कर्नाटक चुनाव के नतीजे भाजपा के ‘अंत की शुरुआत’ : ममता

कर्नाटक चुनाव में बहुसंख्यकवादी राजनीति पराजित हुई
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को दावा किया कि कर्नाटक चुनाव के नतीजे भाजपा के अंत की शुरुआत हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव में ‘क्रूर अधिनायकवादी और बहुसंख्यकवादी’ राजनीति पराजित हुई है। उन्होंने राज्य के लोगों को बधाई देते हुए कहा कि परिवर्तन के पक्ष में निर्णायक जनादेश के लिए कर्नाटक के लोगों को मेरा सलाम। क्रूर अधिनायकवादी और बहुसंख्यकवादी राजनीति को पराजित किया गया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के चुनाव आ रहे हैं, और मुझे लगता है कि भाजपा दोनों चुनाव हार जाएगी लोकसभा चुनाव से पहले यह भाजपा के अंत की शुरुआत है। अब मुझे नहीं लगता कि वे (भाजपा) 100 को भी पार कर पाएंगे। ममता बनर्जी ने शनिवार को कालीघाट में अपने घर के बाहर पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि ‘घृणित व्यवहार।’ कर्नाटक में लोगों ने बीजेपी को नकारा यह उनके अंत की शुरुआत है। 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले एक संकेत। उसके बाद मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ भी चुनाव हार जाएंगे। तृणमूल नेता ममता बनर्जी ने खुद ट्वीट कर कर्नाटक चुनाव के नतीजों पर लोगों को बधाई दी और दोपहर में अपने घर के सामने उन्होंने पत्रकारों को इस बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि भाजपा की कोई छवि नहीं है। बोड कितनी भी बड़ी बातें कर लें, मंच पर उठ जाएं, छवि नाम की कोई चीज नहीं होती। इसलिए यह परिणाम आया है। कुमारस्वामी ने वहां भी अच्छा काम किया लेकिन यह जीत जनता की है। चौबीस से पहले यह एक महत्वपूर्ण संकेत है। इससे पूर्व तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘‘जब लोग बहुलता और लोकतांत्रिक ताकतों को जिताना चाहते हैं, तो कोई भी उन्हें दबा नहीं सकता, यही कहानी की सीख है। कल के लिए सबक है।’’

Visited 67 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Weather Update: बंगाल में भीषण गर्मी के बीच आज 3 जिलों में बदलेगा मौसम, कहां-कहां होगी बारिश ?

कोलकाता: बंगाल में लोगों को लू और गर्म हवा का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग की मानें तो गर्मी की लहर अभी कम आगे पढ़ें »

JNU स्‍टूडेंट्स ने वीसी को बताया मुफ्तखोर, यह है कारण

नयी दिल्ली : जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) ने विश्वविद्यालय की कुलपति शांतिश्री धुलिपुड़ी पंडित के इस बयान के लिए उन पर निशाना साधा आगे पढ़ें »

ऊपर