Chaitra Month Vrat Tyohar 2024: नवरात्रि से हनुमान जयंती तक, चैत्र के महीने में आएंगे ये प्रमुख व्रत-त्योहार

कोलकाता : हिंदू कैलेंडर का पहला महीना चैत्र शुरू हो चुका है। इस साल चैत्र का महीना 26 मार्च से लेकर 23 अप्रैल तक रहने वाला है। हिंदू पंचांग के अनुसार, चैत्र के महीने में कई बड़े और प्रमुख व्रत-त्योहार भी आने वाले हैं। चैत्र के महीने में रंग पंचमी, पापमोचिनी एकादशी, चैत्र नवरात्रि और हनुमान जयंती जैसे त्योहार आने वाले हैं। आइए आपको इस महीने आने वाले व्र त्योहारों की पूरी लिस्ट बताते हैं।
चैत्र के महीने में आने वाले व्रत-त्योहार
गुरुवार, 28 मार्च 2024- भालचंद्र संकष्टी चतुर्थी
मंगलवार, 26 मार्च 2024- चैत्र मास प्रारंभ
शनिवार 30 मार्च 2024- रंग पंचमी
सोमवार, 31 मार्च 2024- शीतला सप्तमी, कालाष्टमी
शुक्रवार, 5 अप्रैल 2024- पापमोचिनी एकादशी
शनिवार, 6 अप्रैल 2024- शनि त्रयोदशी, प्रदोष व्रत
रविवार, 7 अप्रैल 2024- मासिक शिवरात्रि
सोमवार, 8 अप्रैल 2024- चैत्र अमावस्या, सूर्य ग्रहण
मंगलवार, 9 अप्रैल 2024- चैत्र नवरात्रि प्रारंभ, झूलेलाल जंयती, हिंदू नववर्ष प्रारंभ
गुरुवार 11 अप्रैल 2024- मत्स्य जंयती, गौरी पूजा
शुक्रवार, 12 अप्रैल 2024- लक्ष्मी पंचमी
रविवार, 14 अप्रैल 2024- यमुना छठ
मंगलवार, 16 अप्रैल 2024- महातारा जंयती, मासिक दुर्गाष्टमी
बुधवार, 17 अप्रैल 2024- राम नवमी, स्वामीनारायण
शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024- कामदा एकादशी
शनिवार, 20 अप्रैल 2024- त्रिशूर पूरम, वामन द्वादशी
रविवार, 21 अप्रैल 2024- महावीर जयंती, प्रदोष व्रत
मंगलवार, 23 अप्रैल 2024- हनुमान जयंती, चैत्र पूर्णिमा व्रत
चैत्र नवरात्रि 2024
चैत्र के महीने में आने वाले चैत्र नवरात्रि सबसे प्रमुख त्योहार है। इस बार चैत्र नवरात्रि 9 अप्रैल से शुरू होंगे और 17 अप्रैल को महानवमी के साथ इसका समापन होगा। 9 अप्रैल को घटस्थापना के साथ चैत्र नवरात्रि के व्रत का संकल्प लिया जाएगा। इस बार चैत्र नवरात्रि पर मां दुर्गा घोड़े पर सवार होकर आने वाली हैं। कहते हैं कि जब देवी दुर्गा घोड़े पर सवार होकर आती हैं तो जीवन में कुछ समस्याएं भी उत्पन्न होती हैं। हालांकि देवी की साधना करने वालों पर इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है।

Visited 77 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

सिर्फ गर्दन का व्यायाम हमें इतने रोगों से रख सकता है दूर

कोलकाता : रीढ़ की हड्डी को कशेरूक दंड या मेरूदंड कहा जाता है। इससे समस्त कंकाल को सहारा मिलता है। रीढ़ की हड्डी या मेरूदंड आगे पढ़ें »

गुरुवार के दिन विष्णु भगवान की करें पूजा, इन 3 बातों को रखें ध्यान

नई दिल्ली: गुरुवार के दिन का हिंदूओं में विशेष महत्व है। गुरुवार के दिन भगवान विष्णु और देवताओं के गुरु बृहस्पति देव की पूजा होती आगे पढ़ें »

ऊपर