Durga Puja 2023 : कहीं मिलेगी पुरानी सभ्यता की झलक तो कहीं मण्डप के बाहर विराजेंगी मां

शेयर करे

कोलकाता : शनिवार को महालया के साथ ही पश्चिम बंगाल के सबसे बड़े त्योहार दुर्गा पूजा की शुरुआत हो गयी है। सभी पूजा पण्डाल अपनी अलग-अलग थीम, लाइटिंग और सजावट के साथ लोगों की भीड़ खींचने को तैयार हैं। कोलकाता के पूजा पण्डालों में थीम वॉर जोरों पर चलता है और अब लगभग सभी पूजा पण्डालों का काम पूरा हो चुका है। मां दुर्गा पूजा पण्डालों की ओर जाने भी लगी हैं।
चेतला अग्रणी : जे जेखाने दारिये


इस बार दक्षिण कोलकाता का प्रख्यात चेतला अग्रणी का दुर्गोत्सव 31वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है जिसकी थीम जे जेखाने दारिये है। इस साल पण्डाल में डिजाइन इंस्टॉलेशन ही पण्डाल का नयापन है जो यह दर्शायेगा कि किस तरह श्रमिक वर्ग अपनी रोजमर्रा की जिंदगी जीता है और किस तरह समाज में स्थापित लोग अपने सपनों को पूरा करने के लिये आगे बढ़ते हैं।
त्रिधारा सम्मिलनी : उत्सोब


सजावट के मामले में त्रिधारा सम्मिलनी के पूजा पण्डाल का हमेशा ही कोई जवाब नहीं रहता है। इस साल पूजा 77वें वर्ष में प्रवेश कर रही है और पूजा की थीम फेस्टिवल अथवा उत्सोब है। चूं​कि दुर्गा पूजा पश्चिम बंगाल का सबसे बड़ा त्योहार है और पण्डाल के बाहर थीम को दर्शाने की कोशिश की गयी है। वहीं इंटीरियर का काम इलेक्ट्रिकल पाइप और लोहे की संरचनाओं से किया गया है। यह दक्षिण कोलकाता के प्रख्यात पण्डालों में एक है।
कुम्हारटोली पार्क : एम्बिशन


उत्तर कोलकाता के कुम्हारटोली पार्क में इस बार ‘एम्बिशन’ की थीम पर पूजा पण्डाल बनाया गया है। जीवन में समय के साथ कैसे अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ना चाहिये, इसे पण्डाल में दर्शाया गया है। इसके लिये चेयर से पण्डाल बनाया गया है कि किस प्रकार लोग कुर्सी के लिये जीवन भर भागमभाग करते हैं।
भवानीपुर 75 पल्ली : पहाड़ी फलों से बना पण्डाल


भवानीपुर 75 पल्ली की दुर्गा पूजा 59वें वर्ष में प्रवेश कर रही है। इस बार पूजा मंडप का निर्माण पहाड़ी फलों पर आधारित थीम पर किया जा रहा है। समाज में कोई भी परंपरा रातोंरात विकसित नहीं होती है, इनकी जड़ें काफी गहरी होती हैं। यह पूजा पंडाल पहाड़ी फलों से बनाया जा रहा है। मंडप में इन फलों को पारंपरिक तरीके से संसाधित और सजावट के लिए उपयोग किया गया है।

यंग बॉयज क्लब : ‘देवी दुर्गा-ब्रह्मांड की शक्ति’ थीम


यंग बॉयज क्लब इस वर्ष ‘देवी दुर्गा – ब्रह्मांड की शक्ति’ थीम पर मंडप का निर्माण कर रहे हैं। हिंदू पौराणिक कथाओं में देवी दुर्गा को सबसे शक्तिशाली माना गया है। देवी दुर्गा की दस भुजाएं इस बात की प्रतीक हैं कि वह अपने भक्तों की सभी दिशाओं – आठ कोनों, आकाश और पृथ्वी से रक्षा करती हैं। उनके हाथ में 10 ग्लोब विराजमान है, जो यह दर्शाता है कि देवी दुर्गा पूरे पृथ्वी पर कैसे इन 10 ग्लोबों के जरिये अपने भक्तों को सभी कठिनाइयों और समस्याओं से बचा रही हैं। मंडप के बाहर 32 फुट की मां दुर्गा की प्रतिमा भक्तों के बीच वैश्विक शक्ति के स्रोत के प्रतीक के रूप में विराजमान रहेगी।
तुलापट्टी सार्वजनिक दुर्गोत्सव : श्री द्वारकाधीश मंदिर


तुलापट्टी मोहल्ला कमेटी की ओर से आयोजित तुलापट्टी सार्वजनिक दुर्गोत्सव इस बार 68वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है। इस बार यहां द्वारकाधीश मंदिर बनाया गया है। जीवन में जिस प्रकार प्रेम व मोहब्बत कम हो रहा है, उसे देखते हुए श्री कृष्ण के पूरे जीवन को मंदिर में दर्शाने की कोशिश की गयी है। केवल दुर्गा पूजा ही नहीं ब​ल्कि महिलाओं को सिलाई मशीन व स्टूडेंट्स को लैपटॉप देने जैसे सामाजिक कार्य भी पूजा कमेटी द्वारा किये जा रहे हैं।

Visited 142 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

कोलकाता : सीएम ममता बनर्जी राज्यपाल पर खूब बरसीं। उन्होंने कहा लाइन मानकर चलिए लाइन से बाहर नहीं। याद रखिए
नई दिल्ली :  मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल के पहले आम बजट को पेश करते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला
नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में तीसरी बार बनी सरकार ने अपना पहला बजट पेश कर दिया
नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में बजट पेश कर रही हैं। उन्होंने कहा, 'भारत की जनता ने
कोलकाता : विधायकों के शपथ ग्रहण को लेकर विधानसभा और राजभवन के बीच तकरार जारी है। स्पीकर विमान बनर्जी ने
बर्दवान : शक्तिगढ़ के प्रसिद्ध लेंग्चा दुकानों में बासी लेंग्चा, मिठाइयां बेचे जाने के विरुद्ध स्वास्थ्य विभाग, जिला पुलिस, क्रेता
कोलकाता: नीति आयोग की बैठक से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिल सकती हैं। राज्य की सभी
कोलकाता : सप्ताह में मंगलवार का दिन संकट मोचन बजरंगबली को समर्पित होता है। इस दिन उनकी पूजा अर्चना करने
कोलकाता : तृणमूल से चारों नवनिर्वाचित विधायक पहुंचे विधानसभा। शपथ समारोह के लिए प्रक्रिया शुरू। कल चारों विधानसभा में ही
कोलकाता : कहते हैं भगवान शिव काफी भोले होते हैं। वह भक्तों के जरा से प्रयासों से भी खुश हो
कोलकाता : 22 जुलाई से सावन का पावन महीना शुरू हो रहा है। इस साल सावन की शुरुआत सोमवार से
मुख्य बातें एयरपोर्ट यात्री ध्यान दें घर से निकलने से पहले बोर्डिंग पास निकाल लें एयरपोर्ट पर मौजूद एयरलाइंस के
ऊपर