…तो क्या यूपीआई ट्रांजैक्शन पर अब देना होगा चार्ज?

नई दिल्‍ली : डिजिटल लेनदेन में सबसे बड़ी भूमिका निभाने वाले यूपीआई के जरिये भुगातन क्‍या 1 अप्रैल से महंगा होने जा रहा है। कई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि अगले महीने से 2000 रुपये से ज्‍यादा के यूपीआई भुगतान पर 1.1 फीसदी शुल्‍क देना होगा। हालांकि, इस पर फैल रहे भ्रम को दूर करते हुए भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) ने बाकायदा स्‍पष्‍टीकरण जारी किया है। एनपीसीआई की मानें तो यूपीआई के जरिये भुगतान आगे भी फ्री और आसान बना रहेगा। इसका ग्राहकों पर कोई असर नहीं पड़ेगा। यह पहले की तरह की पूरी तरह मुफ्त रहेगा। इससे पहले कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि 1 अप्रैल से 2000 रुपये से ज्‍यादा के लेनदेन पर 1.1 फीसदी शुल्‍क देना पड़ेगा। डिजिटल भुगतान में यूपीआई की ही हिस्‍सेदारी सबसे ज्‍यादा होती है। इस कदम से यूपीआई भुगतान को बड़ा झटका लगता और इसी बात को लेकर ग्राहकों में सबसे ज्‍यादा चिंता बढ़ रही थी। हालांकि, एनपीसीआई ने अब इस बारे में स्थिति साफ कर दी है। बैंक खाते से खाते में ट्रांजेक्‍शन की कुल हिस्‍सेदारी 99 फीसदी से ज्‍यादा है।

हर महीने यूपीआई से 8 अरब भुगतान
एनपीसीआई ने ट्वीट कर बताया कि यूपीआई के जरिये हर महीने करीब 8 अरब ट्रांजेक्‍शन होता है। इसका फायदा खुदरा ग्राहकों को मिल रहा है। यह सुविधा आगे भी मुफ्त बनी रहेगी और खाते से खाते में लेनदेन पर किसी तरह का शुल्‍क नहीं लिया जाएगा। इसका मतलब हुआ कि फोनपे, पेटीएम, गूगल पे से यूपीआई भुगतान पहले की ही तरह मुफ्त बना रहेगा।

 

Visited 142 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Jammu Kashmir: जम्मू का नौसेना कर्मी जहाज से लापता, परिवार ने सीबीआई जांच की मांग की

जम्मू : नौसेना कर्मी साहिल वर्मा मुंबई में भारतीय नौसेना के एक जहाज से लापता हो गए। साहिल वर्मा जम्मू के घो मन्हासा के रहने आगे पढ़ें »

अब 4 दिन बाद ही मेट्रो से कर सकेंगे हावड़ा मैदान से रूबी तक का सफर

एक नजर हावड़ा मेट्रो से किराये पर (मेट्रो सूत्रों के अनुसार ) हावड़ा मैदान तक के लिए किराया 5 रुपये होगा। दक्षिणेश्वर, बारानगर और नोआपाड़ा : 30 आगे पढ़ें »

ऊपर
error: Content is protected !!