शिवपुर हिंसा के लिए अभिषेक ने शुभेंदु को कठघरे में खड़ा किया

शेयर करे

अमित शाह के साथ बैठक के दौरान रची गयी थी साजिश?
कहा- अपराधियों की कोई जाति व धर्म नहीं होता
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : रामनवमी की शोभायात्रा के दौरान हावड़ा के शिवपुर में हुई हिंसा को लेकर तृणमूल के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद अभ‌िषेक बनर्जी ने भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी को कठघरे में खड़ा किया है। उन्होंने शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन कर कहा कि एक क्रोनोलॉजी के तहत पूरी घटना घटी है। तृणमूल महासचिव ने कहा कि 27 मार्च को भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। इसके बाद श्यामबाजार की सभा से भाजपा नेता ने कहा था कि अगले दिन टीवी पर नजर रखें। भाजपा नेता के इस वक्तव्य को हथियार बनाते हुए तृणमूल सांसद ने उन पर जमकर निशाना साधा। वे लोग अपने राजनीतिक स्वार्थ को चरितार्थ करने के लिए ऐसी ओछी हरकत कर रहे हैं। यह बहुत ही निंदनीय है। उन्होंने कहा कि अमित शाह से पहले भाजपा नेताओं ने बैठक की। इसके बाद ही कहा था कि टीवी पर नजर रखें। ठीक इसके बाद ही हावड़ा में अशांति की घटना घटी। ऐसे में क्या दिल्ली में बैठकर हिंसा की साजिश रची गयी। तृणमूल नेता ने कहा कि अपराधियों की कोई जाति व धर्म नहीं होता है। इस हिंसा की घटना में शामिल किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।
पुलिस की बिना अनुमति के निकाली गयी थी रैली
तृणमूल के राष्ट्रीय महासचिव ने ‌हिंसा भड़काने के पीछे भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि शिवपुर में पुलिस की अनुमति के बगैर ही शोभायात्रा निकाली गयी थी। उन्होंने अपने वक्तव्य के दौरान दो चिट्ठ‌ियां दिखायीं जिसे विश्व हिंदू परिषद और अंजन‌ि पुत्र सेना की तरफ से अनुमत‌ि के लिए हावड़ा पुलिस को लिखा गया था। दोनों पत्रों के जवाब में पुलिस की तरफ से कुछ तथ्य मांगे गए थे जिसे उनकी तरफ से नहीं दिया गया था। ऐसे में पुलिस ने उन्हें अनुमति नहीं दी थी। तृणमूल महासचिव ने कहा कि जबरन भाजपा की ओर से रामनवमी पर डीजे बजाकर शोभायात्रा निकाली गयी। छोटे-छोटे फल व्यवसायियों के वाहन में आग लगा दी गयी।
शोभायात्रा के दौरान लहराया था बंदूक
भाजपा द्वारा हावड़ा में निकाली गयी शोभायात्रा को लेकर तृणमूल महासचिव ने कई सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि डीजे बजाकर, कमर में बंदूक के साथ कौन रामनवमी का पालन करता है? ऐसी संस्कृति बंगाल में आज तक मैंने नहीं देखी है। वर्ष 2019 में बंगाल में भाजपा के 18 सांसद जीतने के बाद से इस तरह की गुंडागिरी चालू हुई है। स्थानीय प्रशासन ऐसे आपराधियों को नहीं छोड़ेगा। एक-एक को चिह्नित कर उनके ऊपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अभिषेक बनर्जी ने कहा कि पुलिस की भूमिका में थोड़ी शिथिलता थी लेकिन पुलिस की तत्परता के कारण किसी के जान प्राण का नुकसान नहीं हुआ। संपत्ति तो दोबारा बनायी जा सकती है लेकिन किसी का जीवन दोबारा नहीं लौटाया जा सकता है। इसलिए पुलिस की भूमिक सक्रिय थी लेकिन इसके बावजूद अगर किसी को दोषी पाया जाता है तो सीएम ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

Visited 110 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

नई दिल्ली: हर साल 21 जून को इंटरनेशनल योग दिवस मनाते हैं। हमारे ऋषियों-मुनियों द्वारा योग को विकसित किया गया
कोलकाता : मेट्रो रेलवे द्वारा चलाये जा रहे स्पेशल नाइट मेट्रो के समय को 20 मिनट कम कर दिया गया
कोलकाता: पश्चिम बंगाल के न्यू जलपाईगुड़ी के पास 17 जून को हुए ट्रेन हादसे ने देशवासियों को झकझोर कर रख
कोलकाता : अगले दो से तीन घंटों में कोलकाता में हल्की बारिश होने वाली है। शहर के अधिक हिस्सों में
पटना: नीट पेपर लीक मामला पूरे देशभर में छाया हुआ है। बिहार के डिप्टी सीएम विजय सिन्हा ने बड़ा दावा
कोलकाता : मानसून दस्तक देने वाला है। इससे पहले इसे लेकर तैयारियों को पूरा करने का निर्देश शहरी विकास तथा
कोलकाता: मौसम विभाग के पूर्वानुमान पर लोगों का भरोसा खत्म हो गया है। पिछले कुछ दिनों से बारिश का पूर्वानुमान
पटना: नीतीश सरकार को पटना हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है। बिहार में आरक्षण का दायरा बढ़ाए जाने के नीतीश
नोएडा: देश के उत्तरी हिस्सों में भीषण गर्मी पड़ रही है। नोएडा में अलग-अलग जगहों पर बीते मंगलवार को 14
कोलकाता: बंगाल में लोकसभा चुनाव के नतीजे वाले दिन डेबरा में पुलिस कस्टडी में BJP कार्यकर्ता की मौत हुई थी।
कोलकाता: दक्षिण बंगाल के अधिकांश हिस्सों में आज सुबह से ही आसमान में बादल मंडरा रहा है। धूप नहीं होने
नई दिल्ली: NEET परीक्षा को लेकर दायर कई याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान काउंसलिंग रोकने और तत्काल
ऊपर