संबंध रखते थे। ईरान तो तुर्की के बाद दूसरा मुस्लिम बहुल देश था जिसने इजराइल के साथ संबंध स्थापित किए थे। लेकिन 1979 में जब ईरान में इस्लामिक क्रांति हुई तो ईरान ने इजराइल से अपने रिश्ते खत्म कर लिए। तब से लेकर आज तक ईरान और इजराइल दोस्त नहीं बन पाए। ईरान ने इससे पहले कभी सीधे तो इजराइल पर हमला नहीं किया था लेकिन साथियों के जरिए इजराइल की मुश्किलें जरूर बढ़ाई हैं।

ये भी पढ़ें- Iran Israel News: ईरान से आई अच्छी खबर, जहाज में फंसे 17 भारतीयों से मिल सकेंगे अधिकारी

कैसे खराब हुए ईरान-इजराइल के रिश्ते?

ईरान में इस्लामिक क्रांति आने के बाद अयातुल्लाह खामेनेई देश के सुप्रीम लीडर बने। उन्होंने इजराइल को छोटा शैतान और अमेरिका को बड़ा शैतान तक कह डाला। खामेनेई ने ये भी आरोप लगाया कि ये दोनों देश इलाके में हस्तक्षेप करने की कोशिश करते हैं। 1979 से पहले जिस ईरान के इजराइल से अच्छे रिश्ते थे वह अयातुल्लाह खामेनेई के आने के बाद इजराइल को फिलीस्तीन की जमीन पर कब्जा करने वाला मानने लगा।

किसकी सैन्य ताकत है ज्यादा?

ईरान और इजराइल की ताकत की बात करें तो इजराइल की सेना में 1 लाख 73 हजार सैनिक हैं। वहीं ईरान की आर्मी में 5 लाख 75 हजार एक्टिव जवान हैं। हवाई ताकत में इजराइल आगे है। इजराइल की एयरफोर्स में 612 प्लेन हैं तो ईरान के पास 551 प्लेन ही हैं। टैंक के मामले में ईरान मजबूत है। उसके पास इजराइल से करीब दोगुना टैंक हैं। इजराइल के पास 2200 तो ईरान के पास 4000 से ज्यादा टैंक हैं। युद्धपोत में भी ईरान आगे है। इजराइल के पास 67 तो ईरान के पास 101 युद्धपोत हैं। वहीं, इजराइल के पास 43 हजार तो ईरान के पास 65 हजार बख्तरबंद गाड़ियां हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार, इजराइल के पास करीब 80 परमाणु बम हैं। लेकिन ईरान आधिकारिक तौर पर परमाणु संपन्न देश नहीं है।

Visited 19 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata Metro Timing : आज से रात 11 बजे के बाद भी चलेगी मेट्रो !

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि मेट्रो रेलवे आज यानी 24 मई से प्रायोगिक तौर पर रात में ब्लू लाइन आगे पढ़ें »

Weather Update: बंगाल में भीषण गर्मी के बीच आज 3 जिलों में बदलेगा मौसम, कहां-कहां होगी बारिश ?

कोलकाता: बंगाल में लोगों को लू और गर्म हवा का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग की मानें तो गर्मी की लहर अभी कम आगे पढ़ें »

KKR की जीत पर शाहरूख ने दी बधाई.. कहा ‘मेरे लड़के, मेरी टीम, मेरे चैम्पियंस, मेरे केकेआर के स्टार…

Singapore Open 2024: पीवी सिंधु ने डेनमार्क की खिलाड़ी को हराया

ममता ने रेमल से क्षतिग्रस्त दक्षिण 24 परगना का किया दौरा…

बिहार में भीषण गर्मी का प्रकोप, 8 जून तक बंद रहेंगे सभी स्कूल

इंडिगो ने दिया महिला यात्रियों को तोहफा…

मिसाइल RudraM-II का सफल परीक्षण, पलक झपकते ही दुश्मनों को करेगा तबाह

कोलकाता के बेटे ने न्यूयॉर्क में किया नाम रौशन…

महिला पत्रकार ने टीवी चैनल के निर्देशक के खिलाफ लगाया छेड़छाड़ का आरोप….

PM मोदी पर CM ममता बनर्जी का तंज, ‘जो भगवान है उसे राजनीति में नहीं आना चाहिए’

भाजपा को सर्वाधिक सफलता बंगाल में मिलेगी : PM मोदी

ऊपर