बांग्लादेश के साथ भारत के गहरे संबंध, कोई इसे कमजोर नहीं कर सकता : शाह

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मंगलवार को पश्चिम बंगाल में लैंड पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया और सीमा सुरक्षा बल के विभिन्न विकास कार्यों का उद्घाटन और शिलान्यास किया। अमित शाह ने आईसीपी पेट्रापोल पर मैत्रीद्वार, सीमा सुरक्षा बल के नवनिर्मित सीमा चौकियों और अन्य भवनों का भी वर्चुअल उद्घाटन किया। इस दौरान गृह मंत्री ने कहा कि भारत – बांग्लादेश संबंध साझा संस्कृति, भाषा, कला और जीवन परंपराओं पर आधारित है। उन्होंने कहा कि भारत और बांग्लादेश के संबंध कोई तोड़ नहीं सकता। शाह ने कहा कि हजारों सालों से एक ही संस्कृति के आधार पर जीने वाले दो राष्ट्रों के बीच बांग्लादेश के जन्म से लेकर आज तक भारत ने हमेशा बांग्लादेश के इतिहास में मैत्रीपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया है। उन्होंने कहा कि बांग्लादेश की आजादी की लड़ाई में सीमा सुरक्षा बल का स्वर्णिम योगदान रहा है और इसी कारण आज भी भारत और बांग्लादेश के बीच सौहार्द्रपूर्ण और ऊष्मापूर्ण रिश्ते रहे हैं, जिन्हें इस स्थान से नई गति और ऊर्जा मिलेगी।
अमित शाह ने कहा कि भारत की 15,000 किलोमीटर लंबी भूमि सीमा और सभी दक्षिणी एशियाई देशों के साथ हमारे सांस्कृतिक और व्यापारिक संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए लैंड पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया एक बहुत बड़ी संस्था है। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन पेट्रापोल पर 600-700 ट्रकों का यातायात और व्यापार होता है। यहां अक्सर भीड़भाड़ की समस्या रहती थी लेकिन अब यहां दूसरा कार्गो गेट बनने से इस समस्या का समाधान हो जाएगा। गृह मंत्री ने कहा कि वर्ष 2016 से 2022 के दौरान लैंड पोर्ट कार्गो और यात्री के आंकड़ों में काफी वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि 2016-17 में 18000 करोड़ रुपए का व्यापार बढ़कर आज 30000 करोड़ रुपए पार कर गया है, ये बताता है कि लैंड पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने कितना अच्छा काम किया है। शाह ने कहा कि 2022-23 में लैंड पोर्ट से लगभग 20 लाख यात्रियों की आवाजाही हुई है। इसके अलावा पेट्रापोल में 2021 में पैसेंजर टर्मिनल बिल्डिंग बनने के बाद से सालाना 5 लाख यात्री, यानी रोजाना लगभग 11000 यात्रियों की आवागमन की सुविधा यहां हुई है। अमित शाह ने कहा कि यहां एक पुलिस स्टेशन भवन, हॉस्टल और बंगाल की सीमा पर 108 करोड़ की लागत से बीएसएफ के7 अलग-अलग थानों का उद्घाटन किया गया है। उन्होंने कहा कि 15000 किलोमीटर की भारत की भूमि सीमा 7 देशों को छूती है और दक्षिण एशिया के सभी देशों के साथ हमारे संबंध और व्यापारिक रिश्ते मजबूत हों, इसके लिए मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के बाद नई नीति बनाई गई। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार सीमावर्ती क्षेत्रों में मजबूत इन्फ्रास्ट्रक्चर पर काम कर रही है, सीमावर्ती गांवों में देश के हर गांव जैसी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ देने के प्रयास कर रही है और इन गांवों में कनेक्टिविटी सुधारने पर भी हम काम कर रहे हैं। शाह ने कहा कि लैंड पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने कई इनिशिएटिव लेकर अपनी स्थापना के सभी उद्देश्यों को प्राप्त करने की दिशा में काफी काम किया है। केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि बीएसएफ के बिना भारत की भूमि सीमाओं की सुरक्षा की कल्पना ही नहीं की जा सकती है। जब बीएसएफ का जवान सीमा पर तैनात होता है, तब देश में किसी को भी देश की भूमि सीमाओं की सुरक्षा की कोई चिंता नहीं होती है।

Visited 72 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Weather Update: बंगाल में भीषण गर्मी के बीच आज 3 जिलों में बदलेगा मौसम, कहां-कहां होगी बारिश ?

कोलकाता: बंगाल में लोगों को लू और गर्म हवा का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग की मानें तो गर्मी की लहर अभी कम आगे पढ़ें »

Lok Sabha Election 2024: पीएम मोदी का कांग्रेस पर हमला, देश तोड़ने का लगाया आरोप

सक्ती: PM मोदी ने मंगलवार को छत्तीसगढ़ के सक्ती में एक चुनावी जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर उसके गोवा के लोकसभा आगे पढ़ें »

ऊपर