इस दिन से आप भी कर सकेंगे 6 मिनट में Howrah टू Esplanade की यात्रा

6 मार्च को पीएम करेंगे अंडररिवर मेट्रो का उद्घाटन व ऐतिहासिक सफर

5 लाख स्क्वायर फीट एरिया में बना मेट्रो स्टेशन जमीन से है 33 मीटर नीचे

230 मीटर लंबे प्लेटफाॅर्म में 3 और प्लेटफाॅर्म समा सकें इतना है स्पेस

ग्रीन लाइन के सबसे ज्यादा यानी 32 एएफसी-पीसी गेट

हावड़ा : देश में पहली बार मेट्रो गंगा नदी के नीचे से गुजरने वाली है। अब आगामी बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ईस्ट-वेस्ट मेट्रो के हावड़ा मैदान से एस्प्लेनेड के 4.8 किमी की परियोजना समेत 3 मेट्रो परियोजना का उद्घाटन करेंगे। साथ ही प्रधानमंत्री अंडररिवर मेट्रो का ऐतिहासिक सफर करेंगे। उनके द्वारा उद्घाटन के बाद इसे जल्द ही आम लोगों के लिए खोला जायेगा। इंजीनियरों की यह बेमिसाल पेशकश यात्रियों को अपनी तरह की यादगार अनुभव प्रदान करेगी। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर हम बात करें हावड़ा से हावड़ा ब्रिज पार कर बड़ाबाजार आने की तो उसमें आम तौर पर 10 मिनट का समय लगता है। वहीं हावड़ा मैदान से एस्प्लेनेड की दूरी को अगर नापा जाये तो बस से यात्री करीब 22 मिनट में एस्प्लेनेड पहुंचते हैं, मगर मेट्रो के शुरू होते ही मिनटों की दूरी सेकेंडों में तब्दील हो जायेगी क्योंकि ट्रेन गंगा के नीचे बने 520 मीटर के टनल को केवल 45 सेकेंड में पार कर लेगी।

यात्री हावड़ा से एस्प्लेनेड केवल 6 मिनट में पहुंच जायेंगे। हावड़ा मेट्रो स्टेशन ​जो कि देश का पहला और एशिया का दूसरा सबसे गहरा मेट्रो स्टेशन है जमीन से 33 मीटर नीचे है जबकि एशिया का सबसे गहरा मेट्रो स्टेशन हांगकांग में है, जिसकी गहराई करीब 60 मीटर है यानी हांगकांग के बाद हावड़ा स्टेशन एशिया का दूसरा सबसे गहरा मेट्रो स्टेशन है। इसकी तस्वीर कोलकाता मेट्रो सोशल साइट पर पोस्ट कर दी गयी है।

साल्टलेक सेक्टर- 5 से हावड़ा मैदान मेट्रो रूट कुल 14.67 किलोमीटर लंबी ईस्ट वेस्ट मेट्रो परियोजना में 8.90 किलोमीटर का क्षेत्र अंडरग्राउंड होगा जबकि 5.77 किलोमीटर रेल लाइन एलिवेटेड (ऊपरी हिस्से) में होगा। इनमें कुल 12 स्टेशन होंगे, जिसमें हावड़ा मैदान, हावड़ा स्टेशन, महाकरण, एस्प्लेनेड व अन्य के नाम शामिल हैं।

इतने यात्रियों के सफर करने की उम्मीद : हावड़ा में आने वाले लोगों की संख्या 43,065 होने की उम्मीद है, जिसके लिए इंजीनियरिंग फॉर्मूले के अनुसार, कुल 54,000 वर्ग मीटर floor area की आवश्यकता होती है। हावड़ा मेट्रो स्टेशन की तुलना में, टर्मिनल हावड़ा मैदान मेट्रो स्टेशन पर अनुमानित प्रति घंटा फुटफॉल केवल 4,666 है। स्टेशन 18,000 वर्गमीटर में फैला है। महाकरण, व्यस्त समय में 24,418 प्रति घंटा यात्री संख्या की उम्मीद के साथ, 26,000 वर्गमीटर पर बनाया गया है। एस्प्लेनेड मेट्रो स्टेशन 30,000 वर्ग मीटर में फैला है, जहां “पीक ऑवर ट्रैफिक” लगभग 38,000 होने की उम्मीद है।

रिपोर्ट : मेघा शर्मा

 

Visited 33,113 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

गुरुवार के दिन विष्णु भगवान की करें पूजा, इन 3 बातों को रखें ध्यान

नई दिल्ली: गुरुवार के दिन का हिंदूओं में विशेष महत्व है। गुरुवार के दिन भगवान विष्णु और देवताओं के गुरु बृहस्पति देव की पूजा होती आगे पढ़ें »

IPL 2024: दिल्ली कैपिटल्स ने जीता टॉस, गुजरात की पहले बैटिंग, देखें प्लेइंग-11

नई दिल्ली: IPL 2024 में आज भारत के दो युवा क्रिकेटर आमने-सामने होंगे। शुभमन गिल की टीम गुजरात टाइटंस का मुकाबला ऋषभ पंत की टीम आगे पढ़ें »

ऊपर