अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहे हैं महानगर के कई एसी बस स्टैंड

– भीषण गर्मी में यात्रियों को राहत देने के लिए तैयार की गई एसी बस स्टैंड आज नशाखोरों का बन गया है अड्डा
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : चिलचिलाती धूप और उमस के कारण लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं समय-समय पर बिजली की आंख मिचौली से लोगों की दिक्कतें और भी बढ़ गई हैं। महानगर में भीषण गर्मी के कारण एकतरफ जहां पैदल राहगीरों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है वहीं ट्रैफिक जाम और उमस की वजह से सार्वजनिक वाहनों में यात्रा करना और भी कठिन होता जा रहा है। भीषण गर्मी से लोगों को राहत देने के लिए सरकार ने सार्वजनिक वाहनों से यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए महानगर के कई प्रमुख जगहों पर एसी बस स्टैंड का निर्माण ताे जरूर करवाया है पर अब वो बस स्टैंड बस नाम के ही एसी बस स्टैंड रह गये हैं। कई बस स्टैंडों की हालत बदतर है और तो और उन बस स्टैंडों को नशाखोरों ने अपना अड्डा बना लिया है।
कई स्टैंडों से एसी है नदारद
एसी बस स्टैंडों की स्थिति खस्ताहाल इसलिये हैं क्यों‌कि उद्घाटन के बाद से ही यहां का उचित रखरखाव नहीं किया गया है। अब तो स्थिति ऐसी हो गई है कि यात्रियों को धूप के थप्पेड़ों से राहत देना वाला बस स्‍टैंड अब नशाखोरों का अड्डा बन चुके हैं। कहने को तो यह एसी बस स्टैंड है पर यहां लगी एसी या तो काम नहीं करती या फिर कहीं एसी ही नदारद है।
निर्माण के बाद से ही बंद पड़ा है बस स्टैंड
बेलियाघाटा स्थित एक बस स्टैंड की हालत तो इतनी खराब है कि लोग भीषण गर्मी में भी बस स्टैंड के अंदर जाने के बजाय बाहर खड़े होकर ही बसों का इंतजार करते दिखें। बस स्टैंड पर मिंटो पार्क से आये प्रदीप कुमार ने बताया कि ‘मेरा ऑफिस यहीं है। मैं प्रतिदिन यहीं से बस लेता हूं लेकिन जब से एसी बस स्टैंड का निर्माण हुआ है तब से ही यह एसी बस स्टैंड बंद पड़ा है’। वहीं, तालतला से आयीं मीरा सिंह ने बताया कि हमें बाहर खड़े होकर ही बस की प्रतिक्षा करनी पड़ती है। बस स्टैंड का उचित रखरखान नहीं होने की वजह से तेज धूप में भी लोग सुविधा का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। प्रशासन के अनदेखी की वजह से बस स्टैंड का फर्श टूट चुका है। केवल बेलियाघाटा ही नहीं महनगर के व्यस्ततम मार्गों में से एक ईएम बायपास इलाके में स्थित एक एसी बस स्टैंड भी अनदेखी की मार झेल रहा है। एक निजी अस्पताल के समीप स्थित इस बस स्टैंड पर यात्रियों की भीड़ तो बहुत होती है पर उन्हें सुविधाओं का लाभ नहीं मिल रहा। एक महिला यात्रा ने बताया कि बस स्टैंड पर यात्रियों के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। बस स्टैंड में लगी एसी समय टूटी अवस्था में पड़ी है। बस की प्रतीक्षा के लिए एसी में बैठने की सुविधा के उद्देश्य से शुरू हुई बस स्टैंड के बाहर यात्रियों को धूप में खड़ा होना पड़ता हैं। बस स्टैंड क्षतिग्रस्त हालत में है। जिससे यहां रौनक खत्म हो गई। इतना ही नहीं असामाजिक तत्व बस स्टैंड पर लगे सामानों की चोरी भी कर रहे हैं।

Visited 91 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Wednesday Mantra : हर संकट से बचाता है बुधवार का यह उपाय, दूर होता है गृह कलेश

कोलकाता : सनातन धर्म में बुधवार का दिन भगवान गणेश को समर्पित है और इस दिन विधि-विधान के साथ गणेश जी की अराधना की जाए आगे पढ़ें »

Sankashti Chaturthi 2024 Date: द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी कब है, जानें महत्‍व, पूजाविधि और …

कोलकाता : द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी फाल्‍गुन मास के कृष्‍ण पक्ष की चतुर्थी को कहते हैं। द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी 28 फरवरी को यानी आज है। इस आगे पढ़ें »

ऊपर