Holi 2024 : होलिका दहन की अग्नि में जरूर डालें ये 5 चीज, सुख-समृद्धि की कभी …

कोलकाता : होली का त्योहार होलिका दहन से शुरू हो जाता है। धार्मिक दृष्टि से देखें तो होलिका दहन एक पवित्र परंपरा है। इस साल होलिका दहन 24 मार्च को होगा। कई लोग होलिका दहन के बाद सुख-समृद्धि के लिए होलिका की पूजा करते हैं, लेकिन, क्या आपको पता है कि होलिका पूजन में किन सामग्रियों को अर्पण करना चाहिए? ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, अगर कुछ चुनिंदा वस्तुओं को होलिका दहन में डाला जाए तो घर से रोग-दोष समाप्त हो जाता है। होलिका दहन अच्छाई पर बुराई की जीत का प्रतीक माना जाता है। दहन में कुछ उपाय करने से शुभ होता है। ऐसी मान्यता है कि होलिका दहन में कुछ चीजों को अर्पण करने से सुख समृद्धि, खुशहाली और परिवार में सभी सदस्यों को रोगों से निजात मिलती है।वहीं, होलिका दहन के अगले दिन राख को अवश्य माथे पर लगाएं।

होलिका दहन में इन चीजों को करें अर्पण

चंदन की लकड़ी
होलिका दहन के दिन जलती हुई अग्नि में इन प्रमुख चीजों का अर्पण अवश्य करना चाहिए, जैसे चंदन की लकड़ी को होलिका दहन के दिन जलाना चाहिए। जलती होलिका की अग्नि में चंदन की लकड़ी डालने से घर में सुख समृद्धि बनी रहती है।

गोबर के उपले
होलिका की दहकती अग्नि में गोबर के उपले डालने चाहिए। इससे सभी तरह की नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है। घर में शांति आती है।

कपूर को भी डालें
होलिका दहन के दिन जलते हुई अग्नि में कपूर और उसके साथ पान का पत्ता, लौंग अवश्य अर्पण करना चाहिए। इससे परिवार के सदस्य रोग से मुक्त होते हैं।

गेहूं की बाली
होलिका दहन के समय अग्नि में गेहूं की बाली अवश्य डालें। इससे घर में कभी अनाज की कमी नहीं होगी।

काला तिल
होलिका दहन के दिन अगर जातक अग्नि में काला तिल डालते हैं तो सभी प्रकार के दोष समाप्त होते हैं। घर में खुशहाली आती है।

Visited 55 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Weather Update: बंगाल में भीषण गर्मी के बीच आज 3 जिलों में बदलेगा मौसम, कहां-कहां होगी बारिश ?

कोलकाता: बंगाल में लोगों को लू और गर्म हवा का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग की मानें तो गर्मी की लहर अभी कम आगे पढ़ें »

SSC के बाद TET प्रश्नपत्र का मामला, कलकत्ता हाईकोर्ट ने दिया निर्देश

कोलकाता: SSC घोटाले के बाद अब बारी TET 2017 से जुड़े मामलों की है। आज कलकत्ता हाईकोर्ट ने इस पर बड़ा आदेश दिया। बता दें आगे पढ़ें »

ऊपर